लाइव टीवी

IIT दिल्ली ने दी सफाई- भर्ती के लिए JNU के शिक्षकों से कोई संपर्क नहीं किया
Delhi-Ncr News in Hindi

भाषा
Updated: January 18, 2020, 11:38 PM IST
IIT दिल्ली ने दी सफाई- भर्ती के लिए JNU के शिक्षकों से कोई संपर्क नहीं किया
IIT Delhi ने इस बात से इनकार किया है कि JNU के शिक्षकों को भर्ती करने के लिए उनसे संपर्क किया है. (फाइल फोटो)

आईआईटी दिल्ली (IIT Delhi) के निदेशक वी रामगोपाल राव ने फेसबुक पोस्ट में लिखा है कि आईआईटी द्वारा जेएनयू (JNU) के शिक्षकों की भर्ती की खबर सच्चाई से बहुत दूर है और तथ्यों को गलत तरीके से देखने की प्रवृत्ति है.

  • Share this:
नई दिल्ली. भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान दिल्ली (Indian Institute of Technology Delhi) ने शनिवार को इस बात से इनकार किया कि उसने जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) के शिक्षकों को भर्ती करने के लिए उनसे संपर्क किया है. गौरतलब है कि विरोध प्रदर्शनों के चलते जेएनयू में स्थिति लगातार खराब हो रही है.

इस हफ्ते कथित रूप से आईआईटी दिल्ली के निदेशक वी रामगोपाल राव की तरफ से भेजा एक ईमेल वायरल हुआ था, जिसमें संस्थान के डीन से जेएनयू के शिक्षकों को भर्ती करने की सलाह दी गई थी. राव ने एक फेसबुक पोस्ट में लिखा, ‘ऐसी खबर चल रही है कि आईआईटी दिल्ली जेएनयू के शिक्षकों की भर्ती करना चाहता है. यह कथन एक ई-मेल पर आधारित है, जिसे कथित रूप से मैंने विभागाध्यक्षों को ऐसा करने के लिए प्रोत्साहित करने को भेजा है.’

जेएनयू और आईआईटी दिल्ली के शोध में बहुत कम समानता है

उन्होंने लिखा, ‘कोई भी समझदार व्यक्ति जानता है कि जेएनयू और आईआईटी दिल्ली के शोध में बहुत कम समानता है. ऐसे में आईआईटी द्वारा जेएनयू के शिक्षकों की भर्ती की खबर सच्चाई से बहुत दूर है और तथ्यों को गलत तरीके से देखने की प्रवृत्ति है.’ राव द्वारा कथित रूप से 19 दिसंबर को भेजे गए ईमेल में लिखा गया है, ‘जेएनयू के वरिष्ठ शिक्षकों ने विश्वविद्यालय में खराब होती स्थिति के मद्देनजर आईआईटी दिल्ली से जुड़ने की इच्छा जताई है.’ इस ईमेल में कहा गया है, ‘यह शर्मनाक होगा, अगर हम बेहतर प्रतिभाओं को किसी कारण या केवल पूर्वाग्रह की वजह से खो दें.’



आईआईटी दिल्ली ने किसी खास शिक्षण संस्थान से नहीं किया संपर्क

आईआईटी दिल्ली ने कथित ई-मेल का खंडन करने के लिए शनिवार को आधिकारिक बयान भी जारी किया. बयान में कहा गया, ‘यह स्पष्ट किया जाता है कि आईआईटी दिल्ली ने देश के ‘किसी खास’ शिक्षण संस्थान के शिक्षकों से कभी संपर्क नहीं किया. सभी पदों पर भर्ती की प्रक्रिया सार्वजनिक विज्ञापन प्रक्रिया के जरिए ही होती है.

ये भी पढे़ं - 

सभी भारतीय हिंदू हैं, BJP को रिमोट कंट्रोल से नहीं चलाती RSS: मोहन भागवत

कांग्रेस, SP, BSP बताएं कि उनका SIMI और PFI से क्या रिश्ता है: योगी आदित्यनाथ

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 18, 2020, 11:31 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर