होम /न्यूज /दिल्ली-एनसीआर /रेलवे की बड़ी कार्रवाई: खराब प्रदर्शन के चलते 19 अधिकारियों को जबरिया वीआरएस दिया

रेलवे की बड़ी कार्रवाई: खराब प्रदर्शन के चलते 19 अधिकारियों को जबरिया वीआरएस दिया

काम में लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों पर सरकार की सख्‍ती.

काम में लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों पर सरकार की सख्‍ती.

मोदी सरकार (Modi government) ने काम के प्रति निष्‍ठा न रखने वाले, खराब प्रदर्शन और अक्षम अधिकारियों पर कार्रवाई करनी शु ...अधिक पढ़ें

नई दिल्‍ली. मोदी सरकार (Modi government) ने काम के प्रति निष्‍ठा न रखने वाले, खराब प्रदर्शन करने वाले और अक्षम अधिकारियों पर कार्रवाई करनी शुरू कर दी है. बुधवार को रेलवे मंत्रालय (Railway Ministry) ने 19 अधिकारियों को जबरन वीआरएस दे दिया. इनमें से 10 अधिकारी संयुक्‍त सचिव स्‍तर के समकक्ष अधिकारी थे, जो रेलवे के अलग-अलग मंडलों और रेल, कोच फैक्‍टरी में तैनात थे. इसके अलावा पिछले 11 माह में 75 अधिकारियों को वीआरएस (voluntary retirement scheme) दिया गया है, इन पर निष्‍ठा से काम न करने, खराब प्रदर्शन और अक्षमता का आरोप था. इस तरह की कार्रवाई से साफ सरकार का साफ संदेश है कि काम के दौरान लापरवाही बर्दाश्‍त नहीं की जाएगी.

भारतीय रेलवे ने फंडामेंटल रूल्‍स (एफआर) 56 जे के तहत कार्रवाई करते हुए बुधवार को 19 अधिकारियों को जबरन वीआरएस दे दिया है. इस रूल्‍स के तहत सरकार काम की समीक्षा कर जबरिया वीआरएस दे सकती है. ये वरिष्‍ठ अधिकारी थे, जो रेलवे में डीआरएम या इससे ऊपर पदों पर तैनात थे. ये अधिकारी पश्चिमी रेलवे, एमसीएफ, मध्‍य रेलवे, सीएलडब्‍ल्‍यू, नार्थ फ्रंट रेलवे, पूर्व रेलवे, दक्षिण पश्चिमी रेलवे, डीएलडब्‍ल्‍यू, उत्‍तर मध्‍य रेलवे, आरडीएसओ, ईडी सेल का सेलेक्‍शन ग्रेट और उत्‍तर रेलवे में विभिन्‍न पदों पर तैनात थे. इनमें 10 अधिकारी एसएजी ग्रेड के अधिकारी यानी सामान्‍य भाषा में संयुक्‍त सचिव स्‍तर के अधिकारी थे.

ये भी पढ़ें: दो देशों को आपस में जोड़ेगी पहली भारत गौरव टूरिस्‍ट ट्रेन ‘श्री रामायण यात्रा’

जबरन वीआरएस पाने वाले अधिकारियों में इलेक्ट्रिकल के चार, पर्सनल के दो, मेडिकल के तीन, स्‍टोर के एक, मैकेनिकल का एक, स‍िविल इंजीनियरिंग के तीन, सिग्‍नलिंग के चार और ट्रैफिक का एक अधिकारी शामिल हैं.

ये भी पढ़ें:आसान किश्‍तों में कर सकते हैं श्री रामायण यात्रा ट्रेन में सफर, जानें ईएमआई

11 माह में 75 रेलवे अधिकारियों को वीआरएस दिया गया

रेलवे मंत्रालय पिछले करीब एक साल से खराब प्रदर्शन करने वाले अधिकारियों पर कार्रवाई कर रहा है. जुलाई से लेकर अब तक यानी 11 माह में 75 अधिकारियों को वीआरएस दिया गया है. इसमें जीएम, सेक्रेटरी स्‍तर के अधिकारी भी शामिल हैं, जिन पर काम के प्रति निष्‍ठा न रखने वाले, खराब प्रदर्शन और अक्षमता के आरोप थे. सबसे ज्‍यादा जनवरी माह में अधिकारियों को वीआरएस दिया गया. इस माह में 11 अधिकारियों को वीआरएस दिया गया है.

किस माह में कितने को वीआरएस दिया गया

माह        अधिकरियों की संख्‍या

जुलाई 2021   नौ
अगस्‍त 2021   छह
सितंबर 2021   चार
अक्‍तूबर 2021  सात
नवंबर 2021     नौ
दिसंबर 2021    छह
जनवरी 2022   11
फरवरी 2022  आठ
मार्च 2022     सात
अप्रैल 2022    पांच
मई 2022      तीन

Tags: Indian railway, Indian Railway news, Indian Railways, Ministry of Railways

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें