रेलवे पुलिस ने फर्जी रेल टिकट बनाने वालों पर की ऑनलाइन छापेमारी, 528 दलाल गिरफ्तार
Delhi-Ncr News in Hindi

रेलवे पुलिस ने फर्जी रेल टिकट बनाने वालों पर की ऑनलाइन छापेमारी, 528 दलाल गिरफ्तार
रेलवे पुलिस ने आरोपियों की चाल चलते हुए ऑनलाइन एक-एक आईपी एड्रेस की आईडी निकाली और अभियान चलाकर देशभर से 528 लोगों को धर दबोचा. साथ ही 70 लाख रुपये से ज्यादा की टिकटें भी कैंसिल की गईं.

रेलवे पुलिस ने आरोपियों की चाल चलते हुए ऑनलाइन एक-एक आईपी एड्रेस की आईडी निकाली और अभियान चलाकर देशभर से 528 लोगों को धर दबोचा. साथ ही 70 लाख रुपये से ज्यादा की टिकटें भी कैंसिल की गईं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 13, 2019, 6:13 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिवाली (Diwali) और छठ पूजा (Chhath Puja) के दौरान फर्जी तरीके से बड़ी संख्या में ट्रेन की टिकटें बेची जा रहीं थी. रेलवे (Railway) के टिकट सॉफ्टवेयर (Software) में छेड़छाड़ कर दलाल घर बैठे टिकट बना रहे थे. इस गोरखधंधे का सुराग मिलने पर रेलवे सुरक्षा बल (RPF) ने तीन और विभागों के साथ मिलकर निगरानी शुरू कर दी. छानबीन में दो हजार से ज्यादा ऐसे आईपी एड्रेस (IP Address) ट्रेस किए गए जो लगातार रेलवे के टिकट (Railway Ticket) सॉफ्टवेयर में घुसपैठ कर रहे थे. पुलिस ने आरोपियों की चाल चलते हुए ऑनलाइन एक-एक आईपी एड्रेस की आईडी निकाली और अभियान चलाकर देशभर से 528 लोगों को धर दबोचा. साथ ही 70 लाख रुपये से ज्यादा की टिकटें भी कैंसिल की गईं.

ANMS सॉफ्टवेयर की मदद से घर बैठे बना रहे थे टिकट

दरअसल आरपीएफ को यह जानकारी मिली थी कि कुछ लोग रेलवे के टिकट सॉफ्टवेयर में छेड़छाड़ कर फर्जी तरीके से ट्रेन की टिकटें बनाकर बेच रहे हैं. इस गोरखधंधे में रेलवे के लाइसेंसी वेंडर और कुछ दलाल भी शामिल हैं. सूचना मिलते ही आरपीएफ ने ताबड़तोड़ छापेमारी शुरू कर दी. ये कार्रवाई बीते 26 अक्टूबर से चार नवंबर के बीच की गई. छापेमारी में खुलासा हुआ कि दलाल ANMS नाम के सॉफ्टवेयर की मदद से घर बैठे-बैठे ऑनलाइन टिकट बनाते थे.



2801 आनलाइन टिकटों को किया गया ब्लॉक
आरपीएफ की मानें तो छापे के दौरान पता चला कि जालसाजों ने अवैध तरीके से 2801 ऑनलाइन टिकट बना रखी थीं. ये सभी टिकट यात्रा की आगे की तारीखों की हैं. जिनकी कीमत करीब 70 लाख रुपये से ज्यादा है. आरपीएफ ने अपनी कार्रवाई में इन सभी टिकटों को कैंसिल करा दिया है.

रेलवे पुलिस फोर्स ने दो अन्य विभागों के साथ मिलकर ये छापेमारी की है. (Demo Pic)


आरपीएफ ने 565 लोगों पर दर्ज किए 519 केस

आरपीएफ का कहना है कि छापेमारी की कार्रवाई में अभी तक 528 आरोपियों को गिरफ्तार किया जा चुका है. जबकि 37 दलाल फरार हैं. इसमे से 70 प्रतिशत ऐसे आरोपी हैं जो रेलवे के लाइसेंसी वेंडर नहीं हैं. इस दौरान लाइसेंसी वेंडरों के खिलाफ केस दर्ज कराने के साथ ही 59 वेंडरों के लाइसेंस भी कैंसिल किए गए हैं. इतना ही नहीं जिन कंप्यूटरों से ये फर्जी टिकट बनाए गए वैसे 2720 निजी आईपी एड्रेस का पता लगाकर उन्हें ब्लॉक कर दिया गया है.

ये भी पढ़ें :

भोपाल में 3 दिन के लिए इकट्ठा हो रहे हैं देशभर के 25 लाख से अधिक मुस्लिम, जानें वजह...

सुप्रीम कोर्ट ने चारों राज्यों को लगाई फटकार, सुनवाई के दौरान कहीं ये 5 बड़ी बातें
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading