संस्थाओं ने मिलकर तैयार किया ऑक्सीजन से लैस आइसोलेशन सेंटर, पहले आओ-पहले पाओ पर होगी मरीजों की भर्ती

आईसोलेशन सेंटर में महिला मरीजों के लिए अलग से व्यवस्था की गई है.

आईसोलेशन सेंटर में महिला मरीजों के लिए अलग से व्यवस्था की गई है.

दिल्ली के तुगलकाबाद इंस्टीट्यूशनल एरिया में कालकाजी मित्र परिषद ने स्वयंसेवी संस्थाओं के साथ मिलकर 38 बेड्स का ऑक्सीजन सुविधा से लैस जय भीम कोविड-19 नि:शुल्क आइसोलेशन सेंटर स्थापित किया है. सेंटर में महिला मरीजों के लिए अलग से व्यवस्था की गई है. बेड पर भर्ती की प्रक्रिया 'पहले आओ, पहले पाओ' की तर्ज पर शुरू की गई है.

  • Share this:

नई दिल्ली. दिल्ली में कोरोना (Corona) संक्रमित मरीजों की संख्या में अब हर रोज थोड़ी गिरावट रिकॉर्ड की जा रही है. दिल्ली (Delhi) में अब एक्टिव मरीजों की संख्या 82,725 हो गई है. वहीं, होम आइसोलेशन (Home Isolation) में भी बड़ी संख्या में अभी मरीज भर्ती हैं. मौजूदा समय में होम आइसोलेशन में 49,974 मरीज भर्ती हैं.

बावजूद इसके अस्पतालों में बेड की कमी और ऑक्सीजन की किल्लत बरकरार है. इसके चलते अब मदद के लिये आइसोलेशन सेंटर स्थापित करने के लिए स्वयंसेवी संस्थाएं भी सामने आने लगी हैं. अब ऐसे इलाकों में स्वयंसेवी संस्थाओं की ओर से कोविड केयर आइसोलेशन सेंटर (Covid care Isolation centre) स्थापित किए जा रहे हैं जहां गरीब तबके के संक्रमित लोग भर्ती हो रहे हैं. उन कोरोना संक्रमित मरीजों को यहां पर बेड के अलावा ऑक्सीजन, दवाइयां और खाने-पीने की सुविधा मुहैया कराई जा सकेगी.

Coronavirus, COVID-19, Delhi Government, Corona cases in Delhi, Home Isolation, Corona Death in Delhi, Oxygen Crisis, Kalkaji, कोरोनावायरस, कोविड-19, दिल्ली सरकार, दिल्ली में कोरोना मामले, होम आइसोलेशन, दिल्ली में कोरोना डेथ, ऑक्सीजन किल्लत, कालकाजी
आईसोलेशन सेंटर में महिला मरीजों के लिए अलग से व्यवस्था की गई है.

इसके पीछे एक बड़ी वजह यह भी है कि झुग्गी झोपड़ी और लोअर तबके के लोगों के संक्रमित होने के बाद पूरा परिवार इसकी चपेट में ना आए. इसके लिए उनको होम आइसोलेशन की जगह आइसोलेशन सेंटर में भेजने की व्यवस्था की जा रही है. दिल्ली के तुगलकाबाद इंस्टीट्यूशनल एरिया में कालकाजी मित्र परिषद की ओर से 38 बेड्स का ऑक्सीजन सुविधा से लैस जय भीम कोविड-19 नि:शुल्क आइसोलेशन सेंटर स्थापित किया है.
इस सेंटर को स्थापित करने में समाजसेवी और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता खविंदर सिंह कैप्टन की अगुवाई में तैयार किया गया है. इस आइसोलेशन सेंटर को स्थापित करने में जिन सहयोगी संस्थाओं ने बढ़ चढ़कर तमाम सुविधाओं को उपलब्ध कराने का काम किया है उनमें संत रविदास इंटरनेशनल मिशन, राष्ट्रीय शोषित परिषद, कालकाजी मित्र परिषद, आधारशिला, एपीजे अब्दुल कलाम ट्रस्ट और सेक्रेड चैरिटेबल एंड सोशल ट्रस्ट आदि प्रमुख रूप से शामिल हैं.

Coronavirus, COVID-19, Delhi Government, Corona cases in Delhi, Home Isolation, Corona Death in Delhi, Oxygen Crisis, Kalkaji, कोरोनावायरस, कोविड-19, दिल्ली सरकार, दिल्ली में कोरोना मामले, होम आइसोलेशन, दिल्ली में कोरोना डेथ, ऑक्सीजन किल्लत, कालकाजी
आईसोलेशन सेंटर में महिला मरीजों के लिए अलग से व्यवस्था की गई है.

कैप्टन खविंदर ने इस सेंटर की शुरुआत करने के पीछे के मकसद को बताते हुए कहा कि उन गरीब झुग्गी झोपड़ी और निम्न आय वर्ग के लोगों को कोरोना संक्रमित होने के बाद क्षेत्र में आइसोलेशन सेंटर मुहैया कराना है.



गरीबों को मिलेगा आईसोलेशन सेंटर का फायदा

उन्होंने बताया कि इस वर्ग के लोगों के पास होम आइसोलेशन के लिए जगह नहीं होती है. ऐसे में उनको यहां पर सभी सुविधाओं के साथ बेहतर चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने की व्यवस्था की गई है.

उन्होंने बताया कि इस तबके के लोगों के संक्रमित होने के बाद अगर होम आइसोलेशन में नहीं रखा जाता है तो इसकी चेन बड़ी तेजी के साथ फैल जाती है. इसको रोकने और संक्रमित को बेहतर चिकित्सा और खाने-पीने की उचित व्यवस्था करने के लिए यह प्रयास किया गया है.

मरीजों को 'पहले आओ, पहले पाओ' की तर्ज पर मिलेगी बेड फैसिलिटी

आईसोलेशन सेंटर में महिला मरीजों के लिए अलग से व्यवस्था की गई है. मरीज को बेड पर भर्ती की प्रक्रिया 'पहले आओ, पहले पाओ' की तर्ज पर शुरू की गई है. उन्होंने इस सेंटर को स्थापित करने में सहयोग करने वाली सभी संस्थाओं के प्रति विशेष आभार जताया.

पॉजिटिव से ज्यादा रिकवर्ड मामले रिकॉर्ड किये

बताते चलें कि दिल्ली में अब तक 20,310 लोगों की मौत हो चुकी है. पिछले 24 घंटे में दिल्ली में 13,583 पॉजिटिव मामले रिकॉर्ड किए गए थे. ‍वहीं, 14,071 ने रिकवर्ड भी किया. वहीं, 300 ने जान भी गंवाई है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज