लाइव टीवी

गार्गी कॉलेज छेड़खानी मामला: कॉलेज प्रशासन ने जांच के लिए गठित की उच्च स्तरीय समिति

News18Hindi
Updated: February 10, 2020, 7:10 PM IST
गार्गी कॉलेज छेड़खानी मामला: कॉलेज प्रशासन ने जांच के लिए गठित की उच्च स्तरीय समिति
दिल्ली यूनिवर्सिटी के गार्गी कॉलेज में हुई छेड़खानी के मामले में पुलिस ने शिकायत दर्ज की है.

डॉ. प्रोमिला कुमार (Dr. Promila Kumar) ने कहा कि यह समिति, समय-समय पर, शिकायतकर्ताओं की इच्छा के अनुसार पुलिस को प्रस्तुत करने के लिए शिकायतों की एक रिपोर्ट तैयार करेगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 10, 2020, 7:10 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. छात्राओं से छेड़छाड़ के मामले में गार्गी कॉलेज (Gargi College) की प्रिंसिपल डॉ. प्रोमिला कुमार (Dr. Promila Kumar) ने बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा है कि कॉलेज में बाहरी लोगों द्वारा छात्राओं से कथित छेड़खानी (Molestation) मामले की जांच के लिए एक उच्च-स्तरीय तथ्य-खोज समिति का गठन किया गया है. उन्होंने बताया कि यह समिति शिकायतकर्ताओं, चश्मदीदों और प्रासंगिक जानकारी के आधार पर गठित की गई है. डॉ. प्रोमिला कुमार ने कहा कि यह समिति, समय-समय पर, शिकायतकर्ताओं की इच्छा के अनुसार पुलिस को प्रस्तुत करने के लिए शिकायतों की एक रिपोर्ट तैयार करेगी. छात्रों के पास गोपनीय जांच के लिए गार्गी कॉलेज के आईसीसी से संपर्क करने का विकल्प भी है.

बता दें कि दिल्ली यूनिवर्सिटी के गार्गी कॉलेज में हुई छेड़खानी के मामले में पुलिस ने शिकायत दर्ज की है. एएनआई की खबर के अनुसार, इस मामले में आईपीसी की धारा 452, 354, 509 और 34 के अंतर्गत मामला दर्ज किया जा रहा है. यह एफआईआर हौज खास थाने में दर्ज कराई गई है. गार्गी कॉलेज की छात्राएं प्रदर्शन कर रही हैं. वहीं, दिल्‍ली महिला आयोग की एक टीम आज कैंपस पहुंची और पूरे घटना की जानकारी ली. वहीं, कांग्रेस ने भी इस मुद्दे को लोकसभा में उठाया है.



ये है मामलागार्गी कॉलेज में छात्राओं के साथ हुई छेड़खानी की घटना का आंखों देखा हाल एक छात्रा ने बताया. उसने बताया कि चार फरवरी को कॉलेज में फेस्ट था और 6 फरवरी को स्टार नाइट थी. गुरुवार को स्टार नाइट के दिन 100 से ज्यादा पुरुषों ने कॉलेज का गेट तोड़ दिया और अंदर घुस आए. बाद में लड़कियों के साथ मिसबिहेव करना शुरू कर दिया.

एक छात्रा ने घटना का जिक्र करते हुए कहा, 'मैं वहां थी, लेकिन मेरे साथ ऐसा कुछ नहीं हुआ. मेरी फ्रेंड्स ने बताया कि उनकी कमर में भी हाथ लगाया गया. इतना सब होने पर भी कॉलेज स्टाफ और पुलिस सपोर्ट नहीं कर रही थी. उन्होंने हमसे ये कहा कि आपको इतना ही अनसेफ फील होता है तो कॉलेज ही क्यों आते हो, फेस्ट में क्यों आते हो.'


ये भी पढ़ें- 



 

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 10, 2020, 6:18 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर