होम /न्यूज /दिल्ली-एनसीआर /कूड़ा घर को बनाया पढ़ने की जगह, दिल्ली के पहले जन लाइब्रेरी का उदघाटन करेंगे अमित शाह

कूड़ा घर को बनाया पढ़ने की जगह, दिल्ली के पहले जन लाइब्रेरी का उदघाटन करेंगे अमित शाह

दिल्ली में उदघाटन के लिए तैयार पहली जन लाइब्रेरी

दिल्ली में उदघाटन के लिए तैयार पहली जन लाइब्रेरी

Delhi Jan Library: दिल्ली के इस पहले जन लाइब्रेरी की खासियत यह है कि कूड़ा घर को बदलकर आधुनिक तरीके से इस लाइब्रेरी को ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

पूर्वी दिल्ली में पांच स्थानों पर शहीद भगत सिंह जन लाइब्रेरी खोली जाएगी.
गृहमंत्री अमित शाह 13 अक्टूबर को इसका उदघाटन करेंगे
बीजेपी संसद गौतम गंभीर ने पूर्वी दिल्ली के प्रिया एन्क्लेव के पास इसका निर्माण कराया है

नई दिल्ली. गृहमंत्री अमित शाह 13 अक्टूबर को दिल्ली के पहले जन लाइब्रेरी का उदघाटन करेंगे. बीजेपी सांसद गौतम गंभीर के द्वारा बनाई ढलाव घर में जन लाइब्रेरी का अमित शाह को उदघाटन करना है. इस लाइब्रेरी का नाम शहीद भगत सिंह के नाम पर रखा गया है. दिल्ली का ये लाइब्रेरी अपने आप में अनूठा है. बीजेपी संसद गौतम गंभीर ने पूर्वी दिल्ली के प्रिया एन्क्लेव के एक ढलाव घर यानी कचड़ा फेंकने वाली जगह को लाइब्रेरी में तब्दील किया है.

क्या है ख़ास

इस लाइब्रेरी की खास बात ये है कि इसे कूड़ा घर से लाइब्रेरी में बदला गया है. दिल्ली नगर निगम के बंद पड़े घर में जन रसोई के माध्यम से लोगों को ₹1 प्रति प्लेट खाना मुहैया कराने के साथ अब गौतम गंभीर ने बंद हो चुके कूड़े घर को अत्याधुनिक पुस्तकालय में तब्दील किया है. कूड़ा घर को बदलकर आधुनिक तरीके से इस लाइब्रेरी को बनाया है. इसमें अत्याधुनिक फर्नीचर की व्यवस्था की गई है. इसके अलावा पंखा, एसी और स्मार्ट बोर्ड भी लगाया गया है. लाइब्रेरी में वाई-फाई की व्यवस्था की गई है. इसके साथ ही ऑफलाइन की पढ़ाई के लिए सभी जरूरी किताबें यहां उपलब्ध हैं.

बुजुर्गों और महिलाओं को ध्यान में रखते हुए वयस्कों, बच्चों, महिलाओं और वृद्ध के लिए अलग अलग अनुभाग हैं. उनकी पसंद और जरूरत की किताबें उपलब्ध कराई गई है. दृष्टिबाधित लोगों के लिए ब्रेल पुस्तकों के संग्रह के लिए भी एक विशेष प्रावधान है. बीजेपी सांसद गौतम गंभीर के मुताबिक पूर्वी दिल्ली में पांच स्थानों पर शहीद भगत सिंह जन लाइब्रेरी खोली जाएगी. जन रसोई की तर्ज पर यह लाइब्रेरी खोली जाएगी, जिसमें रोजाना के समाचार पत्रों के अलावा स्वतंत्रता संग्राम में शामिल रहे देशभक्तों की जीवनियां व हिंदुस्तान के राजाओं से जुड़े संस्मरणों आदि पर आधारित किताब भी रखी जाएगी, ताकि युवाओं को देश और वीरों के इतिहास के बारे में सही जानकारी मिल सके।

Tags: Amit shah, Bihar News, Library

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें