अपना शहर चुनें

States

पूरे विश्‍व को वैक्‍सीन देगा भारत, दिसंबर 2021 तक देश में तैयार होने जा रहीं 8 नई कोरोना वैक्‍सीन

इस साल भारत में आठ और नई कोरोना वैक्‍सीन तैयार होने जा रही हैं.  (तस्वीर-AP)
इस साल भारत में आठ और नई कोरोना वैक्‍सीन तैयार होने जा रही हैं. (तस्वीर-AP)

साल 2020 कोरोना से जूझते हुए बीतने के बाद 2021 नई खुशखबरी और उपलब्धियां लेकर आ रहा है. 16 जनवरी से भारत में स्‍वदेश में बनी वैक्‍सीन के साथ कोविड टीकाकरण अभियान शुरू हो रहा है. इतना ही नहीं बताया जा रहा है कि इस साल के दिसंबर तक भारत के पास खुद की बनाई आठ नई कोरोना वैक्‍सीन (Covid Vaccine) आ जाएंगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 17, 2021, 2:58 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. कोरोना वायरस को लेकर कल यानि 16 जनवरी का दिन बेहद खास होने जा रहा है. कल से देशभर में कोविड की वैक्‍सीन लगना शुरू हो जाएगी. खास बात है कि देशभर में लगाई जाने वाली ये वैक्‍सीन स्‍वदेशी हैं. इन्‍हें सीरम इंस्‍टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) ने कोविशील्‍ड वैक्‍सीन (Covishield) और भारत बायोटेक (Bharat Bio-tech) ने कोवैक्‍सीन (Covaxin) नाम से तैयार किया है. लेकिन वैक्‍सीन पर भारत की उपलब्धि सिर्फ इतनी ही नहीं है. बल्कि इससे भी आगे दिसंबर 2021 तक भारत के पास खुद की बनाई हुई करीब आठ और नई कोरोना वैक्‍सीन (Corona Vaccine) आने वाली हैं.

इंडियन काउंसिल फॉर मेडिकल रिसर्च (ICMR) के टास्‍क फोर्स ऑपरेशन ग्रुप फॉर कोविड के हेड डॉ. एन के अरोड़ा बताते हैं कि भारत की दोनों कोविड वैक्‍सीन की पूरे विश्‍व में मांग की जा रही हैं. इसकी वजह है भारत का नियामक वैक्‍सीन के मामले में बहुत ऊंचा है. भारत में बनी वैक्सीन (Made in India Vaccine) प्रभावशाली होती हैं. हमारा देश कोविड वैक्‍सीन (Covid Vaccine) के मामले में न केवल आत्‍मनिर्भर है बल्कि इस साल के अंत तक पूरे विश्‍व को वैक्‍सीन दे सकेगा. भारत में वैक्‍सीन पर तेजी से काम हो रहा है. पूरी उम्‍मीद है कि भारत में इस साल के अंत यानि दिसंबर 2021 तक आठ और नई कोरोना वैक्‍सीन बनकर तैयार हो जाएंगी.





डॉ. अरोड़ा कहते हैं कि भारत सरकार (Government of India) वैक्‍सीन पर काम कर रही कंपनियों को पूरा सहयोग दे रही है. नई बनने जा रही वैक्‍सीन भी अपने सभी चरणों को पूरा करने के बाद ही बाजार में लाई जाएंगी. वे कहते हैं  कि वैक्‍सीन जो भी कंपनियां बना रही हैं अभी उनका नाम भी धीरे-धीरे सामने आ जाएगा लेकिन ये सभी भारतीय कंपनियां (Indian Companies) हैं. कोविड वैक्‍सीन को लेकर इनका काफी काम हो भी चुका है. कुछ कंपनियां अन्‍य कई रोगों में पहले वैक्‍सीन बना चुकी हैं. ऐसे में इस साल के अंत तक भारत में बनी हुई करीब 10 कोरोना वैक्‍सीन हमारे पास होंगी.
हाल ही में रिपोर्ट आई हैं कि चीन (China) की वैक्‍सीन को 50 फीसदी ही प्रभावशाली बताया जा रहा है. ऐसे में भारत की बनी वैक्‍सीन की डिमांड बढ़ना लाजमी है. इसके साथ ही यह होना इसलिए भी संभव है कि वैक्‍सीन के मामले में भारत पहले से ही चीन से काफी आगे है. यहां अधिकांश रोगों का टीका बनाया जा चुका है.

ये भी पढें.

COVID-19 Vaccination: कोरोना वैक्‍सीन लगवाकर की ये गलतियां तो डबल हो सकता है वायरस का अटैक

दिल्‍ली: 81 में से सिर्फ इन छह अस्‍पतालों में पूर्णत: स्‍वदेशी ‘कोवैक्‍सीन’ बाकी 75 जगह लगाई गई ‘कोविशील्‍ड’

दिल्‍ली आरएमएल अस्‍पताल के रेजिडेंट डॉक्‍टरों का कोवैक्‍सीन लगवाने से इनकार, कोविशील्‍ड की मांग
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज