Corona के खिलाफ केजरीवाल सरकार की लड़ाई तेज, दिल्‍ली के दो बड़े अस्पतालों में बढ़ाई ICU बेड की संख्या
Delhi-Ncr News in Hindi

Corona के खिलाफ केजरीवाल सरकार की लड़ाई तेज, दिल्‍ली के दो बड़े अस्पतालों में बढ़ाई ICU बेड की संख्या
दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल और डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया राजीव गांधी सुपरस्पेशिलिटी अस्पताल का दौरा किया.

दिल्ली सरकार (Delhi Government) ने अपने सबसे बड़े कोविड-19 (COVID-19) अस्पताल एलएनजेपी (LNJP) और राजीव गांधी सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल (Rajiv Gandhi Super Speciality Hospital) में आईसीयू बेड (ICU Beds) की संख्या बढ़ा दी है.

  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली सरकार (Delhi Government)  ने अपने सबसे बड़े कोविड-19 (COVID-19) अस्पताल एलएनजेपी (LNJP) और राजीव गांधी सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल (Rajiv Gandhi Super Speciality Hospital) में आईसीयू बेड (ICU Beds) की संख्या बढ़ा दी है. दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी है. केजरीवाल ने कहा, ‘कुछ दिन पहले तक एलएनजेपी में 60 और राजीव गांधी में 45 आईसीयू के बेड थे. हमने उनमें क्रमशः 180 और 200 आईसीयू बेड बढ़ा दिए हैं. कोविड अस्पताल में बेड की पर्याप्त व्यवस्था करने के बाद सरकार अब आईसीयू बेड बढ़ाने के सभी प्रयास कर रही है.’ केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में आने वाले दिनों में आईसीयू बेड की कमी पड़ सकती है. इसलिए सरकार काफी संख्या में बेड का इंतजाम करने जा रही है.

ICU Beds की संख्या में हुई बढ़ोतरी
सोमवार को अरविंद केजरीवाल और मनीष सिसोदिया ने राजीव गांधी सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल का दौरा किया. इस मौके पर सीएम केजरीवाल ने कहा कि राजीव गांधी सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल से अब तक 1000 मरीज ठीक होकर अपने घर जा चुके हैं. अब राजीव गांधी अस्पताल में मरीज परिजनों से टैबलेट पर वीडियो कांफ्रेंसिंग पर बात कर सकेंगे. नर्सिंग स्टेशन पर बेल लगाया गया है, ताकि मरीज वीडियो कांफ्रेंसिंग पर बात कर नर्स से मदद ले सकेंगे.

इस दौरान केजरीवाल ने कोरोना योद्धा डॉक्टरों और नर्सों को प्रमाण पत्र देकर सम्मानित भी किया.
इस दौरान केजरीवाल ने कोरोना योद्धा डॉक्टरों और नर्सों को प्रमाण पत्र देकर सम्मानित भी किया.

इस दौरान केजरीवाल ने कोरोना योद्धा डॉक्टरों और नर्सों को प्रमाण पत्र देकर सम्मानित भी किया. केजरीवाल ने कहा कि अस्पताल के डॉक्टरों ने बड़ी बहादुरी और सेवाभाव के साथ मरीजों की सेवा की. दिल्ली में कोरोना की लड़ाई में राजीव गांधी सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल बहुत अहम भूमिका निभा रहा है. दिल्ली में सबसे पहले एलएनजेपी अस्पताल को कोविड अस्पताल घोषित किया गया था. उसके बाद राजीव गांधी सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल को कोविड अस्पताल घोषित किया गया. तब से यहां के डॉक्टर्स, नर्सें और पैरामेडिकल स्टाफ, सभी लोग मिल कर रात-दिन सेवा कर रहे हैं. कभी किसी तरह का किसी ने भी कोई हिचक नहीं दिखाई.'



10 हजार बेड्स खाली हैं
केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में अभी करीब 10 हजार बेड खाली हैं. कुछ दिन पहले तक यहां केवल 45 आईसीयू बेड थे. अब हम दिल्ली के अंदर कोरोना को इस तरह व्यवस्थित कर रहे हैं कि किसी को हल्का लक्षण है या एसिम्टोमैटिक है, तो वह अपने घर में इलाज कर सकता है. हम उनके घर ऑक्सी मीटर पहुंचा देते हैं. उनसे प्रतिदिन बात करते हैं. इससे लोग संतुष्ट हैं और यदि आपकी हालत गंभीर होती है, तो अस्पताल ले जाते हैं. आने वाले समय में आईसीयू बेड की सबसे अधिक जरूरत पड़ेगी.



ये भी पढ़ें: Corona Vaccine पर ICMR ने दी सफाई तो Experts भी बोले 2021 से पहले संभव नहीं!



केजरीवाल ने कहा कि अब दिल्ली में बेड की कमी नहीं है. दिल्ली में करीब 15,500 बेड हो गए हैं. अस्पतालों में अभी केवल करीब 5100 मरीज ही भर्ती हैं. इस तरह 10 हजार के करीब बेड खाली हैं, लेकिन आने वाले दिनों के अंदर आईसीयू बेड की जरूरत पड़ सकती है. दिल्ली में अभी करीब 1900 आईसीयू बेड हैं, जिसमें से अभी करीब 750 बेड खाली हैं. इसके बाद भी हम आईसीयू बेड को थोड़ा और बढ़ाने पर विचार कर रहे हैं, ताकि यदि केस में वृद्वि होती है, तो हमें आईसीयू बेड की कमी नहीं होनी चाहिए. क्योंकि यदि आईसीयू बेड की कमी हो गई, तो लोगों की मौत हो सकती है.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading