Delhi Latest News: अगर आप है कोरोना मरीज तो ऑक्‍सीजन से लेकर दवाई तक ऐसे आपकी मदद करेगा RSS

कोरोना मरीजों की सहायता के लिए दिल्ली में आएसएस सहयोगी संगठन सेवा भारती के जरिए जरूरतमंदों को हर संभव मदद मुहैया कराएगा.

कोरोना मरीजों की सहायता के लिए दिल्ली में आएसएस सहयोगी संगठन सेवा भारती के जरिए जरूरतमंदों को हर संभव मदद मुहैया कराएगा.

Delhi News: कोरोना पीड़ितों के लिये इस‌‌ बार की लहर में ऑक्सीजन की काफी किल्लत हो रही‌ है. इसको‌ देखते हुए आरएसएस के संगठन सेवा भारती संगठन ने पूरी दिल्ली में ऑक्सीजन सिलेंडर सप्लाई करने की योजना बनाई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 20, 2021, 8:40 AM IST
  • Share this:
कोरोना की दूसरी लहर में पीड़ितों की सहायता के लिए दिल्ली में आएसएस ने एक रोडमैप तैयार किया है. इस रोडमैप के माध्यम से संघ का सहयोगी संगठन सेवा भारती कोरोना पीड़ितों को हर संभव मदद मुहैया कराएगा. दिल्ली के चिंताजनक हालातों को देखते हुए एक बार फिर से संघ और उसके सहयोगी संगठन धरातल पर सेवा कार्य करने के लिये तैयार हो गए हैं.

संघ पुलिस प्रशासन और स्थानीय स्वयंसेवी संगठनों के साथ तालमेल करके ज़रूरतमंदों को आयुर्वेदिक काढ़ा, होमियोपैथी दवाई और आइसोलेशन सेंटर की व्यवस्था करेगा. इसके लिए सेवा भारती जल्दी ही एक हेल्पलाइन नम्बर जारी करेगी. इस हेल्पलाइन के माध्यम से कोई भी सेवा भारती से अपनी जरूरत ‌के हिसाब से सहायता मांग सकता है.

कोरोना पीड़ितों के लिये इस‌‌ बार की लहर में ऑक्सीजन की काफी किल्लत हो रही‌ है. इसको‌ देखते हुए सेवा भारती संगठन ने पूरी दिल्ली में ऑक्सीजन सिलेंडर सप्लाई करने की योजना बनाई है. इसके लिये सेवा भारती ने दिल्ली को 11 क्षेत्रों में बांटा है. इन क्षेत्रों में ज़रूरत के हिसाब से ऑक्सीजन सिलेंडर वितरित किये जाएंगे.

सेवा भारती के प्रदेश अध्यक्ष रमेश अग्रवाल के मुताबिक, इस रोडमेप के लिए पूरी दिल्ली को 11 क्षेत्रों में बांटा गया है. इस सेवा अभियान के तहत सेवा भारती ऐसे डॉक्टर्स का पैनल भी तैयार किया‌ है, जो कोरोना पीड़ितों को ऑनलाइन सेवा भी देंगे. ये सभी डॉक्टर्स संघ के NMO से‌ जुड़े हुए हैं. इसके अलावा संघ कार्यकर्ताओं को प्लाज़्मा डोनेट करने के निर्देश भी दिए गए हैं, जिससे ज़्यादा से ज़्यादा जान बचाई जा सकें. सभी सेंटर संबंधित हॉस्पिटल्स के मार्ग दर्शन में ही काम करेंगे और इनमें स्टॉफ की‌ कमी ना हो इसके लिये संघ के स्वयंसेवकों को प्रशिक्षित किया जा रहा है.
इसके साथ ही दिल्ली के श्‍मशान घाटों पर अंतिम संस्कार पूरे रीति-रिवाज से हों, चाहे मृतक के परिजन हों या‌ ना हों. इसके लिये पूरी तैयारी सेवा भारती के कार्यकर्ता द्वारा की गई है. पिछली बार की तरह इस बार भी दिहाड़ी मज़दूरों को हर संभव मदद पहुंचाने की योजना भी बनाई गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज