Home /News /delhi-ncr /

दिल्ली में अवैध टेलीफोन एक्सचेंज का खुलासा, आतंकी कनेक्शन की आशंका से मचा हड़कंप

दिल्ली में अवैध टेलीफोन एक्सचेंज का खुलासा, आतंकी कनेक्शन की आशंका से मचा हड़कंप

दिल्ली पुलिस ने राजधानी में अवैध टेलीफोन एक्सचेंज का खुलासा किया है. इसके तार आतंकियों से जुड़े होने की आशंका जताई जा रही है.

दिल्ली पुलिस ने राजधानी में अवैध टेलीफोन एक्सचेंज का खुलासा किया है. इसके तार आतंकियों से जुड़े होने की आशंका जताई जा रही है.

Delhi Police News: दिल्ली में अवैध टेलीफोन एक्सचेंज का खुलासा होने के बाद दिल्ली पुलिस अलर्ट मोड पर आ गई है. दिल्ली पुलिस ने बताया कि ये सेक्योरिटी और टेररिस्ट थ्रेट हो सकता है.

नई दिल्ली. दिल्ली पुलिस की साइबर सेल टीम ने एक अवैध टेलीफोन एक्सचेंज (Illegal Telephone Exchange) का भांडाफोड़ किया है. इस टेलीफोन एक्सचेंज के जरिये देश को न सिर्फ आर्थिक रूप से चूना लगाया जा रहा था, बल्कि देश की सुरक्षा में भी सेंधमारी की आशंका है. इस खुलासे के बाद दिल्ली पुलिस (Delhi Police) और सुरक्षा एजेंसियां अलर्ट हो गई हैं. आतंकी कनेक्शन (Terrorist Connection) की आशंका से हड़कंप मच गया है. VoIP (वॉइस ओवर इंटरनेट प्रोटोकॉल) कॉल्स के जरिए देश को चूना लगा रहे थे.

दिल्ली सेंट्रल की DCP श्वेता चौहान (DCP Shweta Chauhan) ने बताया कि “दिल्ली में अवैध इंटरनेशनल टेलीफोन एक्सचेंज का पर्दाफाश हुआ है. ये सिक्योरिटी और टेररिस्ट थ्रेट हो सकता है. मामले में एक आरोपी को गिरफ़्तार किया गया है. इस पूरे मामले में भारत सरकार को कुल 103 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है.”  इस अवैध टेलीफोन एक्सचेंज में गल्फ कंट्री, नेपाल, USA, कनाडा और पाकिस्तान से करीब 1 लाख से ज्यादा कॉल्स रिसीव किए जा रहे थे, लेकिन हैरान करने वाली बात ये है कि सिर्फ पाकिस्तान से ही करीब 50 हजार कॉल्स रोज आ रहे थे.

DCP श्वेता चौहान ने बताया कि इस गैंग का सरगना इरफान दिल्ली के चांदनी चौक इलाके का रहने वाला है 9वीं पास इरफान टेक्निकली काफी मजबूत है और उसने पहले टीवी, मोबाइल ठीक करने का काम किया और अपनी टेलीकॉम की अच्छी जानकारी से धीरे-धीरे इसने दिल्ली के हौज काजी इलाके में एक अवैध कॉल सेंटर तैयार किया. यहां से उसने अपने गोरखधंधे की शुरुआत की. मुम्बई में भी ये आरोपी फर्जी टेलीफोन एक्सचेंज खोल रखा था, लेकिन पुलिस की सख्ती के कारण वहां से फरार हो गया. फरवरी में जांच एजेंसियों को पहली बार ये मामला संज्ञान में आया की फर्जी अवैध टेलीफोन एक्सजेच चल रहा है. दिल्ली में उस वक्त एक आरोपी गिरफ्तार हुआ था, इमरान खान उसी की निशानदेही पर आगे ये खुलासा हुआ.

अलग-अलग देशों से 4 करोड़ फोन कॉल्स आईं
SIP सर्वर की मदद से इस एक्सचेंज में अभी तक देश मे करीब 4 करोड़ कॉल्स अलग अलग देशों से भारत आई हैं. इन कॉल्स का पैसा क्या हवाला के जरिये हिंदुस्तान आ रहा था दिल्ली पुलिस इसकी जांच कर रही है. इस मामले में तीन और आरोपियों को दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार किया है. सेंट्रल डिस्ट्रिक्ट साइबर सेल ने कुल 5 आरोपियों को गिरफ्तार किया और अभी एक आरोपी फरार है जिसके ठिकाने पर ये फर्जी टेलीफोन एक्सचेंज चल रहा था. इस एक्सचेंज में कॉल से देश की सुरक्षा को भी खतरा भी भांपा जा रहा है, इसलिए दिल्ली पुलिस के अलावा देश की अन्य एजेंसी भी इसकी जांच कर रही है.

अब तक लगा चुके हैं 103 करोड़ का चूना
यह अवैध टेलीफोन टेलीकॉम एक्सचेंज 45 दिन सेटअप होकर अवैध तरीके से काम कर रहा था जांच एजेंसियों के मुताबिक पर एक दिन इस सेटअप पर 3 लाख कॉल बाहर से आ रही थी, जिसके चलते प्रतिदिन भारत सरकार दूरसंचार सेक्टर को करीब 1 करोड़ 20 लाख रुपए के आर्थिक नुकसान हो रहा था. आंकड़ों के मुताबिक, अब तक करीब 103 करोड रुपए का आर्थिक नुकसान इस रैकेट से भारत सरकार और टेलीकॉम सेक्टर को पहुंचा है.

Tags: Delhi news update, Delhi police, Delhi Terrorist Arrest

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर