Home /News /delhi-ncr /

दिल्ली के मौसम की अब और सटीक होगी भविष्यवाणी, जानें IMD ने आखिर क्या किया..?

दिल्ली के मौसम की अब और सटीक होगी भविष्यवाणी, जानें IMD ने आखिर क्या किया..?

दिल्ली के आयानगर में आईएमटी ने नया डॉप्लर रडार इंस्टॉल किया है, जो बारिश की सटीक जानकारी देगा. (Photo-IMD)

दिल्ली के आयानगर में आईएमटी ने नया डॉप्लर रडार इंस्टॉल किया है, जो बारिश की सटीक जानकारी देगा. (Photo-IMD)

IMD New Doppler Weather Radar: मौसम विभाग ने आयानगर में नया डॉप्लर वेदर रडार (DWR) इंस्टॉल किया है. इस नए सिस्टम से दिल्ली में मौसम की रीयल टाइम और सटीक जानकारी मिलने में मदद मिलेगी. खासकर अचानक होने वाली तेज बारिश, आंधी-तूफान और ओलों से जुड़ी मौसम की जानकारी समय पर मिल पाएगी. अधिकारियों ने बताया कि मौसम विभाग में लगे रडार और आया नगर के रेडार में मुख्य अंतर इनके रेजॉल्यूशन का है. आया नगर में लगे रडार की वेवलेंथ कम होने की वजह से, इसका रेजॉल्यूशन हाई क्वॉलिटी का है.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. मौसम विभाग ने दिल्ली के आयानगर में नया डॉप्लर वेदर रडार (DWR) लगाया है. लोदी कॉलोनी मौसम विभाग, दिल्ली एयरपोर्ट के बाद यह तीसरा डॉप्लर वेदर रडार दिल्ली में इंस्टॉल किया गया है. इसके साथ ही दिल्ली पहला ऐसा शहर बन गया है, जहां ऐसे 3 रडार लगाए गए हैं. इस रडार से आंधी-पानी, अचानक होने वाली तेज बारिश, ओले पड़ने और उसकी स्थिति से निपटने और लोगों को रीयल टाइम बारिश की जानकारी मिल सकेगी.

डॉप्लर वेदर रडार काफी ऊंचाई पर लगाया जाता है. इसका एंटीना एक बड़ी बॉल की दिखता है और यह रेडियो तरंगों या रडार बीम्स के इस्तेमाल से बारिश के साथ-साथ आंधी-तूफान, ओलावृष्टि और चक्रवाती तूफान की भी जानकारी देता है. डॉप्लर वेदर रडार मौसम की अतिसूक्ष्म तरंगों को भी कैच कर लेता है. इसकी रेडियो तरंगें प्रकाश की गति जितनी तेज चलती हैं और जब वह बारिश या ओलावृष्टि जैसी किसी चीज टकराती हैं तो वापस रडार पर लौटती हैं.

एयरपोर्ट पर लगे एस बैंड रडार की रेंज 400 KM

मौसम विभाग दिल्ली में तीन डॉप्लर वेदर रडार एससी और एक्स बैंड का इस्तेमाल कर रहा है. मौसम विभाग के अधिकारियों का कहना है कि मौसम संबंधी जानकारी देने में रडार की वेवलेंथ और फ्रीक्वेंसी अहम रोल अदा करती है. दिल्ली एयरपोर्ट पर एस-बैंड रडार लगा हुआ है, जिसकी वेवलेंथ 7.5.-15सेमी और इसकी रडरा रेंज करीब 400 किमी है. सी-बैंड DWR रडार लोदी रोड मौसम विभाग की बिल्डिंग के ऊपर लगा हुआ है. इसकी वेवलेंथ 3.8-7.5 सेमी है और यह दिल्ली-एनसीआर में 250 किमी की दूरी तक बारिश और ओलावृष्टि की भविष्यवाणी कर सकता है.

पोलारीमीट्रिक रडार बता सकता है, बादलों में ओले बने या नहीं 

वरिष्ठ मौसम विज्ञानी आर. के. जेनामणि ने आयानगर में लगे तीसरे DWR एक्स बैंड डिवाइस के बारे में बताते हुआ कहा कि पोलारीमीट्रिक रडार बता सकता है कि बादलों में ओले बने हैं या नहीं.

मौसम विभाग के अधिकारियों ने कहा कि आयानगर में लगाया गया नया रडार रियल टाइम पर लोकल फ्लैश फ्लड (अचानकर तेज बारिश) की भविष्यवाणी करेगा, साथ ही उन इलाकों की पहचान करेगा. जहां जलभराव की स्थिति हो सकती है. रियल टाइम जानकारी मिलने से बाजारों और पानी भरने वाली सड़कों के लिए लोगों को पहले से चेतावनी दी जा सकती है.

अधिकारियों ने बताया कि मौसम विभाग में लगे रडार और आया नगर के रेडार में मुख्य अंतर इनके रेजॉल्यूशन का है. आया नगर में लगे रडार की वेवलेंथ कम होने की वजह से, इसका रेजॉल्यूशन हाई क्वॉलिटी का है. जेनामणि ने कहा, चूंकि इससे रियल टाइम जलभराव वाले इलाकों की पहचान करने में मदद मिलेगी, इससे जरिएम हम बारिश, धूल-आंधी और ओलावृष्टि की जानकारी पब्लिक को दे सकते हैं.

Tags: Delhi News Alert, IMD alert, IMD forecast

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर