Home /News /delhi-ncr /

26 जनवरी: दिल्ली में सुरक्षा व्यवस्था सख्त, चेहरे पहचानने वाले लगाए जाएंगे इजरायली सिस्टम, ऐसी है तैयारी

26 जनवरी: दिल्ली में सुरक्षा व्यवस्था सख्त, चेहरे पहचानने वाले लगाए जाएंगे इजरायली सिस्टम, ऐसी है तैयारी

रक्षामंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक़, पिछले साल भी पूरे परेड को राजपथपर देखने वालों की संख्या की 25000 तक सीमित किया गया था. सांकेतिक तस्वीर)

रक्षामंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक़, पिछले साल भी पूरे परेड को राजपथपर देखने वालों की संख्या की 25000 तक सीमित किया गया था. सांकेतिक तस्वीर)

Republic Day: कोरोना काल से पहले तक़रीबन 32 हज़ार टिकट जारी किये जाते थे, जिन्हें पिछले साल कम करके 7500 किया गया और इस साल तो इस और घटाकर सिर्फ़ 4000 कर दिया गया. इस बार ज़्यादातर लोगों के टीवी के ज़रिए ही गणतंत्र दिवस समारोह को देखना पड़ेगा. वहीं पिछले साल की तरह ही इस बार भी परेड सिर्फ़ 3.3 किलोमीटर तक यानी की विजय चौक से नेशनल स्टेडियम तक ही जाएगी. जबकि झाकियां 8.2 किलोमीटर तक यानी लाल क़िले तक जाएगी.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. कोरोना वायरस (Corona Virus) ने सभी त्योहारों का रंग फीका कर दिया है. बड़े आयोजन और समारोह कोरोना की गाइडलान के तहत ही आयोजित किए जा रहे है. और इसका असर इस बार एक बार फिर गणतंत्र दिवस (Republic Day) के समारोह में दिखाई देगा. इस साल पहली बार सेंट्रल विस्ता (Central Vista)  के अंतर्गत बने राजपथ पर परेड का आयोजन होना है. ज़मीन पर तैयारी भी जोरो पर है. परेड की तैयारियां लगातार जारी है तो काग़ज़ों पर तैयार किए गए समारोह के प्रोटोकॉल भी तैयार हो गए हैं. पिछली बार की तरह इस बार भी दिल्ली में राजपथ पर परेड देखने की चाहत रखने वाले दर्शकों को निराशा होगी, क्योंकि रक्षा मंत्रालय ने दर्शकों की संख्या को सीमित कर दिया है.

रक्षामंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक़, पिछले साल भी पूरे परेड को राजपथपर देखने वालों की संख्या की 25000 तक सीमित किया गया था. लेकिन इस साल इसमें 1000 और कटौती कर दी गई है. इस बार 20000 इंवीटेश्न ही दिए जा रहे है, जबकि महज 4000 टिकट ही उपलब्ध कराए जा रहे हैं. यानी कुल मिलाकर 24000 दर्शक ही इस बार राजपथ पर उपस्थित रहेंगे.

32 हज़ार टिकट जारी किये जाते थे
कोरोना काल से पहले तक़रीबन 32 हज़ार टिकट जारी किये जाते थे, जिन्हें पिछले साल कम करके 7500 किया गया और इस साल तो इस और घटाकर सिर्फ़ 4000 कर दिया गया. इस बार ज़्यादातर लोगों के टीवी के ज़रिए ही गणतंत्र दिवस समारोह को देखना पड़ेगा. वहीं पिछले साल की तरह ही इस बार भी परेड सिर्फ़ 3.3 किलोमीटर तक यानी की विजय चौक से नेशनल स्टेडियम तक ही जाएगी. जब्कि झाकियां 8.2 किलोमीटर तक यानी लाल क़िले तक जाएगी.

21 झांकियां शामिल हैं
इस बार के गणतंत्र दिवस समारोह में 21 झांकियां शामिल हैं. रक्षामंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक, इस बार 15 साल से कम और साठ साल से ज़्यादा उम्र के लोगों को राजपथपर समारोह में शामिल होने की अनुमति नहीं दी गई है. यही नही टिकट भी उन्हीं को बेचे जाएंगे जिन्हें कोविड वैक्सीन की डबल डोज लगी हो. पूरे समारोह के दौरान कोरोना ने नियमों का सख़्ती से पालन करना होगा.

हर बार RTPCR रिपोर्ट दिखाना जरूरी होगा
वहीं, DCP नई दिल्ली जिला पुलिस दीपक यादव ने कहा कि सुरक्षा को देखते हुए बहुत ही पुख्ता इंतजाम किए गए हैं. उनके मुताबिक, कार्यक्रम में बच्चों के आने का परमिशन नहीं है. DCP ने कहा कि 26 जनवरी के दिन दिल्ली पुलिस, पैरामिलिट्री औऱ तमाम एजेंसी फोर्सेस को मिलाकर 50 हजार जवान और अधिकारी सुरक्षा बेड़े में तैनात रहेंगे. वहीं, 2 एन्टी ड्रोन सिस्टम लगाया जा रहा है. इसके अलावा कई अत्याधुनिक उपकरणों के साथ जवान भी तैनात रहेंगे. दिल्ली पुलिस के करीब 500 अत्याधुनिक CCTV कैमरे लगाए जाएंगे. इजरायल सॉफ्टवेयर से लैश चेहरे पहचानने वाले सिस्टम भी लगाए जाएंगे. साथ ही पीएम सुरक्षा से जुड़े अधिकारियों स्टाफ का हर बार RTPCR रिपोर्ट दिखाना जरूरी होगा.

Tags: 26 January Parade, Delhi news, Delhi news update, Delhi police, Republic Day Celebration

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर