दिल्ली के लोगों की जान बचाने के लिए घुटने टेकेंगे, हाथ भी जोड़ेंगे: केजरीवाल

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली के लोगों की जान बचाने के लिए वह सब कुछ करेंगे.

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली के लोगों की जान बचाने के लिए वह सब कुछ करेंगे.

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि सभी राज्य सरकारें चुनकर आई हैं. उनके पास भी अपने विशेषज्ञ हैं, डॉक्टर्स हैं. सीनियर ऑफिसर्स हैं. उनके नेता चुने हुए हैं. सभी राज्यों में जिम्मेदार सरकारें हैं. अपने हिसाब से सारे लोगों को टीका लगवाया जाएगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 11, 2021, 11:38 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind kejariwal) ने कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) की उपलब्धता को लेकर आज तक से खास बातचीत में कहा कि हम सबको साथ लेकर चलेंगे. जहां किसी के सामने घुटने टेकने पड़ेंगे, अपने दिल्ली के लोगों की जान बचाने के लिए हम घुटने टेकेंगे, हाथ जोड़ने पड़ेंगे तो हाथ भी जोड़ेंगे. कहीं से भीख मांगकर वैक्सीन लानी पड़ेगी तो मैं दिल्ली के लोगों के लिए खुद जाकर भीख मांगकर वैक्सीन लेकर आऊंगा.

कोरोना वैक्सीन की उपलब्धता और राज्यों के साथ भेदभाव को लेकर केजरीवाल ने कहा कि केंद्र सरकार ने नियमों को काफी टाइट कर रखा है. इतना कंट्रोल क्यों कर रखा है. केवल वैक्सीन लिमिटेड प्रोडक्शन है, तो उस पर केंद्र सरकार कंट्रोल रखे. जिससे कि सारे प्रदेशों में बराबर बंटवारा हो सके. बाकी आप राज्यों के ऊपर छोड़ दीजिए.

सभी राज्य सरकारें जिम्मेदार हैं: केजरीवाल

वैक्सीनेशन को लेकर उन्होंने आगे कहा कि सारी राज्य सरकारें भी चुनकर आई हैं. उनके पास भी अपने विशेषज्ञ हैं, डॉक्टर्स हैं. उनके पास भी सीनियर ऑफिसर्स हैं. चुने हुए उनके नेता हैं. सभी राज्य सरकार एक जिम्मेदार सरकार है. इसलिए ये सरकारें अपने-अपने हिसाब से हेल्थ केयर सेंटर्स खोलेंगे. अपने हिसाब से सारे लोगों को टीका लगवाएंगे. बड़े स्तर पर करेंगे क्योंकि वे लोग तो जनता के नजदीक हैं. जनता सीधे गाली तो उनको देती है. जनता के प्रति जवाबदेही सीधे राज्य सरकारों की है. इसलिए प्रदेश सरकार को खुली छूट दी जानी चाहिए. तभी वैक्सीनेशन को सफल बनाया जा सकता है.
वैक्सीन को लेकर कोई राजनीति नहीं करुंगा: केजरीवाल

आजतक से बातचीत में अरविंद केजरीवाल ने वैक्सीन को लेकर हो रहे भेदभाव पर कहा कि मैं इस मुद्दे को लेकर राजनीति नहीं करना चाहूंगा. दिल्ली की पिछले एक साल की रणनीति रही है कि हम सबको साथ लेकर चलेंगे. हम केंद्र सरकार को भी साथ लेकर चलें, हम दिल्ली में बीजेपी शासित नगर निगम को भी साथ लेकर चलें. हमने सारे एनजीओ को, धार्मिक संगठनों को साथ किया. हम सबको साथ लेकर चलेंगे.

देश में कमी है और हमने छह करोड़ डोज दूसरे देशों में भेज दिये



'वैक्सीन नेशनलिज्म' क्या है इस सवाल के जवाब में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि सबसे पहले हम अपने देश के नागरिकों को वैक्सीन दें. हमने साढ़े छह करोड़ वैक्सीन 84 देशों को भेज दिए. जबकि हमारे देश के अंदर वैक्सीन की कमी हो रही है तो वो सही नहीं है. सबसे पहले हमें भारत के लोगों को हमें वैक्सीनेट करना है. भारत सरकार को सबसे पहले अपने लोगों की चिंता करनी है. फिर अगर वैक्सीन बचेंगे तो बाकी लोगों को भी बांटेंगे. बाकी दुनिया को भी बांटेंगे. पहले अपनी चिंता कर लें.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज