लाइव टीवी

रिचार्ज नहीं करवाया टैग तो दिल्ली घुसने के लिए कल रात 12 बजे बाद देना होगा 5 गुना टोल

News18Hindi
Updated: September 12, 2019, 3:47 PM IST
रिचार्ज नहीं करवाया टैग तो दिल्ली घुसने के लिए कल रात 12 बजे बाद देना होगा 5 गुना टोल
एमसीडी के अनुसार दिल्ली में हर दिन करीब 7 लाख कमर्शियल गाड़ियां आती हैं. (फाइल फोटो)

आरएफआईडी सिस्टम के तहत सिर्फ 700 कमर्शियल गाड़ियों ने रिचार्ज करवाया है टैग, राजधानी के बॉर्डरों पर 13 जगह होगी चैकिंग.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 12, 2019, 3:47 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. अब कमर्शियल वाहनों ने यदि टैग नहीं लिया या रिचार्ज नहीं करवाया है तो उन्हें दिल्ली में घुसना महंगा पड़ेगा. 13 सितंबर रात 12 बजे बाद दिल्ली में बिना टैग की गाड़ियों को पांच गुना टोल देना होगा. आरएफआईडी सिस्टम के तहत राजधानी के बॉर्डरों पर यह व्यवस्‍था लागू की जा रही है. हालांकि पहले एमसीडी ने यह तय किया था कि 13 सितंबर के बाद बिना टैग या रिचार्ज की गाड़ियों को दिल्ली में एंट्री नहीं मिलेगी. लेकिन बाद में इस नियम को वापस ले लिया गया. गौरतलब है कि राजधानी में घुसने के सभी 13 मुख्य रास्तों पर यह व्यवस्‍था लागू कर दी जाएगी.

700 गाड़ियों का ही हुआ है रिचार्ज
एमसीडी के अनुसार अभी तक महज 700 गाड़ियों ने ही टैग रिचार्ज करवाया है. जिससे अभी तक 17 लाख रुपये मिले हैं. हालांकि टैग लेने वाली गाड़ियों की संख्या ज्यादा है लेकिन लोग उन्हें रिचार्ज नहीं करवा रहे हैं. अब बिना रिचार्ज की गाड़ियों को पांच गुना टोल के साथ ही ईसीसी की राशि देनी होगी. यदि ड्राइवर के पास पैसे नहीं होते हैं तो गाड़ी का रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट को रख लिया जाएगा.

7 लाख गाड़ियां आती हैं हर दिन

एमसीडी के अनुसार दिल्ली में हर दिन करीब 7 लाख कमर्शियल गाड़ियां आती हैं. ऐसे में यदि गाड़ियों के प्रवेश को रोका गया तो बॉर्डरों पर जाम के हालात हो जाते और स्थितियां विकट हो जातीं. इसी को देखते हुए एमसीडी ने ऐसी गाड़ियों का टोल बढ़ाने का निर्णय लिया. साथ ही ऐसी गाड़ियों पर अब अलग से जुर्माने की व्यवस्‍था के बारे में भी विचार किया जा रहा है.



ये भी पढ़ेंः उन्नाव रेप केसः पीड़िता ने आधी गवाही व्हीलचेयर पर तो आधी स्ट्रेचर पर दी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 12, 2019, 2:16 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर