लाइव टीवी

निर्भया कांड के दोषी मुकेश ने फांसी रोकने के लिए पटियाला कोर्ट में दायर की याचिका

News18Hindi
Updated: January 15, 2020, 6:28 PM IST
निर्भया कांड के दोषी मुकेश ने फांसी रोकने के लिए पटियाला कोर्ट में दायर की याचिका
(प्रतीकात्मक फोटो)

इस याचिका में डेथ वारंट को चुनौती दी गई है. जानकारी के अनुसार, इस याचिका के लिए दया याचिका पेंडिंग होने को आधार बनाया गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 15, 2020, 6:28 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. निर्भया मामले (Nirbhaya Case) में एक दोषी मुकेश ने पटियाला हाउस कोर्ट (Patiala House Court) के सेशन कोर्ट में याचिका दायर की है. इस याचिका में डेथ वारंट को चुनौती दी गई है. जानकारी के अनुसार, इस याचिका के लिए दया याचिका पेंडिंग होने को आधार बनाया गया है. इस मामले की पटियाला हाउस कोर्ट में गुरुवार को सुनवाई होगी. याचिका में दोषी मुकेश की तरफ से डेथ वारंट को एक्सीक्यूट नहीं करने की अपील की गई है. इसी मामले में पटियाला हाउस कोर्ट ने निर्भया के माता पिता को नोटिस जारी किया है. नोटिस भेज कर कोर्ट ने निर्भया के माता-पिता से जवाब मांगा है. बताया जा रहा है कि कल गुरुवार को कोर्ट 2 बजे इस मामले की सुनवाई करेगा.

निर्भया के परिजन हैं नाराज
निर्भया घटना के आरोपियों की फांसी में देरी पर दायर याचिका के सवाल पर निर्भया के परिजन काफी नाराज हैं. निर्भया की मां ने फांसी में देरी के सवाल पर आरोपियों के वकील और सिस्टम को निशाने पर लिया था. निर्भया की मां आशा देवी ने मीडियाकर्मियों के सवाल पर कहा था कि मुझसे पूछने की जगह आप सरकार से पूछें कि आरोपियों को 22 जनवरी को फांसी हो रही है या नहीं. इससे पहले हाईकोर्ट से मुकेश की याचिका खारिज होने के बाद दिल्ली सरकार ने दया याचिका खारिज करने की सिफारिश की.

क्या है मामला?

ये मामला दिसंबर 2012 का है. जब चलती बस में 23 साल की पैरामेडिकल स्टूडेंट के साथ छह लोगों ने गैंगरेप किया था. इस दौरान सभी ने मिलकर उसके साथ क्रूरतम व्यवहार किया था और उसे घायल अवस्था में मरने के लिए सड़क पर फेंक दिया था. घटना के कुछ दिनों बाद 'निर्भया' की इलाज के दौरान मौत हो गई थी.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 15, 2020, 5:44 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर