• Home
  • »
  • News
  • »
  • delhi-ncr
  • »
  • PM मोदी के चहेते दिल्ली पुलिस के नये कमिश्नर को ऐसे पहचानिए, चारा घोटाले से लेकर आसाराम तक का कनेक्शन

PM मोदी के चहेते दिल्ली पुलिस के नये कमिश्नर को ऐसे पहचानिए, चारा घोटाले से लेकर आसाराम तक का कनेक्शन

आईपीएस राकेश अस्थाना दिल्ली पुलिस के नए कमिश्नर बने हैं.

आईपीएस राकेश अस्थाना दिल्ली पुलिस के नए कमिश्नर बने हैं.

Delhi Police News: रिटायरमेंट से ठीक 3 दिन पहले दिल्ली पुलिस के कमिश्नर (Police Commissioner) का पद संभालने वाले आईपीएस राकेश अस्थाना (IPS Rakesh Asthana) की पहचान बेहतरीन सिटी-पुलिसिंग के लिए माने जाने वाले अफसर के रूप में होती है. चारा घोटाला मामले में पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव के खिलाफ जांच के लिए भी लिया जाता है नाम.

  • Share this:
    नई दिल्ली. आगामी 31 जुलाई को रिटायर होने से पहले ही दिल्ली पुलिस के कमिश्नर (Delhi Police Commissioner) बनाए गए आईपीएस अधिकारी राकेश अस्थाना (IPS Rakesh Asthana) सुर्खियों में रहने वाले अफसर माने जाते हैं. हाल ही में सीबीआई (CBI) के निदेशक पद की दौड़ में शामिल रहे अस्थाना ने अपनी पहचान तेज-तर्रार, स्मार्ट और कड़क अधिकारी के रूप में बनाई है. पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के चहेते अधिकारी माने जाने वाले अस्थाना अब अगले एक साल तक देश की सबसे स्मार्ट पुलिस मानी जाने वाली दिल्ली पुलिस के मुखिया होंगे.

    सिटी-पुलिसिंग के बेहद अनुभवी रहे इस अधिकारी की नई ताजपोशी के बाद कुछ चुनिंदे काम याद आना लाजिमी हैं. चाहे वह चारा घोटाला मामला हो या सुशांत सिंह राजपूत ड्रग्स कनेक्शन केस या फिर सीबीआई निदेशक विवाद. आइए जानते हैं आईपीएस राकेश अस्थाना से जुड़ी वो बातें, जिनसे उन्हें पहचानना आसान हो जाता है.

    नेतरहाट विद्यालय का मेधावी छात्र
    अविभाजित बिहार और वर्तमान झारखंड के सबसे बेहतरीन स्कूलों में से एक नेतरहाट विद्यालय को मेधावी छात्रों की फैक्ट्री के रूप में जाना जाता है. यहां से निकलने वाले अनगिनत विद्यार्थी आज की तारीख में राजनीति, फिल्म, ब्यूरोक्रेसी आदि में अपने नाम व शोहरत के लिए जाने जाते हैं. आईपीएस राकेश अस्थाना भी इसी नेतरहाट विद्यालय के छात्र रहे हैं. नेतरहाट विद्यालय में 1971 बैच के छात्र रहे राकेश अस्थाना ने बाद में जेएनयू से पढ़ाई की और 1984 बैच के आईपीएस अफसर बने. उन्होंने कुछ दिन तक रांची के प्रसिद्ध सेंट जेवियर कॉलेज में अध्यापन का काम भी किया है. अविभाजित बिहार में जन्मे राकेश अस्थाना के दिल्ली पुलिस का प्रमुख बनने से झारखंड के इस विद्यालय की उपलब्धियों की लिस्ट में एक और संख्या बढ़ गई है.

    चारा घोटाले में लालू से पूछताछ
    संयुक्त बिहार में ही राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री को सलाखों के पीछे भेजने वाले अधिकारी के रूप में भी राकेश अस्थाना की पहचान है. सीबीआई के एसपी के रूप में उन्होंने लालू यादव के खिलाफ चारा घोटाला मामले में चार्जशीट दायर की थी. इसके बाद लालू यादव से 5 घंटे से अधिक समय तक पूछताछ करने को लेकर उस समय अस्थाना ने खूब सुर्खियां बटोरी थीं. दरअसल, कड़क-मिजाजी के लिए जाने जाने वाले राकेश अस्थाना के बारे में राजद कार्यकर्ताओं को भी भली-भांति पता था. इसलिए जब लालू यादव से पूछताछ के लिए सीबीआई के तत्कालीन डायरेक्टर यूएन विश्वास ने राकेश अस्थाना को भेजा, तो पार्टी के कार्यकर्ता सकते में आ गए. उन्होंने घंटों तक अस्थाना का रास्ता रोकने की कोशिश की, लेकिन नाकाम रहे. यही वजह है कि आज भी चारा घोटाला मामले में जब-जब लालू यादव के खिलाफ सीबीआई की भूमिका की बात होती है, अस्थाना के नाम का जिक्र आ ही जाता है.

    आसाराम के बेटे को भी आती होगी याद
    अपने आश्रम में नाबालिग बच्ची के साथ यौन उत्पीड़न का आरोपी कथित संत आसाराम बापू इन दिनों जोधपुर जेल में सजा काट रहा है. उसके बेटे नारायण साईं की गिरफ्तारी को लेकर भी अस्थाना चर्चित रहे हैं. यह 2008 की बात है, जब वे सूरत में बड़े पुलिस अधिकारी के पद पर तैनात थे. उस समय आसाराम मामले में जब उसके बेटे नारायण को गिरफ्तार करने की बात आई, तो राज्य सरकार ने यह जिम्मेदारी अस्थाना को ही सौंपी थी.

    सीबीआई निदेशक विवाद में चर्चित अफसर
    सुर्खियों में रहने वाले राकेश अस्थाना के करियर से जुड़ा एक मामला सीबीआई निदेशक विवाद का भी है. पूर्व सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा के विरुद्ध रिपोर्ट दर्ज कराने वाले अस्थाना का यह मामला अदालत तक भी पहुंचा था. यह मामला सुर्खियों में इसलिए आया था क्योंकि निदेशक आलोक वर्मा और कार्यकारी निदेशक राकेश अस्थाना, दोनों ने ही एक दूसरे के ऊपर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए थे. यह मामला इतना गंभीर था कि केंद्रीय सतर्कता आयोग के रास्ते अदालत तक पहुंचा, जिसके बाद केंद्र सरकार ने दोनों को ही सीबीआई से हटा दिया. याद रखने वाली बात यह है कि कुछ दिन पहले ही राकेश अस्थाना को एक बार फिर सीबीआई का निदेशक बनाए जाने की खबरें आई थीं, लेकिन ऐसा न हो सका.

    सुशांत राजपूत ड्रग्स कनेक्शन केस
    राकेश अस्थाना से जुड़ा सबसे ताजा मामला बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत मर्डर मिस्ट्री का भी है. इस मामले में ड्रग्स कनेक्शन की जांच की बात उठी, उस समय भी अस्थाना चर्चा में आए, क्योंकि वे नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो के प्रमुख भी थे. केंद्र सरकार ने सीमा सुरक्षा बल का प्रमुख बनाने के साथ-साथ उन्हें NCB के डीजी (अतिरिक्त प्रभार) पद की जिम्मेदारी भी सौंप रखी थी. यह मामला काफी चर्चा में रहा क्योंकि ड्रग्स कनेक्शन में बॉलीवुड की कई नामी-गिरामी हस्तियों के नाम सामने आए थे. अस्थाना की निगरानी में ही ब्यूरो की टीम ने सुशांत सिंह राजपूत मर्डर केस में ड्रग्स कनेक्शन की जांच शुरू की थी.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज