लाइव टीवी

'मस्जिदों को हटाने' पर बोले परवेश वर्मा- अगर किसी सरकारी जमीन पर मंदिर बना होगा तो उसे भी हटाएंगे
Delhi-Ncr News in Hindi

Rachna Upadhyay | News18 Bihar
Updated: January 28, 2020, 9:29 PM IST
'मस्जिदों को हटाने' पर बोले परवेश वर्मा- अगर किसी सरकारी जमीन पर मंदिर बना होगा तो उसे भी हटाएंगे
बीजेपी सांसद परवेश वर्मा ने कहा है कि सरकारी जमीन लोगों के उपयोग के लिए है.

मंगलवार को दिल्ली के नजफगढ़ विधानसभा क्षेत्र में बीजेपी (BJP) सांसद परवेश वर्मा (Parvesh Verma) ने ट्रैक्टर चलाते हुए प्रचार किया. उन्होंने कहा कि दिल्ली की जनता मन बना चुकी है कि इस बार विकास के नाम पर वोट डाले जाएंगे.

  • Share this:
नई दिल्ली. सरकारी जमीनों पर बनी मस्जिदों को हटाने के बयान पर बीजेपी (BJP) सांसद परवेश वर्मा (Parvesh Verma) ने कहा कि क्योंकि वो सरकारी जमीन पर बनी हुई हैं, इसलिए उन्हें हटाएंगे. सांसद परवेश वर्मा ने कहा कि सरकारी जमीन पर कोई अपनी धार्मिक इमारत बना ले, तो क्यों न हटाई जाए. वह सरकारी जमीन बच्चों के स्कूल के लिए है, तो ऐसे में वह क्यों नहीं हटनी चाहिए. उन्होंने कहा कि अगर किसी सरकारी जमीन पर मंदिर भी बना होगा या कुछ और भी बना होगा तो उसे भी हटाया जाएगा क्योंकि सरकारी जमीन लोगों के उपयोग के लिए है और जो शिकायत आई हैं, वो सिर्फ मस्जिदों को लेकर ही हैं.

इस बार विकास के नाम पर डाले जाएंगे वोट
दिल्ली में चुनाव प्रचार जोरों पर है और मंगलवार को दिल्ली के नजफगढ़ क्षेत्र में बीजेपी सांसद परवेश वर्मा ने ट्रैक्टर चलाते हुए प्रचार किया. उन्होंने कहा कि दिल्ली की जनता मन बना चुकी है कि इस बार विकास के नाम पर वोट डाले जाएंगे क्योंकि जनता ने विकास देखा नहीं, विकास सिर्फ विज्ञापनों तक सीमित है. देश किसके हाथों में सुरक्षित है, यह दिल्ली के लोग समझ चुके हैं. यह चुनाव दिल्ली वालों और दिल्ली की सेहत के लिए बेहद जरूरी है.

शाहीन बाग को सांप्रदायिक रंग देने का काम कर रहे हैं केजरीवाल

शाहीन बाग प्रदर्शन पर दिए अपने बयान को लेकर परवेश वर्मा ने कहा, ‘यह भारत की राजधानी है, यहां पर कोई मुख्यमंत्री यह कहेगा कि मैं शाहीन बाग के साथ खड़ा हूं. जेएनयू के बच्चों के साथ खड़ा हूं. इससे बड़े दुर्भाग्य की बात कोई नहीं हो सकती. अरविंद केजरीवाल शाहीन बाग को सांप्रदायिक रंग देने का काम कर रहे हैं.’

... उसे हम सफल नहीं होने देंगे
परवेश वर्मा ने आरोप लगाया कि शाहीन बाग जेहाद है. धीरे-धीरे जो आग कश्मीर में पहली बार लगी उसके बाद वही आग दिल्ली में लगाने की कोशिश हो रही है तो क्या मेरा कर्तव्य नहीं है कि मैं लोगों को जगाऊं. आने वाला भविष्य मैं देख सकता हूं. दिल्ली में जो आग लगाई जा रही है उसे हम सफल नहीं होने देंगे. दिल्ली विधानसभा का चुनाव विकास पर होना चाहिए, काम पर होना चाहिए, बिजली पानी का लॉलीपॉप दिल्ली वालों को देना विकास नहीं होता.केजरीवाल तो दूसरों पर आरोप लगाते हैं फिर माफी मांग लेते हैं
वर्मा ने आगे कहा कि, दिल्ली में विकास हुआ है तो वह यह बताएं कि कितने स्कूल, कॉलेज, हॉस्पिटल और विश्वविद्यालय बनाए हैं. अरविंद केजरीवाल ने तो 5 साल पहले भी गारंटी कार्ड दिया था. फिर गारंटी कार्ड लेकर आए हैं. अरविंद केजरीवाल तो पहले दूसरों पर आरोप लगाते हैं, फिर माफी मांग लेते हैं, उनका तो काम ही यही है. दिल्ली विधानसभा चुनाव में ध्रुवीकरण करने का काम अरविंद केजरीवाल कर रहे हैं. उनकी तरफ से बयान आते हैं कि हम चाहे बाकी लोगों के साथ खड़े हो, न हो, जेएनयू के लोगों के साथ खड़े हैं.

ये भी पढे़ं - 

स्कूलों पर सिसोदिया बोले- जलेबी खा रहे होंगे गौतम गंभीर, नोटिस नहीं पढ़ पाए

स्कूलों का वीडियो ट्वीट कर बोले शाह, AAP की 'शिक्षा क्रांति' की पोल खुल गई

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 28, 2020, 3:16 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर