Delhi Asssembly Elections 2020: बीजेपी से गठबंधन पर जेडीयू में तनातनी, पार्टी महासचिव ने CM नीतीश को लिखी चिट्ठी

जेडीयू के राष्ट्रीय महासचिव पवन वर्मा को नीतीश कुमार ने नसीहत दी है.

दिल्ली चुनाव (Delhi Elections 2020) के लिए बीजेपी (BJP) के साथ गठबंधन के बाद जेडीयू (JDU) में घमासान मच गया है. पार्टी महासचिव पवन वर्मा (Pavan Varma) ने नीतीश कुमार (Nitish Kumar) को चिट्ठी लिख गठजोड़ के कारणों का खुलासा करने को कहा है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. दिल्ली विधानसभा चुनाव (Delhi Elections 2020) के लिए भारतीय जनता पार्टी (BJP) के साथ गठबंधन को लेकर जनता दल-यूनाइटेड (JDU) में रार मच गई है. पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव पवन कुमार वर्मा (Pavan Kumar Varma) ने मंगलवार को पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) को पत्र लिखा है. पत्र में पवन वर्मा ने सवाल उठाया है कि जेडीयू ने दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए बीजेपी के साथ गठबंधन कैसे कर लिया? वर्मा ने अपने पत्र के जरिए नीतीश कुमार से कहा है कि वह इस मामले पर अपनी बात स्पष्ट करें. वर्मा ने कहा है कि ऐसे में जबकि CAA, NRC और NPR को लेकर बीजेपी का देशव्यापी विरोध हुआ है, जेडीयू ने बिहार के बाहर ऐसी पार्टी के साथ कैसे गठबंधन कर लिया. हालांकि जदयू के बिहार प्रदेश अध्यक्ष बशिष्ठ नारायण सिंह ने वर्मा के पत्र को बेमतलब का करार दिया है.

    'RSS मुक्त भारत' का विचार कहां गया
    पवन वर्मा ने अपने पत्र में कहा है कि नीतीश कुमार के इस कदम से वे काफी आहत हैं. उन्हें उम्मीद है कि नीतीश कुमार इस पर अपने विचार स्पष्ट करेंगे. पत्र में उन्होंने नीतीश को लिखा है, 'भारतीय विदेश सेवा से इस्तीफा देने के बाद 2012 में मेरी आपके साथ बात हुई थी. उस समय आपने विस्तार से इस बात पर चर्चा की थी कि किस तरह नरेंद्र मोदी की नीतियों इस देश को नुकसान पहुंचेगा. आपने जब बिहार में महागठबंधन बनाया, उस समय 'आरएसएस मुक्त भारत' का नारा दिया. यहां तक कि जब आपने 2017 में पाला बदलकर दोबारा बीजेपी के साथ गठबंधन किया, उसके बाद भी बीजेपी के प्रति आपके निजी विचार नहीं बदले.'



    अपनी राय स्पष्ट करें नीतीश
    पवन वर्मा ने नीतीश और भाजपा के संबंधों को लेकर भी पत्र में विचार रखे हैं. नीतीश कुमार को संबोधित पत्र में उन्होंने आगे कहा है, 'आपने कई मौकों पर मुझसे यह कहा कि भाजपा के शीर्ष नेतृत्व के कदमों से आप अपमानित महसूस कर रहे हैं. फिर भी आपने खुद को संभाले रखा. भाजपा द्वारा देश की महत्वपूर्ण संस्थाओं को नष्ट किए जाने के खिलाफ लोकतांत्रिक और समाजवादी विरोध की आपने जरूरत बताई है. अगर ये आपके विचार हैं, तो मैं समझ नहीं पा रहा हूं कि बिहार के बाहर आपने बीजेपी के साथ दिल्ली में गठबंधन कैसे कर लिया. CAA, NRC और NPR के मामले पर अकाली दल के विरोध के बाद भी यह गठबंधन होना, समझ के बाहर है. इसलिए आपको जल्द से जल्द इस पर अपनी राय स्पष्ट करनी चाहिए.'

    जदयू के बिहार अध्यक्ष बोले- गठबंधन में हर्ज नहीं
    जदयू के राष्ट्रीय महासचिव पवन वर्मा ने अपने पत्र में नीतीश कुमार से कहा है कि जिस तरह दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए बीजेपी के साथ गठबंधन किया गया है, उससे पार्टी अध्यक्ष की निजी और सार्वजनिक स्तर पर सोच को लेकर भ्रम होता है. इसलिए नीतीश कुमार को जल्द से जल्द इस मामले पर अपनी राय स्पष्ट कर देनी चाहिए. इधर, पवन वर्मा के पत्र को लेकर पार्टी के बिहार प्रदेश अध्यक्ष बशिष्ठ नारायण सिंह ने अपनी राय रखी है. सिंह ने कहा है, 'कौन क्या लिखता है, इससे कोई फर्क नहीं पड़ता है.
    बिहार में हमारा गठबंधन बीजेपी के साथ है, तब तो किसी को कोई ऐतराज नहीं है. दिल्ली में हमारा गठबंधन बढ़ रहा है, तो इसमें हर्ज क्या है. ऐसे पत्र का कोई मतलब नही' है.'

    ये भी पढ़ें -

    दिल्ली चुनाव: JDU के स्टार प्रचारकों की लिस्ट से OUT हुए PK, पवन वर्मा का भी नाम नहीं

     

    दिल्ली विधानसभा चुनाव में छाया बिहार के नेताओं का जादू, क्या दिखा पायेंगे ट्रेलर?

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.