होम /न्यूज /दिल्ली-एनसीआर /नई दिल्‍ली स्‍टेशन आईआरसीटीसी की बेस किचन पूरी तरह से शाकाहारी और हाइजीनिक, मिला सात्विक सर्टिफिकेट

नई दिल्‍ली स्‍टेशन आईआरसीटीसी की बेस किचन पूरी तरह से शाकाहारी और हाइजीनिक, मिला सात्विक सर्टिफिकेट

सात्विक काउंसिल ऑफ इंडिया ने सात्विक सार्टिफिकेट दिया.

सात्विक काउंसिल ऑफ इंडिया ने सात्विक सार्टिफिकेट दिया.

पिछले दिनों इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्‍म कॉरपोरेशन ने सात्विक काउंसिल ऑफ इंडिया से एक समझौता किया है. काउंसिल इन ट ...अधिक पढ़ें

    नई‍ दिल्‍ली. नई दिल्‍ली रेलवे स्‍टेशन में आईआरसीटीसी (IRCTC) की बेस किचन पूरी तरह से शाकाहारी और हाइजीनिक है. यानी इस बेस किचन पर पका खाना स्‍वास्‍थ्‍य के लिए अच्‍छा होगा और शाकाहारी लोग आंख मूंदकर यहां का खाना खा सकते हैं. इस बेस किचन को सात्विक काउंसिल ऑफ इंडिया ने सात्विक सार्टिफिकेट दिया है. सर्टिफिकेट के मुताबिक पहली जुलाई से किचन सात्विक हो चुकी है. भारतीय रेलवे (Indian Railway) ने इसकी शुरुआत कर दी है.

    पिछले दिनों इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्‍म कॉरपोरेशन (Indian Railway Catering and Tourism Corporation) ने सात्विक काउंसिल ऑफ इंडिया से एक समझौता किया है. काउंसिल इन ट्रेनों और बेस किचन को सात्विक होने का सर्टिफकेट देगा. नई दिल्‍ली स्‍टेशन की बेस किचन इसी की शुरुआत है.

    ये भी पढ़ें: यात्रियों के सुझाव के बाद रेलवे ने श्री रामायण यात्रा ट्रेन के शेड्यूल में किया परिवर्तन, जानें नया शेड्यूल

    ट्रेनों में सफर करने वाले बहुत सारे यात्री ट्रेनों में परोसा जाने वाला खाना इसलिए नहीं खाते हैं कि उन्‍हें यह पता नहीं होता, कि खाना पूरी तरह शाकाहारी और हाइजीनिक है. यानी खाने बनाने के दौरान साफ सफाई का कितना ध्‍यान रखा गया है, शाकाहारी किचन में मांसाहारी (Non veg) खाना तो नहीं पकाया गया है. खाना तैयार करने से लेकर सर्व करने तक क्‍या प्रक्रिया है. यात्रियों की परेशानी को देखते हुए आईआरसीटीसी ने सात्विक काउंसिल ऑफ इंडिया के साथ समझौता किया है. इसी के तहत बेस किचन को सात्विक सर्टिफिकेट दिया गया है.

    Indian Railway news, IRCTC news, train news, Indian Railway Catering and Tourism Corporation news, Sattvik news, Sattvik Council of India news

    बेस किचन के साथ ट्रेनों, लाउंज और फूड स्‍टॉल को भी सात्विक करने की योजना.

    ये ट्रेनें भी होंगी सात्विक

    रेलवे मंत्रालय के अनुसार धार्मिक स्‍थलों को जाने सभी ट्रेनों को सात्विक करने की तैयारी है. क्‍योंकि धार्मिक स्‍थल की ओर जाने वाली ट्रेनों में ज्‍यादातर लोग श्रद्धालु होते हैं जो पूरी अस्‍था और श्रद्धा के साथ दर्शन के लिए जा रहे होते हैं. उस दौरान यात्रियों के आसपास बैठा कोई व्‍यक्ति अगर मांसाहारी खाएगा तो दर्शन के लिए जा रहा व्‍यक्ति असहज हो सकता है. मसलन वैष्णो देवी के जाने वाली वंदेभारत हो या फिर भगवान श्रीराम के संबंधित स्‍थलों के दर्शन कराने वाली रामायाण स्‍पेशल ट्रेन हो, इसमें सफर करने वाले ज्‍यादातर यात्री ऐसे होंगे जो पूरी तरह से सात्विक खाना पसंद करेंगे.

    ये भी पढ़ें: रेलवे चलाएगा श्रीरामायण यात्रा की तरह मथुरा सर्किट ट्रेन, जानें योजना

    ये हैं मानक

    सात्विक का सर्टिफिकेट देने से पहले कई तरह की प्रक्रिया होंगी. इसमें खाना बनाने की विधि, किचन, परोसने और सर्व करने के बर्तन, रखने का तरीका तय किया जाएगा, सभी प्रक्रिया से गुजरने के बाद ही सर्टिफि‍केट दिया जाएगा. उन्‍होंने बताया कि बेस किचन के साथ ट्रेनों, लाउंज और फूड स्‍टॉल को भी सात्विक करने की योजना है.

    Tags: Indian railway, Indian Railway Catering and Tourism Corporation, Indian Railway news, Indian Railways, Irctc

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें