अपना शहर चुनें

States

CAA PROTEST: दिल्ली पुलिस की आंतरिक रिपोर्ट में खुलासा, जामिया हिंसा के दौरान चलाई थी गोली

नागरिकता कानून के विरोध में प्रदर्शन के दौरान हिंसा हुई थी. (फाइल फोटो)
नागरिकता कानून के विरोध में प्रदर्शन के दौरान हिंसा हुई थी. (फाइल फोटो)

जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय (Jamia Millia Islamia University) के छात्रों ने आरोप लगाया था कि पुलिस की गोली से कुछ छात्र घायल हुए हैं. वहीं दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने प्रदर्शनकारियों पर फायरिंग के आरोपों से इनकार किया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 5, 2020, 3:24 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली.  नागरिकता संसोधन कानून (CCA) के खिलाफ जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी (Jamia Millia Islamia University) के पास हुए विरोध प्रदर्शन के दौरान फायरिंग की बात दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने आखिर मान लिया है. दिल्ली पुलिस की आंतरिक जांच में हालांकि कहा गया कि पुलिस की गोली किसी को नहीं लगी है. दिल्ली पुलिस से जुड़े सूत्रों के मुताबिक, जामिया हिंसा के दौरान सामने आया वीडियो आतंरिक जांच में सही पाया गया है. वह वीडियो मथुरा रोड का ही है.

दिल्ली पुलिस का दावा है कि वीडियो में जो पुलिसकर्मी फायरिंग करते दिख रहे हैं वो अपने सेल्फ डिफेंस में हवाई फायरिंग कर रहे हैं, क्योंकि वहां बहुत ज्यादा पथराव हो रहा था और पुलिसकर्मी चारों तरफ से घिर गए थे. पुलिस ने बताया कि वह वीडियो 15 दिसंबर का है. इस फायरिंग की एंट्री पुलिस ने अपनी डीडी यानी डेली डायरी में भी की हुई है.

दिल्ली पुलिस की आंतरिक जांच में हुआ खुलासा
बता दें कि जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी के बाहर 15 दिसंबर की रात को हुए बवाल में दिल्ली पुलिस ने 11 युवकों को गिरफ्तार किया था. जामिया विश्वविद्यालय (Jamia Millia Islamia University) के छात्रों ने आरोप लगाया था कि पुलिस की गोली से कुछ छात्र घायल हुए हैं, जिसका इलाज सफदरजंग अस्पताल और होली फैमिली में किया गया. वहीं, दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने दावा किया था कि इस प्रकरण के दौरान कोई गोलियां नहीं चलाई गई थीं.
आम आदमी पार्टी, आप, अमुवि, अरविंद केजरीवाल, असोम गण परिषद, नागरिकता संशोधन अधिनियम, जयराम रमेश, जामिया मिल्लिया इस्लामिया, सर्वोच्च न्यायालय,aam aadmi party, aap, amu, arvind kejriwal, Asom Gana Parishad, Citizenship Amendment Act, Jairam Ramesh, Jamia Milia Islamia, supreme court
हिंसा में शामिल होने के आरोप में अब तक कुल 11 लोगों को गिरफ्तार किया गया है.




जामिया हिंसा मामले में दिल्ली पुलिस ने जिन युवकों को गिरफ्तार किया है, उन पर जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी के पास हुए बवाल में शामिल होने का आरोप है. यूनिवर्सिटी परिसर के पास हुई हिंसा में शामिल होने के आरोप में अब तक कुल 11 लोगों को गिरफ्तार किया गया है.

15 दिसंबर की रात को बवाल मचा था
दिल्ली पुलिस पर आरोप है कि पुलिस ने यूनिवर्सिटी के अंदर तक घुसकर आंसू गैस के गोले दागे थे. जामिया में भड़की हिंसा को लेकर दिल्ली पुलिस ने दो केस दर्ज किए थे. पहला केस न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी और दूसरा मामला जामिया नगर थाने में दर्ज किया गया. पुलिस ने आगजनी, दंगा फैलाने, सरकारी संपत्ति को नुकसान और सरकार काम में बाधा पहुंचाने के तहत केस दर्ज किया था.

संशोधित नागरिकता कानून और एनआरसी के खिलाफ देशव्यापी विरोध प्रदर्शनों में कई लोग मारे गए हैं. 11 दिसंबर को संसद द्वारा अनुमोदित नागरिकता संशोधन अधिनियम बांग्लादेश, अफगानिस्तान और पाकिस्तान के छह अल्पसंख्यक धार्मिक समुदायों के शरणार्थियों को नागरिकता प्रदान करता है, बशर्ते वे भारत में छह साल तक रहे हों और 31 दिसंबर 2014 तक देश में प्रवेश किया हो.

ये भी पढ़ें-  BJP का बड़ा ऐलान, पीएम मोदी के नाम पर ही लड़ेगी दिल्ली विधानसभा का चुनाव
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज