पत्‍नी से अवैध संबंध के शक में पति ने की नौकर की हत्‍या, फिर फ्लाईओवर से नीचे फेंका शव
Delhi-Ncr News in Hindi

पत्‍नी से अवैध संबंध के शक में पति ने की नौकर की हत्‍या, फिर फ्लाईओवर से नीचे फेंका शव
आरोपियों की तलाश में जारी है दिल्‍ली पुलिस की छापेमारी. (फाइल फोटो)

हत्‍या (Murder) की इस वारदात को रोड एक्‍सीडेंट (Road Accident) दिखाने के लिए लिए आरोपियों ने नौकर (Servant) के शव को फ्लाईओवर (Flyover) से नीचे फेंक दिया था.

  • Share this:

नई दिल्‍ली. पति को शक था कि उसकी पत्‍नी के अवैध संबंध (illicit relations) घर के नौकर के साथ हैं. इसी शक के चलते, उसने अपने भाई मिलकर अपने नौकर की बेहरमी से पिटाई की. यह पिटाई तब तक चली, जब तक नौकर (Sarvent) की जान नहीं निकल गई. हत्‍या की वारदात को अंजाम देने के बाद दोनों भाईयों ने नौकर के शव को फ्लाईओवर से नीचे फेंक दिया और मौके से फरार हो गए. शव को फ्लाईओवर से नीचे फेंकने के पीछे आरोपियों की मंशा थी कि दिल्‍ली पुलिस (Delhi Police) इस मामले को रोड़ एक्‍सीडेंट (Road Accident) का मामला मान लेगी और उनपर किसी को किसी तरह का शक नहीं होगा. हालांकि, पुलिस ने इस मामले की सभी कडि़यों को जोड़कर एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि दूसरे की तलाश में लगातार छापेमारी की जा रही है.


उत्‍तर पश्चिम जिला पुलिस के अनुसार, 23 जून को हैदरपुर वाटर ट्रीटमेंट प्‍लांट के करीब स्थिति फ्लाईओवर के नीचे से एक युवक का शव बरामद किया गया था. तलाशी के दौरान, पुलिस को उसके कपड़ों से ऐसा कुछ नहीं मिला, जिससे उसकी पहचान की जा सके. पुलिस शव को मार्चरी में सुरक्षित रखवा कर उसकी पहचान की कवायद शुरू की. इसी कवायद के दौरान, पुलिस को मृतक के कपड़ों से एक ऐसा सुराग मिला, जो उत्‍तर प्रदेश के फर्रुखाबाद की तरफ इशारा करता था. इसी सुराग के सहारे पुलिस की टीम फर्रुखाबाद पहुंची और गांव-गांव जाकर इस युवक की पहचान पता करने की कवायद में जुट गई. पुलिस की यह कवायद रंग लाई और मृतक के भाई तक पुलिस पहुंच गई. 28 जून को पुलिस मृतक के भाई को लेकर दिल्‍ली आ गई. जिसने मृतक की पहचान अपने भाई बृजकिशोर के रूप में की.


पोस्‍टमार्टम रिपोर्ट ने किये चौंकाने वाले खुलासे
पुलिस के अनुसार, मृतक की पहचान सुनिश्चित होने के बाद पुलिस ने शव को पोस्‍टमार्टम के लिए भेज दिया. 3 जुलाई को मतक की पोस्‍टमार्टम रिपोर्ट सामने आई. जिसमें यह खुलासा किया गया था कि गर्दन पर भारी दवाब पड़ने और आंतों से अधिक खून बह जाने की वजह से पीडि़त की मौत हुई है. पोस्‍टमार्टम रिपोर्ट में इस बात का भी जिक्र किया गया था कि मृतक की आंतों और पेट में कई गहरी चोटें थीं. इसके अलावा, उसकी रीड़ की हड्डी भी कई जगह से टूटी हुई थी. पोस्‍टमार्टम करने वाले डॉक्‍टर्स का यह भी मानना था कि किसी ने नंगे पैर से मृतक की गर्दन को दबाया है. अब, पोस्‍टमार्टम रिपोर्ट से यह साफ हो चुका था कि यह मामला रोड एक्‍सीडेंट का नहीं, बल्कि हत्‍या का है. पुलिस ने 3 जुलाई को बृजकिशोर की हत्‍या का मामला दर्ज कर अपनी तफ्तीश शुरू कर दी.


इस तरह, पुलिस को मिला हत्‍यारों का सुराग
पुलिस के अनुसार, अब तक की जांच में यह पता नहीं चल सकता था कि मृतक कहां रहता था और क्‍या काम करता था. पुलिस ने मृतक बृजमोहन के बारे में जानकारी एकत्रित करने के लिए स्‍थानीय मुखबिरों को सक्रिय कर दिया. इसी बीच, पुलिस को सूचना मिली कि मृतक बृजमोहन मौर्या इंक्‍लेव इलाके स्थिति एक शराब की दुकान में काम करता था. शराब की दुकान पर पहुंची पुलिस को पता चला कि लॉकडाउन के बाद उसने काम छोड़ दिया था. इसी दौरान, पुलिस को यह भी पता चला कि मृतक बृजमोहन ने शराब की दुकान का काम छोड़ने के बाद इलाके में रहने वाले आकाश नामक शख्‍स के घर में काम करना शुरू कर दिया था. इसी जानकारी के आधार पर पुलिस आकाश के घर पहुंच गई. पूछताछ के दौरान, आकाश के बदलते बयान और चेहरे के रंग को देख पुलिस को शक हो गया.


फरार आरोपी की तलाश में जारी है छापेमारी


शक के आधार पर पुलिस ने आकाश को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू की. पुलिस की गहन पूछताछ के सामने आकाश टूट गया और उसने अपना गुनाह कबूल कर लिया. उसने पुलिस को बताया कि उसे शक था कि उसके नौकर बृजकिशोर के अवैध संबंध उसकी पत्‍नी के साथ थे. इसी शक के चलते, उसने अपने भाई सोनू के साथ मिलकर बृजकिशोर की हत्‍या कर दी. वारदात को एक्‍सीडेंट का रूप देने के लिए दोनों ने शव को फ्लाईओवर से फेंक दिया था. पुलिस ने आरोपी आकाश को गिरफ्तार कर लिया है और उसके भाई सोनू की तलाश में लगातार छापेमारी कर रही है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading