निजामुद्दीन मामलाः मरकज में शामिल हुए 275 विदेशियों की हुई पहचान, अब किया क्वारेंटाइन
Delhi-Ncr News in Hindi

निजामुद्दीन मामलाः मरकज में शामिल हुए 275 विदेशियों की हुई पहचान, अब किया क्वारेंटाइन
दिल्ली पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार क्राइम ब्रांच और दिल्ली सरकार ने एक जॉइंट ऑपरेशन चलाया जिसके बाद 172 इंडोनेशियाई, 36 किर्गिस्तान और 21 बांग्लादेशी नागरिकों की पहचान कर उन्हें क्वारेंटाइन किया गया है. (फोटो साभार: ANI)

दिल्‍ली पुलिस क्राइम ब्रांच ने चलाया जॉइंट ऑपरेशन, 172 इंडोनेशियाई, 36 किर्गिस्तान और 21 बांग्लादेशी नागरिकों की पहचान कर उन्हें क्वारेंटाइन किया गया.

  • Share this:
नई दिल्ली. निजामुद्दीन इलाके में धार्मिक आयोजन मरकज (Markaz) में शामिल हुए 275 तबलीगी जमात के लोगों की पहचान कर ली गई है. ये सभी लोग विदेशी हैं और अब इन्हें क्वारेंटाइन कर दिया गया है. दिल्ली पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार, क्राइम ब्रांच और दिल्ली सरकार ने एक जॉइंट ऑपरेशन चलाया जिसके बाद 172 इंडोनेशियाई, 36 किर्गिस्तान और 21 बांग्लादेशी नागरिकों की पहचान कर उन्हें क्वारेंटाइन किया गया है. ये सभी लोग कोरोना वायरस संक्रमण के संदिग्‍ध हैं. गौरतलब है कि इससे पहले बुधवार को स्पेशल सेल ने 200 विदेशियों के संबंध में दिल्ली सरकार को रिपोर्ट भी दी थी, वे सभी मरकज में शामिल हुए थे. अब क्राइम ब्रांच ने बड़ी कार्रवाई करते हुए 275 लोगों की पहचान कर उन्हें आइसोलेट किया है.

'2361 लोगों को मरकज़ से निकाला गया'
राजधानी के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने बुधवार को निजामुद्दीन मामले में बताया था कि पुलिस ने एक अभियान चलाकर मरकज में शामिल हुए 2361 लोगों निकाला है. साथा ही उन्होंने बताया था कि इस दौरान 617 लोगों में कोरोना (Corona) के लक्षण पाए गए जिन्हें अस्पताल भेजा गया है. वहीं अन्य लोगों को क्वारेंटाइन में रखा गया है. इस दौरान सिसोदिया ने उन सभी लोगों का आभार जताया जो इस ऑपरेशन का हिस्सा बने. उन्होंने कहा कि 36 घंटे चले इस ऑपरेशन में जिन्होंने भी सहयोग दिया और अपनी जान जोखिम में डाली मैं उनका आभारी हूं.





स्‍वास्‍थ्यकर्मियों पर थूका
वहीं, 1 अप्रैल को क्वारेंटाइन में रखे गए तबलीगी जमात के लोगों ने आइसोलेनशन सेंटर में डॉक्टरों और स्वास्‍थ्यकर्मियों के साथ बदसलूकी की. उत्‍तर रेलवे के सीपीआरओ दीपक कुमार के मुताबिक ये सभी लोग पृथक केंद्र में जगह-जगह थूक रहे हैं. इसके साथ ही ये डॉक्‍टरों और कर्मचारियों पर भी थूक रहे हैं. बता दें कि कोरोना वायरस संक्रमित या संदिग्‍ध लोगों के थूकने से इसके संक्रमण के प्रसार का खतरा कई गुना बढ़ जाता है.

सड़कों पर भी थूका था
तबलीगी जमात के 167 कोरोना संदिग्‍धों को मंगलवार रात को 5 बसों से निजामुद्दीन मरकज से दिल्‍ली के तुगलकाबाद स्थित क्वारेंटाइन सेंटर ले जाया गया था. इनमें से 97 लोगों को डीजल शेड ट्रेनिंग हॉस्‍टल के क्‍वारंटीन सेंटर और 70 को आरपीएफ बैरक क्‍वारंटीन सेंटर में रखा गया है. बता दें कि ये सभी निजामुद्दीन मरकज से क्‍वारंटीन सेंटर ले जाए जाने के दौरान सड़कों पर भी थूक रहे थे. इन्‍हें थूकने से रोकने के लिए बसों के शीशे भी बंद करने पड़े थे.

ये भी पढ़ेंः हदें पार कर रहे तबलीगी जमात के कोरोना संदिग्‍ध, सेंटर में डॉक्‍टरों पर थूक रहे

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading