रेलवे के जयपुर डिवीजन को मिले 10 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर, एक समय में 2 मरीजों को मिल सकेगी Oxygen

रेल कर्मियों के लिए ऑक्सीजन कंसंट्रेटर जैसी मशीनें भी उपलब्ध कराई जा रही हैं.

रेल कर्मियों के लिए ऑक्सीजन कंसंट्रेटर जैसी मशीनें भी उपलब्ध कराई जा रही हैं.

Indian Railways News: भारतीय रेलवे को विभिन्न प्रकार के बियरिंग्स के एक प्रमुख आपूर्तिकर्ता ने 10 लीटर क्षमता वाले ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर प्रदान करके सहायता की है. जयपुर मंडल को प्रदान किये गये यह कंसेंट्रेटर दोहरे नोजल वाले विशेष कंसेंट्रेटर हैं जो जरूरत पड़ने पर एक समय में दो रोगियों की मदद कर सकते हैं.

  • Share this:

नई दिल्ली. कोरोना (Corona) संक्रमण की चपेट में रेलवे कर्मचारी भी तेजी से आ रहे हैं. कोरोना संक्रमण के तेजी से प्रसार होने के बाद भी रेलवे (Railway) कर्मचारी पूरी मुस्तैदी से अपनी ड्यूटी कर रहे हैं. ऐसे में वह लगातार कोरोना की चपेट में भी आ रहे हैं.

उधर, रेल कर्मियों के लिए चिकित्सा सुविधा और ऑक्सीजन (Oxygen) की पर्याप्त व्यवस्था को लेकर भी रेलवे लगातार प्रयासरत है. अब इसमें सहयोग करने के लिए कॉरपोरेट कंपनियां भी आगे आ रही हैं और रेल कर्मियों के लिए ऑक्सीजन कंसंट्रेटर (Oxygen Concentrators) जैसी मशीनें भी उपलब्ध करा रही हैं.

कोविड -19 (COVID-19) से लड़ने के लिए, एनबीसी लिमिटेड (एक सीके बिड़ला समूह की कंपनी) और भारतीय रेलवे (Indian Railway) को विभिन्न प्रकार के बियरिंग्स के एक प्रमुख आपूर्तिकर्ता ने 10 लीटर क्षमता वाले ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर प्रदान करके जयपुर मंडल (Jaipur Division) की सहायता की है. ये दोहरे नोजल वाले विशेष कंसेंट्रेटर हैं जो जरूरत पड़ने पर एक समय में दो रोगियों की मदद कर सकते हैं.

Youtube Video

जयपुर मंडल में 09 स्वास्थ्य इकाइयां और उप-मंडल अस्पताल हैं जो क्षेत्र में और छोटी इकाइयों में अपने कर्मचारियों की सेवा करते हैं. ये ऑक्सीजन कंसेट्रेटर इन छोटी स्वास्थ्य इकाइयों को बढ़ाने और उन्नत करने में जयपुर मंडल को बढ़ावा देंगे.

इस अवसर पर जयपुर मंडल डीआरएम मंजूषा जैन ने एनबीसी पहल की सराहना की है. एनबीसी अधिकारियों ने यह भी कहा है कि एनबीसी बियरिंग 1952 से भारतीय रेलवे से जुड़ी हुई है. भारतीय रेलवे को घरेलू स्तर पर निर्मित टेलर-मेड बियरिंग्स प्रदान कर रही है. साथ ही, कोविड 19 की वर्तमान स्थिति में एनबीसी सहायता के लिए तत्पर है और वर्तमान स्थिति से निपटने में योगदान देना जारी रखेगा और जीवन बचाने में मदद करेगा.

इस अवसर पर डीआरएम जयपुर मंजूषा जैन के अलावा कैप्टन अमित स्वामी सीनियर डीएमई जयपुर एवं मुकेश सैनी सीनियर डीसीएम उपस्थित थे. एनबीसी की ओर से गिरिराज माहेश्वरी- बिजनेस हेड रेलवे, रवि शर्मा वरिष्ठ प्रबंधक-रेलवे, शुभम मुंद्रा-उप. प्रबंधक रेलवे, अमरेन्द्र सिंह-सहयोगी प्रबंधक रेलवे उपस्थित थे.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज