Home /News /delhi-ncr /

अवैध धर्मांतरण केस: छापेमारी में UP ATS को मिले कई महत्वपूर्ण दस्तावेज, अब कोर्ट में होगी पेशी

अवैध धर्मांतरण केस: छापेमारी में UP ATS को मिले कई महत्वपूर्ण दस्तावेज, अब कोर्ट में होगी पेशी

यूपी एटीएस ने जामिया नगर और शाहीनबाग में तलाशी ली है. (फाइल फोटो)

यूपी एटीएस ने जामिया नगर और शाहीनबाग में तलाशी ली है. (फाइल फोटो)

मौलाना कलीम (Maulana Kaleem) के नई दिल्ली स्थित आवास और जमीयत इमाम वली उल्लाह ट्रस्ट के दफ्तर में छापेमारी की गई है. यूपी एटीएस की छह टीमें और कमांडो टीम तलाशी अभियान में शामिल थीं. तलाशी में कई डेस्क टॉप, टेबलेट और महत्वपूर्ण दस्तावेज बरामद किए गए हैं. ये सभी बरामद चीजें एटीएस कोर्ट में पेश की जाएंगी.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. उत्तर प्रदेश की एंटी टेररिस्ट स्क्वॉड (ATS) ने मंगलवार को दिल्ली में अवैध धर्मांतरण (Illegal Conversion) के आरोपी मौलाना कलीम सिद्दीकी के ठिकानों पर छापेमारी की. इस दौरान एटीएस को कई महत्वपूर्ण दस्तावेज हाथ लगे हैं. वहीं, इस संबंध में उत्तर प्रदेश एटीएस की ओर से एक बयान जारी किया गया है. बयान में कहा गया है कि अवैध धर्मांतरण के आरोपी मौलाना कलीम सिद्दीकी (Maulana Kaleem Siddiqui) के चार ठिकानों पर तलाशी ली गई. यूपी एटीएस ने जामिया नगर और शाहीनबाग में तलाशी ली है. इस दौरान भारी संख्या में स्थानीय थाना पुलिस भी मौजूद थी. जानकारी के लिए बता दें कि कलीम सिद्दीकी के आवास जामिया नगर में है.

    वहीं, शाहीन बाग में अब्दुल रहमान के आवास पर भी तलाशी ली गई. साथ ही शाहीन बाग में कलीम सिद्दीकी की संस्था ग्लोबल पीस सेंटर के दफ्तर में छापेमारी की गई. इसके अलावा शाहीन बाग में ही वर्ल्ड पीस ऑर्गेनाइजेशन के दफ्तर में भी तलाशी ली गई. मौलाना कलीम के नई दिल्ली स्थित आवास और जमीयत इमाम वली उल्लाह ट्रस्ट के दफ्तर में छापेमारी की गई है. यूपी एटीएस की छह टीमें और कमांडो टीम तलाशी अभियान में शामिल थीं. तलाशी में कई डेस्क टॉप, टेबलेट और महत्वपूर्ण दस्तावेज बरामद किए गए हैं. ये सभी बरामद चीजें एटीएस कोर्ट में पेश की जाएंगी.

    एटीएस लंबे समय से उस पर नजर रखे हुए थी
    बता दें कि पिछले महीने अवैध धर्मांतरण  के मामले में उत्तर प्रदेश एंटी टेररिस्ट स्क्वॉड ने मेरठ (Meerut) से ग्लोबल पीस सेंटर के अध्यक्ष कलीम सिद्दीकी (Kaleem Siddiqui) को गिरफ्तार किया था. कलीम सिद्दीकी उम्र गौतम का करीबी बताया जा रहा था. मौलाना कलीम जमीयत-ए- वलीउल्लाह का अध्यक्ष भी हैं. जानकारी के मुताबिक, मौलाना कलीम को हवाला के जरिए विदेशों से फंडिंग की जाती थी. यूपी एटीएस लंबे समय से उस पर नजर रखे हुए थी. मौलाना कलीम पर आरोप है कि वह लोगों को प्रलोभन देकर शरीयत व्यवस्था लागू करने और जनसंख्या अनुपात बदलने के लिए वृहद स्तर पर धर्मांतरण करवा रहा था.

    Tags: Conversion case, Delhi news, UP ATS

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर