इटली ने भारत के साथ कायम की दोस्ती की मिसाल, 48 घंटे में तैयार किया Oxygen Plant, 100 बेड पर सीधे मिलेगी ऑक्सीजन

आईटीबीपी के सीएपीएफ रेफरल अस्पताल, ग्रेटर नोएडा में इटली के सहयोग से Oxygen Plant स्थापित स्थापित किया गया है.

आईटीबीपी के सीएपीएफ रेफरल अस्पताल, ग्रेटर नोएडा में इटली के सहयोग से Oxygen Plant स्थापित स्थापित किया गया है.

Oxygen Crisis in Delhi : भारत और इटली के बीच मित्रता का एक बड़ा उदाहरण देखने को मिल रहा है. इटली से मंगाए गए ऑक्सीजन प्लांट को अब आईटीबीपी (ITBP) के सीएपीएफ रेफरल अस्पताल (CAPF Refferal Hospital) , ग्रेटर नोएडा में इटली (Italy) के सहयोग से स्थापित स्थापित किया गया है. प्लांट से एक समय में 100 मरीजों को हाई स्पीड ऑक्सीजन मुहैया करवाई जा सकती है. यह प्लांट सिर्फ 48 घंटे में स्थापित कर दिया गया है.

  • Share this:

नई दिल्ली. दिल्ली (Delhi) में तेजी से फैलते कोरोना संक्रमण और उससे होने वाली मौतों को रोकने के लिए हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं. ऐसे में अस्पतालों में आईसीयू बेड, ऑक्सीजन और दवाइयों की कमी को पूरा करने के लिए भी कोशिश की जा रही है. भारत दुनिया के दूसरे मित्र देशों से भी इन चीजों को आयात कर पूर्ति करने की कोशिश में जुटा है.

इस दौरान भारत और इटली के बीच मित्रता का एक बड़ा उदाहरण देखने को मिल रहा है. इटली से मंगाए गए ऑक्सीजन प्लांट को अब आईटीबीपी (ITBP) के सीएपीएफ रेफरल अस्पताल (CAPF Refferal Hospital) , ग्रेटर नोएडा में इटली (Italy) के सहयोग से स्थापित स्थापित किया गया है.

Coronavirus, COVID-19, India, Italy, Oxygen Plant, CAPF Refferal Hospital, ITBP, Greater Noida, Italian Ambassador, Ambassador Vincenzo de luca, कोरोनावायरस, कोविड-19, भारत, इटली, ऑक्सीजन प्लांट, सीएपीएफ सीएपीएफ रेफरल अस्पताल
आईटीबीपी के सीएपीएफ रेफरल अस्पताल, ग्रेटर नोएडा में इटली के सहयोग से Oxygen Plant स्थापित स्थापित किया गया है.

इस प्लांट के स्थापित होने से 100 बेड पर सीधे मरीजों को ऑक्सीजन उपलब्ध हो सकेगा. अच्छी बात यह है कि इस प्लांट को सिर्फ 48 घंटे के भीतर ही स्थापित करने का काम पूरा किया जा सका है.
इस ऑक्सीजन प्लांट को इटली के भारतीय राजदूत विन्सेन्ज़ो डी लुका (Ambassador Vincenzo de luca) ने स्विच ऑन किया और संयंत्र को इस अस्पताल को समर्पित किया.

एक समय में 100 मरीजों को मिलेगी हाई स्पीड ऑक्सीजन 

प्राकृतिक ऑक्सीजन (Oxygen) से ही ऑक्सीजन उत्पादन और आपूर्ति करने में सक्षम इस संयंत्र से एक समय में 100 मरीजों को हाई स्पीड ऑक्सीजन मुहैया करवाई जा सकती है. यह संयंत्र सिर्फ 48 घंटे में स्थापित कर दिया गया है.



दोनों देशों के बीच मित्रता और एकजुटता का प्रतीक है प्लांट: राजदूत लुका

राजदूत लुका ने इस कार्यक्रम में कहा कि संयंत्र स्थायी रूप से इस अस्पताल में स्थापित हुआ है और यह दोनों देशों के बीच मित्रता और एकजुटता का प्रतीक है.

उन्होंने कहा कि पिछले साल जब भारत (India) में कुछ इतालवी पर्यटकों (लगभग 17) का इलाज ITBP मेडिकल सेटअप द्वारा किया गया था, जो उनको हमेशा याद रहेगा. उन्होंने कहा कि वे यह नहीं भूलते (भारत द्वारा इशारा) कि भारत के साथ यह दोस्ती और एकजुटता जारी रहेगी.

Coronavirus, COVID-19, India, Italy, Oxygen Plant, CAPF Refferal Hospital, ITBP, Greater Noida, Italian Ambassador, Ambassador Vincenzo de luca, कोरोनावायरस, कोविड-19, भारत, इटली, ऑक्सीजन प्लांट, सीएपीएफ सीएपीएफ रेफरल अस्पताल

आईटीबीपी के सीएपीएफ रेफरल अस्पताल, ग्रेटर नोएडा में इटली के सहयोग से Oxygen Plant स्थापित स्थापित किया गया है.

इस अवसर पर आईटीबीपी (ITBP) एडीजी मनोज सिंह रावत ने इतालवी राजदूत (Italian Ambassador) को बल की ओर से धन्यवाद देते हुए कहा कि इस संयंत्र की स्थापना के लिए बल उनका आभारी है.

मैन्युअल ऑक्सीजन पर से निर्भरता न्यूनतम हो जाएगी

इस मौके पर रेफरल अस्पताल के आईजी मेडिकल डी सी डिमरी ने कहा कि इस प्लांट की स्थापना से अस्पताल की मैन्युअल ऑक्सीजन पर से निर्भरता न्यूनतम हो जाएगी और मरीजों को सीधे उनके बेड पर आवश्यकतानुसार ऑक्सीजन उपलब्ध हो सकेगा.

Coronavirus, COVID-19, India, Italy, Oxygen Plant, CAPF Refferal Hospital, ITBP, Greater Noida, Italian Ambassador, Ambassador Vincenzo de luca, कोरोनावायरस, कोविड-19, भारत, इटली, ऑक्सीजन प्लांट, सीएपीएफ सीएपीएफ रेफरल अस्पताल

आईटीबीपी के सीएपीएफ रेफरल अस्पताल, ग्रेटर नोएडा में इटली के सहयोग से Oxygen Plant स्थापित स्थापित किया गया है.

इस मौके पर अस्पताल और इतालवी दूतावास और सबंधित कंपनी के अधिकारी भी मौजूद थे. केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों को समर्पित इस अस्पताल में 100 से अधिक COVID-19 बेड उपलब्ध हैं, जिनमें अब इस प्लांट के माध्यम से ही निर्बाध मेडिकल ऑक्सीजन की आपूर्ति शुरू हो गई है.

कोरोना काल में इस अस्पताल ने सेवारत और सेवानिवृत्त केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों और उनके परिवारों के इलाज में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज