होम /न्यूज /दिल्ली-एनसीआर /दिल्‍ली-NCR को गंभीर प्रदूषण से कब तक मिलेगी राहत, मौसम विभाग वैज्ञानिक ने बताया

दिल्‍ली-NCR को गंभीर प्रदूषण से कब तक मिलेगी राहत, मौसम विभाग वैज्ञानिक ने बताया

दिल्ली की वायु गुणवत्ता में कल से हल्‍का सुधार होने वाला है (फाइल फोटो)

दिल्ली की वायु गुणवत्ता में कल से हल्‍का सुधार होने वाला है (फाइल फोटो)

फिलहाल दिल्‍ली का एयर क्‍वालिटी इंडेक्‍स 400 से ऊपर बना हुआ है. हवा में पार्टिकुलेट मेटर 2.5 और 10 की मात्रा काफी ज्‍या ...अधिक पढ़ें

नई दिल्‍ली. राजधानी दिल्ली में प्रदूषण गम्भीर श्रेणी में पहुंच चुका है. दिल्‍ली सहित कई शहरों की हवा की गुणवत्‍ता सीवियर केटेगरी में होने के चलते दिल्‍ली सरकार ने प्राइमरी स्‍कूलों को बंद करने का फैसला कर दिया है. साथ ही 50 फीसदी सरकारी स्‍टाफ को भी वर्क फ्रॉम होम करने के निर्देश दिए हैं. प्रदूषण स्‍तर के खतरनाक होने के बाद दिल्‍लीवासियों को कई स्‍वास्‍थ्‍य संबंधी दिक्‍कतों का भी सामना करना पड़ रहा है वहीं पहले से रेस्पिरेटरी संबंधी बीमारियों से जूझ रहे लोगों की भीड़ भी अस्‍पतालों में पहुंच रही है.

दिल्‍ली-एनसीआर में बढ़ते प्रदूषण स्‍तर और दिवाली निकल जाने के बाद भी हवा की गुणवत्‍ता में न आए सुधार के बाद ये सवाल जरूरी हो गया है कि आखिर दिल्‍ली को इस खतरनाक प्रदूषण से कब तक राहत मिलेगी? क्‍या नवंबर में सर्दी बढ़ने के बाद और हवा में आने वाले ठहराव से यह हालत और भी गंभीर हो जाएगी?

भारतीय मौसम विभाग के वैज्ञानिक वी के सोनी ने न्‍यूज 18 हिंदी से बातचीत में बताया कि जो प्रदूषण इस समय दिल्‍ली और आसपास के लोग झेल रहे हैं, जल्‍दी ही उससे उन्‍हें हल्‍की राहत मिल सकती है. मौसम विभाग के अनुमान के मुताबिक 4 नवंबर यानि शुक्रवार तक दिल्‍ली की वायु गुणवत्‍ता सीवियर यानि गंभीर श्रेणी में रहने की संभावना है जबकि 5 नवंबर से हवा की स्‍पीड में आने वाले बदलाव के बाद वायु की गुणवत्‍ता गंभीर से बहुत खराब श्रेणी में आ जाएगी. वहीं आने वाले दो दिनों 6 और 7 नवंबर को भी एयर क्‍वालिटी बहुत खराब श्रेणी में ही रहेगी.

वीके सोनी बताते हैं कि शुक्रवार को धरातलीय हवा 10 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलती हुई पूर्वी दिशा से दिल्‍ली की तरफ पहुंचेगी. इस दौरान आसमान साफ रहेगा लेकिन हल्‍का कोहरा रहेगा. इसके अलावा 5 नवंबर को धरातलीय हवा पूर्वी दक्षिणी दिशा से दिल्‍ली की तरफ बहेगी. जिसकी गति काफी तेज यानि 8 से 18 किमी प्रति घंटे की होगी. इससे प्रदूषण के कण तेज हवा के चलते उड़ जाएंगे और दिल्‍ली के प्रदूषण में हल्‍की राहत मिलेगी.

बता दें कि फिलहाल दिल्‍ली का एयर क्‍वालिटी इंडेक्‍स 400 से ऊपर बना हुआ है. हवा में पार्टिकुलेट मेटर 2.5 और 10 की मात्रा काफी ज्‍यादा है. जिससे स्‍वस्‍थ लोगों को भी सांस लेने में दिक्‍कतें हो रही हैं.

अक्‍टूबर में इस बार संतोषजनक रही हवा
वीके सोनी कहते हैं कि पिछले साल के मुकाबले फिर भी इस बार प्रदूषण कम देखने को मिला है. अक्टूबर का महीना इस बार पिछले साल के मुकाबले अच्‍छा गुजरा है. अक्‍टूबर महीने में हवा की गुणवत्‍ता ज्‍यादातर संतोषजनक देखने को मिली. हालांकि नवंबर के महीने में यहां की हवा सीवियर हो गई है लेकिन 5 नवंबर से ही हल्‍की राहत मिलने की उम्‍मीद है.

Tags: Air pollution, Air Pollution AQI Level, Delhi news

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें