लाइव टीवी

ICMR ने कोरोना वायरस पर लगाम लगाने के लिए जांच रणनीति में किया संशोधन
Delhi-Ncr News in Hindi

भाषा
Updated: March 21, 2020, 1:21 PM IST
ICMR ने कोरोना वायरस पर लगाम लगाने के लिए जांच रणनीति में किया संशोधन
भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद ने कोरोना वायरस से निपटने के लिए अपनी रणनीति में बदलाव किया है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (Indian Council of Medical Research) की नई रणनीति का उद्देश्य कोरोना वायरस (coronavirus) के संक्रमण को फैलने पर और अधिक प्रभावी तरीके से लगाम लगाना तथा सभी मरीजों को बेहतर इलाज मुहैया कराना है.

  • Share this:
नई दिल्ली. भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (Indian Council of Medical Research) ने कोरोना वायरस (coronavirus) को फैलने से रोकने की अपनी रणनीति में शनिवार को संशोधन किया है. परिषद ने कहा कि श्वसन संबंधी गंभीर बीमारी, सांस लेने में दिक्कत और बुखार तथा खांसी की शिकायत के साथ अस्पताल में भर्ती सभी मरीजों की कोविड-19 संक्रमण के लिए जांच की जाएगी.

संपर्क में आए लोगों की 14वें और पांचवें दिन की जाए जांच
आईसीएमआर के नए दिशा-निर्देशों में यह भी कहा गया कि संक्रमित लोगों के संपर्क में आने वाले लोगों की संपर्क में आने के पांचवें और 14वें दिन के बीच में जांच की जानी चाहिए, चाहे उनमें बीमारी के लक्षण दिखाई दें या न दें.

रणनीति में किया सुधार



बायोमेडिकल अनुसंधान की सर्वोच्च संस्था ने इस सप्ताह देश में कोरोना वायरस के मामले बढ़ने के मद्देनजर अपनी रणनीति में सुधार किया है. नयी रणनीति का उद्देश्य संक्रमण को फैलने पर और अधिक प्रभावी तरीके से लगाम लगाना तथा सभी मरीजों को बेहतर इलाज मुहैया कराना है.

विदेश से आए बिना लक्षण वाले लोगों की भी की गई जांच
अभी तक पिछले 14 दिनों में अंतरराष्ट्रीय यात्रा करने वाले बिना लक्षण वाले लोगों और बाद में लक्षण दिखने वाले लोगों की कोराना वायरस के लिए जांच की गई. प्रयोगशाला से संक्रमण की पुष्टि वाले मामलों के संपर्क में आने वाले और लक्षण दिखने वाले लोगों, लक्षण दिखने वाले और लक्षण नहीं दिखने वाले सभी स्वास्थ्य देखभाल कार्यकर्ताओं की दिशा निर्देशों के अनुसार संक्रमण के लिए जांच की गई.

समय-समय पर परामर्श जारी कर रहा है आईसीएमआर
भारत में शनिवार को कोरोना वायरस के मामलों की संख्या बढ़कर 258 हो गई. जांच के लिए परामर्श की समीक्षा की जा रही है और समय-समय पर उसकी जानकारी दी जा रही है. डीएचआर सचिव और आईसीएमआर डीजी द्वारा गठित और नीति आयोग के सदस्य वीके पॉल की अध्यक्षता वाले राष्ट्रीय कार्य बल ने जांच रणनीति की समीक्षा की है.

ये भी पढ़ें - 

PM मोदी की बात न मान BJP सांसद ने सैकड़ों लोगों संग मनाया 'बलिदान दिवस'

कोरोना इफेक्ट: गोरखनाथ और पाटेश्वरी मंदिर श्रद्धालुओं के लिए 31 मार्च तक बंद

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 21, 2020, 1:21 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर