गिरफ्तार नाबालिग ने कहा- जामिया में फायरिंग करने का नहीं कोई अफसोस, लेना चाहता था बदला
Delhi-Ncr News in Hindi

गिरफ्तार नाबालिग ने कहा- जामिया में फायरिंग करने का नहीं कोई अफसोस, लेना चाहता था बदला
आरोपी नाबालिग ने गुरुवार को जामिया इलाके में सरेआम फायरिंग कर हड़कंप मचा दिया था

दिल्ली पुलिस (Delhi Police) के सूत्रों का कहना है कि आरोपी नाबालिग ने अपने बयान में कहा कि मुझे अपने किये का कोई पछतावा नहीं है, चाहे मेरा एनकाउंटर कर दो. पूछताछ में उसने यह भी बताया कि वो दिल्ली अकेले आया था. जिसके बाद वो गुरुवार दोपहर करीब 11 बजे जामिया (Jamia) पहुंचा था

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 31, 2020, 2:01 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. जामिया मिलिया इस्लामिया (Jamia Millia Islamia) के पास गुरुवार को पिस्टल से फायरिंग करने वाले नाबालिग लड़के (Minor Boy) को इसका घटना पर कोई मलाल नहीं है. न्यूज़ एजेंसी एएनआई के अनुसार आरोपी ने पुलिस की पूछताछ में अब तक किसी भी संगठन से जुड़े होने की बात नहीं स्वीकारी है. दिल्ली पुलिस (Delhi Police) के सूत्रों का कहना है कि आरोपी सोशल मीडिया (Social Media) पर वीडियो देखने के बाद कट्टर हुआ. सूत्रों ने बताया कि आरोपी नाबालिग जनवरी 2018 में यूपी के कासगंज में चंदन गुप्ता की हुई हत्या का बदला लेना चाहता था. यह भी जानकारी मिल रही है कि दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच इस नाबालिग लड़के को शुक्रवार को किशोर न्याय बोर्ड (जस्टिस जुवेनाइल बोर्ड) के सामने पेश करेगी.
कर दो एनकाउंटर, लेकिन...दिल्ली पुलिस के सूत्रों का कहना है कि आरोपी ने अपने बयान में कहा है कि मुझे अपने किये का कोई पछतावा नहीं है, चाहे मेरा एनकाउंटर कर दो. पुलिस सूत्रों के मुताबिक, आरोपी नाबालिग ने पूछताछ में बताया कि वो दिल्ली अकेले आया था. जिसके बाद वो गुरुवार दोपहर करीब 11 बजे जामिया पहुंचा था. पुलिस सूत्रों के अनुसार, जामिया में फायरिंग के दौरान प्रयोग किए कट्टे को उसने बुधवार को ही अपने गांव के किसी शख्स की मदद से लिया था.स्कूल के मैनेजर ने की नाबालिग होने की पुष्टिजामिया की घटना के बाद जेवर पब्लिक स्कूल के मैनेजर नरेंद्र शर्मा ने बताया कि ये लड़का उनके ही स्कूल का छात्र था. लेकिन उन्होंने इसे बड़े ही शांत स्वभाव का बताया. प्रबंधक ने कहा कि इसका किसी सामाजिक संगठन से कोई नाता था.6 साल के इस स्कूल में कर रहा था पढ़ाईउन्होंने इस बात से भी इंकार किया कि उसका किसी के साथ विवाद था. उन्होंने बताया कि जामिया में फायरिंग करने वाला ये नाबालिक लड़का इनके स्कूल में लगातार 6 साल से पढ़ाई कर रहा रहा था. उन्होंने बताया कि इस लड़के के घर में शादी थी. जिस कारण वो छुट्टी पर था. उन्होंने कहा कि मीडिया से उन्हें इस घटना की जानकारी मिली.2018 में पास की थी मैट्रिक की परीक्षावहीं एएनआई से बातचीत में उन्होंने बताया कि उसकी मार्कशीट एकदम सही है. इस स्कूल से उसने 2018 में सीबीएसई बोर्ड से 10वीं की परीक्षा पास की थी. साथ ही उन्होंने उसके साल 2002 का जन्मतिथि होने की भी पुष्टि की.


बयान देने से किया इनकार
सूत्रों के मुताबिक गोली लगने से घायल छात्र शादाब ने भी पुलिस को अपना बयान देने से इनकार कर दिया है. उसने अपनी तबीयत खराब होने की बात कहते हुए मना कर दिया है. पुलिस के सामने नाबालिग ने यह भी कबूला कि कश्मीरी पंडितों पर हुए जुल्म, कासगंज हिंसा से वो दुखी था, इसीलिए उसे अपने किए पर कोई पछतावा नहीं है.



प्रदर्शन के पहले हुई थी ये घटना
बता दें कि CAA और NRC के विरोध में जामिया मिलिया इस्लामिया के छात्र गुरुवार को वहां से राजघाट तक एक प्रदर्शन करना चाहते थे. इसी दौरान वहां छात्रों की इकट्ठी भीड़ पर एक नाबालिग ने देसी तमंचा निकाल कर फायरिंग कर दी थी. इस घटना में जामिया का एक छात्र घायल हुआ है. उसपर फायरिंग करने से पहले यह लड़का फेसबुक पर लाइव था. इस दौरान उसने कई वीडियो भी पोस्ट की थी. फायरिंग करने के दौरान उसने 'वंदे मातरम', 'ये लो आजादी' और 'वंदे मातरम' के नारे भी लगाए. इस घटना के बाद पूरे इलाके में अफरातफरी मच गई.

ये भी पढ़ें: 

ITO के पास से पुलिस ने जामिया के प्रदर्शनकारियों को हटाया, ट्रैफिक हुई सामान्य

दिल्ली पहुंचे सुशील कुमार मोदी, साधा केजरीवाल सरकार पर निशाना
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज