लाइव टीवी

Jamia Millia Islamia की कुलपति ने एक बार फिर खटखटाया HRD मंत्रालय का दरवाजा

भाषा
Updated: January 14, 2020, 10:57 PM IST
Jamia Millia Islamia की कुलपति ने एक बार फिर खटखटाया HRD मंत्रालय का दरवाजा
15 दिसंबर 2019 को नागरिकता संशोधन कानून को लेकर प्रदर्शन के बाद पुलिसकर्मी परिसर में घुस गए थे और छात्रों पर कार्रवाई की थी. (फाइल फोटो)

जामिया मिल्लिया इस्लामिया की कुलपति नज्मा अख्तर ने पुलिस कार्रवाई की जांच की अपनी मांग फिर से दोहराई है और यह मुद्दा उठाया कि इस विषय में प्राथमिकी दर्ज नहीं की जा रही है.

  • Share this:
नई दिल्ली. जामिया मिल्लिया इस्लामिया की कुलपति नज्मा अख्तर ने मंगलवार को एक बार फिर मानव संसाधन विकास मंत्रालय का दरवाजा खटखटाया और उन्होंने पिछले महीने विश्वविद्यालय परिसर में हुई पुलिस कार्रवाई की उच्च स्तरीय जांच की मांग की. अख्तर 15 दिसंबर को हुए घटनाक्रम का ब्योरा देते हुए दो रिपोर्ट पहले ही मंत्रालय को भेज चुकी हैं. उन्होंने पुलिस कार्रवाई की जांच की अपनी मांग फिर से दोहराई है और यह मुद्दा उठाया कि इस विषय में प्राथमिकी दर्ज नहीं की जा रही है.

उच्चतर शिक्षा सचिव अमित खरे के साथ अपनी बैठक में जामिया कुलपति ने उन्हें सोमवार को छात्रों द्वारा किए गए प्रदर्शन के बारे में भी जानकारी दी, जिन्होंने दिल्ली पुलिस के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हुए उनके कार्यालय का घेराव किया था. एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, 'जामिया कुलपति ने एचआरडी अधिकारियों से मुलाकात की और उन्हें विश्वविद्यालय के घटनाक्रम के बारे में जानकारी दी. उन्होंने मंत्रालय से एक बार फिर से अनुरोध किया कि विश्वविद्यालय के पुस्तकालय में 15 दिसंबर की कथित पुलिस कार्रवाई की जांच कराई जाए.'

इससे पहले दिन में अख्तर ने दिल्ली पुलिस आयुक्त अमूल्य पटनायक से भी मुलाकात की और उनसे इस मुद्दे के सिलसिले में प्राथमिकी दर्ज करने का अनुरोध किया. पटनायक के अलावा अख्तर ने विशेष पुलिस आयुक्त (खुफिया) प्रवीर रंजन और संयुक्त पुलिस आयुक्त (दक्षिणी रेंज) देवेश श्रीवास्तव से मुलाकात की. सोमवार को दिल्ली पुलिस के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर सैकड़ों आक्रोशित छात्रों द्वारा कुलपति के कार्यालय का घेराव करने के बाद अख्तर ने कहा था कि परिसर में पुलिसिया बर्बरता के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने के लिए विश्वविद्यालय प्रशासन अदालत जाने की संभावना खंगालेगा.

15 दिसंबर 2019 को नागरिकता संशोधन कानून (CAA) को लेकर प्रदर्शन के बाद पुलिसकर्मी परिसर में घुस गए थे और छात्रों पर कार्रवाई की थी. पुलिस ने भीड़ को तितर-बितर करने के लिए लाठियां चलायी थी और आंसू गैस के गोले छोड़े थे.

ये भी पढ़ें-

AAP की लिस्ट जारी, केजरीवाल बोले- आत्मसंतुष्ट न हों उम्मीदवार, खूब मेहनत करें

दिल्ली चुनाव: LJP की 15 उम्मीदवारों की 1st लिस्ट जारी, नजफगढ़ से ये दिग्गज

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 14, 2020, 10:57 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर