दिल्ली: जामिया कोऑर्डिनेशन कमेटी की मीडिया प्रभारी सफुरा जर्गर गिरफ्तार
Delhi-Ncr News in Hindi

दिल्ली: जामिया कोऑर्डिनेशन कमेटी की मीडिया प्रभारी सफुरा जर्गर गिरफ्तार
जामिया मिल्लिया इस्लामिया में एम फिल की छात्रा सफूरा जारगर चार माह की गर्भवती हैं.

सफुरा जर्गर (Safoora Zargar) पर आरोप है कि उसने सीएए के खिलाफ प्रदर्शन के लिए जाफराबाद मेट्रो स्टेशन के नीचे भीड़ को जुटाया था और रास्ता भी रोका था.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
नई दिल्ली. दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने शनिवार को जामिया कोऑर्डिनेशन कमेटी (Jamia Coordination Committee) की मीडिया प्रभारी सफुरा जर्गर (Safoora Zargar) को गिरफ्तार कर लिया है. सफुरा पर नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ भीड़ को जुटाने का आरोप है. उस पर आरोप है कि उसने सीएए के खिलाफ प्रदर्शन के लिए जाफराबाद मेट्रो स्टेशन के नीचे भीड़ को जुटाया था और रास्ता भी रोका था. वह जाफराबाद मेट्रो स्टेशन पर प्रोटेस्ट में कई बार देखी भी गई थी.

दिल्ली पुलिस के जॉइंट सीपी आलोक कुमार ने कहा कि पुलिस ने जामिया कोऑर्डिनेशन कमेटी की मीडिया कोऑर्डिनेटर सफुरा जर्गर को गिरफ्तार किया है. सफुरा पर दिल्ली के नॉर्थ-ईस्ट जिले के जाफराबाद में सीएए विरोधी प्रदर्शन आयोजित करने का आरोप है.'





क्या है सीएए?
उल्लेखनीय है कि संशोधित नागरिकता कानून के तहत पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश में धार्मिक उत्पीड़न के कारण देश में शरण लेने आए हिंदू, ईसाई, सिख, पारसी, जैन और बौद्ध धर्म के उन लोगों को भारत की नागरिकता दी जाएगी, जिन्होंने 31 दिसंबर 2014 तक भारत में प्रवेश कर लिया था. ऐसे सभी लोग भारत की नागरिकता के लिए आवेदन कर सकेंगे. इस कानून के विरोधियों का कहना है कि इसमें सिर्फ गैरमुस्लिमों को ही नागरिकता देने की बात कही गई है. इसलिए यह कानून धार्मिक भेदभाव वाला है, जो कि संविधान के अनुच्छेद 14 का उल्लंघन है.

ये भी पढ़ें-

'सरकार की गाइडलाइन का पालन करेंगे, 4 से ज्यादा लोग चर्च के अंदर नहीं रहेंगे'

Covid-19: दिल्ली में मामले 1000 के पार, अब तक 19 मरीजों की मौत
First published: April 12, 2020, 1:05 AM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading