Assembly Banner 2021

चोर 'मिट्टी' के लिए चुरा रहे हैं कार के साइलेंसर, सबसे ज्‍यादा ईको कार निशाने पर, जानें क्‍यों

चोर मिट्टी के लिए कार के साइलेंसर को ही चुराकर ले जा रहे हैं. (Demo pic)

चोर मिट्टी के लिए कार के साइलेंसर को ही चुराकर ले जा रहे हैं. (Demo pic)

Delhi-NCR News: कबाड़ का काम करने वाले भी इस मिट्टी को पाने के लिए मोटर वर्कशॉप (Workshop) का चक्कर लगाते रहते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 15, 2021, 8:15 AM IST
  • Share this:
नोएडा. दिल्ली-एनसीआर (Delhi-NCR) में कार के साइलेंसर चोरों के निशाने पर हैं. चोर कार का साइलेंसर ही चुरा ले रहे हैं. वो भी साइलेंसर में लगी मिट्टी के लिए. सबसे ज्यादा साइलेंसर ईको वैन के चोरी हो रहे हैं. हाल ही में नोएडा पुलिस (Noida Police) ने एक गैंग को गिरफ्तार किया है. उसके पास से साइलेंसर की मिट्टी और साइलेंसर खोलने वाले औजार बरामद किए हैं. यह मिट्टी सड़क या मैदान में पड़ी कोई आम मिट्टी नहीं है. चोर इसे 3 से 4 हजार रुपये किलो बेच रहे हैं.

एकता मोटर्स वर्कशॉप के फहीम खान बताते हैं कि साइलेंसर के बीच में एक प्लेटनुमा पार्ट लगा होता है. इसे मिट्टी कहा जाता है. इसका काम कार में से निकलने वाले कॉर्बन को कंट्रोल करना है. दूसरे शब्‍दों में कह लें कि यह कार से निकलने वाले प्रदूषण को नियंत्रित करता है.

मिट्टी में लगा होता है प्लेटिनम और सिल्वर
फहीम खान ने न्यूज18 हिंदी को बताया, 'मिट्टी की यह नई प्लेट बाजार में 12 से 13 हजार रुपये की आती है. यह मिट्टी सभी तरह की कार में लगी होती है. इस प्लेट में प्लेटिनम (जिसे व्‍हाइट गोल्ड भी कहा जाता है) के साथ सिल्वर यानि चांदी लगी होती है.
PM Awas Yojana: ग्रेटर नोएडा में सस्ते मकान खरीदने का मौका, बनेंगे 16 हजार घर, ऐसे उठाएं लाभ



फहीम बताते हैं कि प्लेट में लगी चांदी और प्लेटिनम निकालने के लिए ही चक्कर लगाते रहते हैं कि अगर कोई खराब साइलेंसर निकला हो तो दे दो. इसके लिए कबाड़ी कई जगह एडवांस रुपये भी दे जाते हैं. इतना ही नहीं धोखाधड़ी से कार में से मिट्टी निकलवाने के लिए वर्कशॉप में काम करने वाले लड़कों को एक-दो हजार रुपये का लालच देते हैं कि चुपके से निकालकर उन्‍हें दे दिया जाए.

इसलिए चोरों के निशाने पर है ईको कार
ओखला के कार मैकेनिक शब्बीर बताते हैं, 'ईको के अलावा दूसरी कारों की बात करें तो उनके साइलेंसर में से निकलने वाली मिट्टी का वजन 450 ग्राम होता है. जबकि ईको कार से निकलने वाली मिट्टी का वजन 950 ग्राम होता है. कबाड़ के रूप में यह मिट्टी बाजार में 3 से 4 हजार रुपये किलो तक बिक जाती है.'



गौरतलब है कि 11 मार्च को नोएडा पुलिस ने बुलंदशहर के रहने वाले एक युवक को गिरफ्तार किया था. उसके पास 550 ग्राम मिट्टी बरामद हुई. साथ ही साइलेंसर खोलने वाले औजार भी मिले हैं. यह युवक दिल्ली-एनसीआर में कार के साइलेंसर चुराता था. जानकारों की मानें तो बाजार में प्लेटिनम की मौजूदा कीमत 38 हजार रुपये प्रति 10 ग्राम है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज