दिल्ली-एनसीआर

दिल्ली: IPL मैच के सट्टे में लगाए अपने अंकल के पैसे, हारा तो कर दिया लूट का फर्जी केस

पुलिस गिरफ्त में आरोपी.
पुलिस गिरफ्त में आरोपी.

दिल्ली (Delhi) के करावल नगर इलाके रहने वाले राजन नाम के एक शख्स ने आईपीएल (IPL) के सट्टे में लाखों उड़ा दिए. फिर उसे लूटपाट का फर्जी केस दायर कर दिया. 

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 18, 2020, 7:34 PM IST
  • Share this:
दिल्ली. " मैं IPL मैच के दौरान लाखों रूपये सट्टे में हार गया था, इसलिए मैनें अपने अंकल का पैसा भी उसमें लगा दिया था. बाद में मुझे डर हुआ तो मैनें अपने साथ दो लाख रूपये की लूटपाट होने का फर्जी केस दर्ज करा दिया. इसके साथ अपने शरीर पर कई जख्म भी बना लिया जिससे लगे की मामला एकदम फिल्मी नहीं बल्कि सच है". ये इकबालिया बयान है एक ऐसे आरोपी का जिसका नाम है राजन, जो दिल्ली के करावल नगर इलाके में रहता है. ये एक कारोबारी परिवार का लड़का है. मौजूदा समय में चल रहे IPL मैच के दौरान ये अक्सर अपने दोस्तों के साथ सट्टा यानी जुआ का खेलता था, लेकिन शाॉर्टकट तरीके से पैसे कमाने के ये शौक उसे अपराधी बना देगा, ये उसने कभी सोचा भी नहीं था. शायद इसी का तकाजा है कि आज फर्जीवाड़े के आरोप में वो सलाखों के पीछे है.

दरअसल, ये मामला 16 सितंबर का है  जब उसने एक शिकायत दर्ज करवाई थी कि 16 सितंबर को शाम पांच बजे के लगभग जब वो नार्थ दिल्ली के हिन्दू राव अस्पताल के पास वाले इलाके से अपनी बाइक से जा रहा था, उसी वक्त कुछ बदमाशों ने उसे रोका और  बैग छीनकर भाग गए. विरोध करने पर धारदार ब्लेड और लोहे के रॉड से हमला किया. इस मामले को और बेहतर कानूनी रंग देने के लिए राजन ने सिविल लाइन्स थाना इलाके के पास आकर एक पीसीआर कॉल किया. उसके बाद पुलिस कंट्रोल रूम को इस मामले की जानकारी दी गई की उसके साथ लूटपाट के मामले को अंजाम दिया था. लूटपाट की पीसीआर कॉल होते ही इस इलाके में तैनात तीन पुलिस कर्मी तुरंत एक्टिव हो गए और मौके पर पहुंचकर मामले की तफ्तीश में जुट गए .





24 घंटे के अंदर किया मामला सॉल्व
सिविल लाइन थाना के एसएचओ प्रदीप कुमार पालीवाल ने इस मामले पर कुछ शुरुआती इनपुट्स की जानकारी डीसीपी एंटो अल्फोंस को दी. डीसीपी ने इस मामले पर निर्देश देते हुए कहा कि इस मामले का जल्द से जल्द समाधान किया जाए और उन्हें इस मामले की रिपोर्ट करें. मामले की गंभीरता को देखते हुए एसएचओ प्रदीप कुमार पालीवाल ने कहा कि इस मामले में वो कोशिश कर रहे हैं कि 24 घंटे के अंदर ही इस मामले को सॉल्व करें. इसके बाद एसएचओ प्रदीप कुमार पालीवाल ने इस मामले में अपने तीन अच्छे जांचकर्ता सब इंस्पेक्टर कुणाल किशोर (मुख्य जांचकर्ता ) , हेड कांस्टेबल महेश पाटिल और सिपाही राजकुमार को ज़िम्मेदारी देते हुए इस मामले पर विस्तार से बातचीत की गई.

उसके बाद इस मामले की तफ्तीश के दौरान मौके के आसपास करीब 65 से ज्यादा सीसीटीवी को कई दर्जन लोगों से बातचीत की गई , जिससे कोई सुराग मिल सके. कई घंटों की तफ्तीश के दौरान इन तीनों जांचकर्ताओं को ऐसा आभास हो चुका था कि इस मामले में शिकायतकर्ता ही कुछ छुपाने की कोशिश कर रहा है. उसके बाद इन तीनों पुलिसकर्मियों ने उस शिकायतकर्ता से कई बार फिर से पूछताछ करते हुए घटनाक्रम के बारे में जानने का प्रयास किया. पूछताछ के दौरान आरोपी शिकायतकर्ता राजन के बयान में कई विरोधाभास आना शुरू हो गया. इसके बाद मामले की गंभीरता को देखते हुए जब सख्ती से पूछताछ की गई तो वो टूट गया और उसने सारा गुनाह कबूल कर लिया.

ये भी पढ़ें: उपचुनाव से पहले CM शिवराज का बड़ा तोहफा, 22 लाख किसानों को मिली 4686 करोड़ की राशि

पूछताछ में आरोपी ने कबूल किया जुर्म

पुलिस की तफ्तीश के दौरान मुख्य आरोपी राजन ने इस बात को स्वीकार किया कि उसके अंकल दुश्यंत की तबियत सही नहीं थी. लिहाजा उन्होंने उसे कुचा घासी राम इलाके से एक जानकार के पास से दो लाख रूपये लाने के लिए भेजा था, जिस पैसे को वो आईपीएल मैच के दौरान लगने वाले सट्टा में हार गया. इसलिए ही उसने इस वारदात की स्क्रीप्ट लिखी थी. इस घटनाक्रम को सही बनाने के लिए ही उसने पीसीआर कॉल किया और मामले को घुमाने का प्रयास किया. पूछताछ के दौरान आरोपी ने अपने एक सहयोगी आरोपी का नाम भी लिया, जिसने इस अपराध में उसके साथ था. उस दूसरे आरोपी का नाम है रौनक है जो यूपी के गाज़ियाबाद में अंकुर विहार इलाके में रहता है. लिहाजा इस मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस की टीम ने रौनक और राजन दोनों को गिरफ्तार कर लिया. 24 घंटे के अंदर ही इस मामले में शामिल रहे दोनों आरोपियों को गिरफ्तार करके तीस हजारी कोर्ट में पेश किया गया जहां से उन दोनों को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है. इसके साथ ही इस मामले में जिला के वरिष्ठ अधिकारियों ने अपने इन तीनों पुलिस कर्मियों की सराहना करते हुए इस शानदार तफ्तीश की तारीफ भी की .
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज