अन्य राज्यों से दिल्ली आ रहे हैं तो सोच समझ कर आएं, एंट्री के लिये केजरीवाल सरकार ने तय किए कड़े नियम...

दिल्ली सरकार ने उन सभी राज्यों से आने वाले लोगों की कोरोना संक्रमण जांच कराने के आदेश दिए हैं जहां मामले तेजी से आ रहे हैं.

दिल्ली सरकार ने उन सभी राज्यों से आने वाले लोगों की कोरोना संक्रमण जांच कराने के आदेश दिए हैं जहां मामले तेजी से आ रहे हैं.

COVID-19: दिल्ली सरकार की ओर से जारी किए गए आदेशों में जिन राज्यों में कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं, उन सभी राज्यों से आने वाले लोगों पर खास फोकस रखना होगा. आदेशों में इन सभी यात्रियों का आरटी पीसीआर (RT-PCR), रैपिड एंटीजन टेस्ट (Rapid Antizen Test) कराना अनिवार्य होगा. अगर कोई भी यात्री टेस्ट में पॉजिटिव पाया जाता है तो उसको 10 दिन के लिये क्वारंटाइन और आइसोलेट करना अनिवार्य होगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 25, 2021, 7:13 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश के कई राज्यों में तेजी से बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के मामलों को लेकर अब दिल्ली सरकार (Delhi Government) भी सख्त हो गई है. दिल्ली सरकार ने उन सभी राज्यों से आने वाले लोगों की कोरोना संक्रमण जांच कराने के आदेश दिए हैं जोकि एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन और इंटर स्टेट बस टर्मिनल पर या फिर अन्य प्राइवेट बसों के जरिये दिल्ली आते हैं.

सरकार ने इन सभी का वहां से बाहर निकलने से पहले कोरोना जांच (Covid Test) कराना अनिवार्य कर दिया है. इस संबंध में दिल्ली के मुख्य सचिव (Chief Secretary) और दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (Delhi Disaster Management Authority) के सीईओ विजय कुमार देव की ओर से आदेश जारी कर दिए गए हैं.

Youtube Video


मुख्य सचिव की ओर से जारी किए गए आदेशों में साफ और स्पष्ट किया गया है कि जिन राज्यों में कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं, उन सभी राज्यों से आने वाले लोगों पर खास फोकस रखना होगा. आदेशों में इन सभी यात्रियों का आरटी पीसीआर (RT-PCR), रैपिड एंटीजन टेस्ट (Rapid Antizen Test) कराना अनिवार्य होगा.
साथ ही इन सभी यात्रियों के रेंडमली सैंपल लेकर कोरोना जांच की जाए. कोरोना सैंपल लेने के बाद ही इन सभी यात्रियों को उपर्युक्त सभी जगहों से बाहर निकलने की अनुमति दी जाए. बशर्ते कि वह रिपोर्ट में नेगेटिव आए हों.

आदेशों की माने तो अगर कोई भी यात्री आरटी पीसीआर या रैपिड एंटीजन टेस्ट में पॉजिटिव पाया जाता है तो उसको क्वारंटाइन और आइसोलेट करना अनिवार्य होगा. इन सभी को उस जगह भी आइसोलेट या क्वारंटाइन किया जा सकता है जहां उनको ठहरना है या फिर उनको दिल्ली सरकार के कोविड केयर सेंटर (Covid Care Centre), कोविड हेल्थ सेंटर (Covid Health Centre) या फिर अस्पताल (Hospitals) में 10 दिन के लिए क्वारंटाइन (Quarantine) या आइसोलेट (Isolate) करना अनिवार्य होगा. यह सभी केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से जारी किए गए प्रोटोकॉल के तहत ही किया जाएगा.

साथ ही उन्होंने यह भी आदेश दिया है कि ऐसे सभी पैसेंजर्स का रिकॉर्ड मेंटेन किया जाए और सर्विलांस, ट्रैकिंग, ट्रेसिंग आदि भी की जाए जोकि स्टेट इंटीग्रेटेड डिजीज सर्विलांस प्रोग्राम (State IDSP) के द्वारा स्टैंडर्ड ऑफ प्रोसीजर प्रोटोकॉल के नियमों के तहत  सुनिश्चित किया जाए.



मुख्य सचिव की ओर से सभी जिला मजिस्ट्रेट (District Magistrate) और उनके समकक्ष सभी जिला पुलिस उपायुक्तों (DCPs) और अन्य सभी संबंधित अथॉरिटीज को सख्ती के साथ अनुपालन कराने के आदेश दिए हैं. वही सभी फील्ड फंग्शनरीज को इन सभी आदेशों को सख्ती के साथ अनुपालन कराने के लिए सभी डीएम और डीसीपी को निर्देश जारी कराने के लिए भी आदेश दिए गए हैं.

दिल्ली में कल आए थे 2021 के सबसे ज्यादा 1101 संक्रमित मामले

बताते चलें कि दिल्ली में मंगलवार को 2021 में सबसे ज्यादा पॉजिटिव मामले 1101 रिकॉर्ड किए गए थे. वही पॉजिटिव रेट भी 1.31% रिकॉर्ड किया गया था. दिल्ली में अब पॉजिटिव मरीजों की संख्या भी बढ़कर 4411 पहुंच चुकी है. वहीं, समग्र संक्रमण दर भी 4.65 फीसदी हो चुकी है. अब तक संक्रमण की वजह से दिल्ली में 10967 लोगों की मौत भी हो चुकी है.

अकेले इन राज्यों में आ रहे 81 फीसदी कोरोना के मामले

केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की माने तो महाराष्ट्र, पंजाब, गुजरात, छत्तीसगढ़, कर्नाटक और तमिलनाडु अकेले ऐसे राज्य हैं जिनमें हर रोज कोरोना के नए मामलों में बेतहाशा बढ़ोतरी हो रही है. हर दिन रिकॉर्ड किए जा रहे कोरोना संक्रमण के मामलों में 81% मामले अकेले इन राज्यों से ही रिकॉर्ड किए जा रहे हैं.

10 राज्यों में दैनिक स्तर पर बढ़ रहे मामले वाले राज्य में दिल्ली भी शामिल

वहीं स्वास्थ्य मंत्रालय (Health Ministry) ने देश के 10 राज्यों में कोरोना के दैनिक स्तर पर आने वाले नए मामलों में जो बढ़ोतरी रिकॉर्ड की है, उनमें महाराष्ट्र, गुजरात, पंजाब, मध्य प्रदेश, तमिलनाडु, छत्तीसगढ़, कर्नाटका, हरियाणा, राजस्थान के साथ दिल्ली भी शामिल है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज