Home /News /delhi-ncr /

Ghaziabad News- देश में पहली बार हनी प्रोसेसिंग वैन गाजियाबाद से होगी शुरू, जानें खासियत

Ghaziabad News- देश में पहली बार हनी प्रोसेसिंग वैन गाजियाबाद से होगी शुरू, जानें खासियत

किसानों का शहर आने जाने में समय और खर्च दोनों बचेंगे Image/shutterstock

किसानों का शहर आने जाने में समय और खर्च दोनों बचेंगे Image/shutterstock

mobile honey processing van in Ghaziabad: खादी और ग्रामोद्योग आयोग के चेयरमैन विनय कुमार सक्सेना के अनुसार यह वैन देश में पहली बार गाजियाबाद जिले से लांच की जा रही है, जो खेतों में लगे मधुमक्खी पालन के प्लांट तक पहुंचेगी. पहले मधुमक्खी पालन में लगे लोगों को शहद बेचने के लिए शहर तक आना होता था. अब उनका कम खर्च में घर बैठे काम होगा. खादी उद्योग का उद्देश्य ग्रामीण किसानों को इसका लाभ पहुंचाना है.

अधिक पढ़ें ...

    गाजियाबाद. मधुमक्‍खी पालने वाले किसानों (Bee farmers) को शहद (honey) बेचने के लिए शहर नहीं जाना होगा. किसानों के घर पर ही प्रोसेसिंग की सुविधा उपलब्‍ध होगी. यानी वहीं से शहद खरीद लिया जाएगा. इससे किसानों का शहर आने जाने में समय और खर्च दोनों बचेंगे. देश में पहली बार पहली मोबाइल शहद प्रसंस्करण वैन (mobile honey processing van) (हनी प्रोसेसिंग वैन) शुरू होने जा रही है. इसका उद्घाटन खादी और ग्रामोद्योग आयोग, सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्रालय के चैयरमैन शुक्रवार को गाजियाबाद से करेंगे. लोनी ब्लाक के गांव सिरोरा सलेमपुर में प्रोसेसिंग प्लांट में मोबाइल हनी प्रोसेसिंग यूनिट के माध्यम से मौके पर शहद निकालने के कार्य का शुभारंभ होगा. इसका उद्देश्य किसानों को उनके घर पर प्रोसेसिंग की सुविधा देना है.

    खादी और ग्रामोद्योग आयोग के चेयरमैन विनय कुमार सक्सेना के अनुसार यह वैन देश में पहली बार गाजियाबाद जिले से लांच की जा रही है, जो खेतों में लगे मधुमक्खी पालन के प्लांट तक पहुंचेगी. पहले मधुमक्खी पालन में लगे लोगों को शहद बेचने के लिए शहर तक आना होता था. अब उनका कम खर्च में घर बैठे काम होगा. खादी उद्योग का उद्देश्य ग्रामीण किसानों को इसका लाभ पहुंचाना है.

    खादी एवं ग्रामोद्योग आयोग हनी मिशन कार्यक्रम के तहत उच्च गुणवत्ता वाले शहद के उत्पादन और किसानों की आय बढ़ाने के लिए हनी प्रोसेसिग वैन शुरू की जा रही है. पालकों को उन्हीं के क्षेत्र में मामूली शुल्क चुकाने के बाद शहद निकालने की सुविधा मिलेगी. वैन बुलाने के लिए एक नंबर जारी किया जाएगा. फोन करने पर वैन उन किसानों तक पहुंचेगी. अभी एक वैन शुरू की जा रही है,, रिस्‍पांश को देखकर इसकी संख्‍या और बढ़ाई जाएगी. मोबाइल हनी प्रोसेसिंग वैन यहां के बाद राजस्थान में भी आरंभ किए जाने की योजना है

    विशेषताएं

    – मोबाइल हनी प्रोसेसिग वैन में आठ घंटे में 300 किग्रा शहद प्रोसेस की क्षमता होगी.

    – वैन में शहद क्‍वालिटी जांच लैब भी स्थापित है

    – मोबाइल वैन में लैब टेक्नीशियन व तकनीकी सहायक भी मौजूद रहेंगे

    – यूपी के अलावा दिल्ली, हरियाणा, पंजाब में किसानों को मिलेगा लाभ

    Tags: Ghaziabad News

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर