Assembly Banner 2021

मदहोश माहौल, महंगे नशे के बीच जानिए 'रेव पार्टी' की इनसाइड स्टोरी!

ड्रग्स (फाइल फोटो)

ड्रग्स (फाइल फोटो)

यूपी के पूर्व डीजीपी विक्रम सिंह कहते हैं कि रेव पार्टी आयोजन करने के पीछे लोकल पुलिस की बहुत बड़ी भूमिका रहती है.

  • Share this:
नोएडा में पिछले दिनों पुलिस ने एक फार्म हाउस पर छापा मारकर बड़ी रेव पार्टी का भंडाफोड़ किया. फॉर्म हाउस में चल रही रेव पार्टी में जब पुलिस ने छापा मारा तो वहां लड़के-लड़कियां बीयर, शराब और हुक्का पीते हुए भी मिले. दिल्ली एनसीआर में रेव पार्टी का आयोजन करने और पुलिस की छापेमारी की खबरें आती रही हैं. नोएडा के एसएसपी वैभव कृष्ण ने न्यूज18 से बातचीत में बताया कि सूचना मिलते ही दबिश का ऐसा प्लान बनाया था कि पार्टी आर्गेनाइज करने वाले फार्म हाउस के मालिक और पुलिस विभाग में फैले उनके मुखबिरों को जरा सी भी भनक नहीं लगी.

एसएसपी के मुताबिक नोएडा पुलिस अब तक 40-50 रेप पार्टियों का भंडाफोड़ पुलिस कर चुकी है. जबकि 400 से अधिक लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है. पुलिस समय-समय पर कार्रवाई करती रहती है. वैभव कृष्ण ने बताया कि लोकल पुलिस की भूमिका की जांच के आदेश दिए गए है. यूपी पुलिस के पूर्व डीजीपी विक्रम सिंह ने बताया कि रेव पार्टी आयोजन करने के पीछे लोकल पुलिस की बहुत बड़ी भूमिका रहती है.

प्रतीकात्मक तस्वीर




उन्होंने उदाहरण के तौर पर बताया कि अगर किसी के घर में चार मेहमान आ जाएं तो पुलिस को इसकी जानकारी हो जाती है, लेकिन 200 के करीब लड़के-लड़कियां एक जगह इकट्ठा हो जाएं और पुलिस को जानकारी न हो ऐसा हो नहीं सकता. पूर्व डीजीपी कहते हैं कि रेव पार्टी की मुख्य वजह ड्रग्स की बड़े पैमाने पर युवाओं को लत लगाना है. क्योंकि पाकिस्तान और अफगानिस्तान से ड्रग्स की सप्लाई होती है, पंजाब प्रांत के रास्ते.
विक्रम सिंह ने बताया कि दिल्ली और पंजाब की दूरी कोई ज्यादा नहीं है. पाकिस्तान में ड्रग्स की सप्लाई का जिम्मा आईएसआई के हाथों में हैं. ऐसे में हम ये कह सकते है कि आईएसआई का मकसद भारत के बच्चों को रेव पार्टी के जरिए नशे का आदी बनाकर उनकी जिंदगी को बर्बाद करना. उन्होंने कहा कि सरकार को इस मामले को गंभीरता से लेना चाहिए. वहीं पुलिस को रेव पार्टी के आर्गेनाइज पर कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए.

ऐसी होती है रेव पार्टी

रेव पार्टी के दौरान टेबलों पर महंगी शराब, बीयर और सिगरेट की बोतलें सजी रहती हैं. हर एक टेबल पर लड़कियां शराब परोसती हैं. हल्की लाइट में डीजे पर थिरकते कपल्स. जो डीजे पर नहीं था वो स्वीमिंग पूल में होता है. वहां लड़के-लड़कियां हुक्का पीते है. ऐसा दावा किया जा रहा है कि हुक्के में तेज असर वाली तम्बाकू का इस्तेमाल किया जाता है. रेव पार्टी में विदेशी ड्रग्स का इस्तेमाल बड़े पैमाने में किया जाता हैं.

ये भी पढ़ें:

नोएडा में रेव पार्टी पर छापा, 192 लोग गिरफ्तार, इस हालत में थे युवक-युवतियां

छठा चरण: बीजेपी की मेनका गांधी सबसे अमीर, कांग्रेस के धीरेंद्र पर सबसे ज्यादा केस

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsAppअपडेट्स
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज