लाइव टीवी

जामिया कॉर्डिनेशन कमेटी का दावा- VIDEO में दिखे छात्रों के हाथ में पत्थर नहीं पर्स था
Delhi-Ncr News in Hindi

News18Hindi
Updated: February 17, 2020, 8:02 PM IST
जामिया कॉर्डिनेशन कमेटी का दावा- VIDEO में दिखे छात्रों के हाथ में पत्थर नहीं पर्स था
इस वीडियो को पुलिस की लाठीचार्ज से ठीक पहले हुई घटना का वीडियो बताया जा रहा.

जामिया कॉर्डिनेशन कमेटी ने कहा कि मीडिया के कुछ बंधु सच को बिना जाने ये न्यूज़ चला रहे हैं कि लाइब्रेरी के अंदर इस स्टूडेंट के हाथ में पत्थर है जबकि आप गौर से देखेंगे तो आपको नज़र आयेगा कि इस वीडियो में दिखने वाले स्टूडेंट्स के हाथ में पत्थर नहीं बल्कि पर्स है जो कि बीच में खुला भी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 17, 2020, 8:02 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. जामिया मिल्लिया इस्लामिया (Jamia Millia Islamia) में पिछले साल 15 दिसंबर को दिल्ली पुलिस (Delhi Police) और छात्रों के बीच हुई झड़प का वीडियो सामने आया. जिसमें सुरक्षाबल लाइब्रेरी में मौजूद छात्रों पर डंडे बरसाते नजर आ रहे थे तो वहीं इसके बाद एक और नया वीडियो सामने आया जिसमें कुछ छात्र लाइब्रेरी में घुसते हुए दिखाई दे रहे हैं. जिनके हाथ में पत्थर भी हैं. इस पर जामिया कॉर्डिनेशन कमेटी ने ऐतराज जताते हुए कहा कि वीडियो में दिखने वाले छात्रों के हाथ में पत्थर नहीं थे.

जामिया कॉर्डिनेशन कमेटी ने कहा कि मीडिया के कुछ बंधु सच को बिना जाने ये न्यूज़ चला रहे है कि लाइब्रेरी के अंदर इस स्टूडेंट के हाथ में पत्थर है जबकि आप गौर से देखेंगे तो आपको नज़र आयेगा कि इस वीडियो में दिखने वाले स्टूडेंट्स के हाथ में पत्थर नहीं बल्कि पर्स है जो कि बीच में खुला भी है.

उन्होंने कहा कि लाइब्रेरी में पढ़ने वाले स्टूडेंट्स अक्सर अपने पीछे के पॉकेट में पड़े पर्स को पढ़ते वक्त टेबल पे निकाल कर रख देते है ताकि चेयर पे बैठने में कोई परेशानी न हो और आराम से बैठ कर पढ़ाई कर सकें. मीडिया के उस सेक्शन जो सच को जाने बिना स्टूडेंट के हाथ में पर्स की जगह पत्थर दिखा है. यह घोर निंदनीय है.

ये था पूरा मामला



बता दें कि नागरिकता संशोधन कानून 2019 (CAA 2019) पारित होने के तुरंत बाद जामिया मिलिया इस्‍लामिया (Jamia Millia University) के स्‍टूडेंट्स ने इसके विरोध में प्रदर्शन किया. विरोध में निकाला गया मार्च जल्‍द ही हिंसक (Violence) प्रदर्शन में तब्‍दील हो गया. इसके बाद दिल्‍ली पुलिस (Delhi Police) ने स्‍टूडेंट्स पर जमकर लाठी चलाई. उस समय पुलिस पर आरोप लगा कि जामिया की लाइब्रेरी में बैठे स्‍टूडेंट्स के साथ बर्बरता की गई. साथ ही पुलिस पर लाइब्रेरी में घुसकर तोड़फोड़ का आरोप भी लगाया गया. पुलिस ने सफाई में कहा कि स्‍टूडेंटस पर हल्‍का बल प्रयोग किया गया था.

ये भी पढ़ें:

शरारती तत्वों से निपटते वक्त दिल्ली पुलिस को संयम बरतना चाहिए: अमित शाह

केजरीवाल तीसरी बार बने दिल्‍ली के CM, सिसोदिया समेत ये नेता बने मंत्री

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 17, 2020, 7:56 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर