• Home
  • »
  • News
  • »
  • delhi-ncr
  • »
  • जेसिका लाल के हत्यारे मनु शर्मा की रिहाई के लिए पत्नी ने NHRC का दरवाजा खटखटाया

जेसिका लाल के हत्यारे मनु शर्मा की रिहाई के लिए पत्नी ने NHRC का दरवाजा खटखटाया

जेसिका लाल हत्याकांड का आरोपी मनु शर्मा की पत्नी ने मानवाधिकारों के घोर उल्लंघन का आरोप लगाते हुए पति की रिहाई की मांग की है (FILE PHOTO)

जेसिका लाल हत्याकांड का आरोपी मनु शर्मा की पत्नी ने मानवाधिकारों के घोर उल्लंघन का आरोप लगाते हुए पति की रिहाई की मांग की है (FILE PHOTO)

30 अप्रैल 1999 की रात को दक्षिणी दिल्ली (South Delhi) के एक पब में जेसिका लाल (Jessica Lal) की हत्या (Murder) कर दी गई थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:
नई दिल्ली. जेसिका लाल हत्याकांड (Jessica Lal Murder Case) में सजायाफ्ता मनु शर्मा (Manu Sharma) की पत्नी ने अपने पति की रिहाई की मांग की है. मनु शर्मा की पत्नी ने मानवाधिकारों के घोर उल्लंघन का आरोप लगाते हुए राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग (NHRC) का दरवाजा खटखटाया है. न्यूज एजेंसी एएनआई के अनुसार उन्होंने एनएचआरसी से मनु शर्मा की रिहाई की मांग की है.

मनु शर्मा साल वर्ष 1999 में मॉडल जेसिका लाल की हत्या के मामले में आजीवन कारावास (Life Term Sentence) की सजा काट रहा है.



बता दें कि 30 अप्रैल, 1999 की रात को दक्षिणी दिल्ली के एक पब में जेसिका लाल की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. उस रात मनु शर्मा लिकर सर्व (शराब परोस) कर रहीं जेसिका के पास आया था और रात दो बजे उनसे ड्रिंक्स (शराब) देने को कहा था. लेकिन तब तक पब का काउंटर बंद हो गया था. शराब देने से इनकार करने पर मनु शर्मा ने तैश में आकर जेसिका लाल पर करीब से गोली चला दी थी जिससे उसकी मौत हो गई थी.

मनु शर्मा हरियाणा के कद्दावर नेता विनोद शर्मा का बेटा है. ऐसा कहा जाता है कि जेसिका लाल ने घर का खर्च चलाने के लिए मॉडलिंग करनी शुरू की थी. वो पार्ट टाइम के तौर पर दिल्ली के एक पब में काम करती थीं, जहां उसकी हत्या की गई.

30 अप्रैल 1999 की रात को दक्षिणी दिल्ली के एक पब में जेसिका लाल की हत्या कर दी गई थी.
30 अप्रैल, 1999 की देर रात को दक्षिणी दिल्ली के एक पब में जेसिका लाल की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी


दिल्ली सरकार का रुख क्या होगा

जेसिका लाल की हत्या होने के बाद पुलिस ने मनु शर्मा को गिरफ्तार कर लिया था. बाद में लंबी चली अदालती कार्रवाई में कोर्ट ने दिल्ली पुलिस की रिपोर्ट को झूठा मानते हुए मनु को आरोपों से बरी कर दिया था, लेकिन बाद में मीडिया और आम लोगों के बीच इस मुद्दे ने जोर पकड़ लिया और मामले की एक बार फिर सुनवाई शुरू हुई थी.

निचली अदालत ने मनु शर्मा को बरी कर दिया था

मनु शर्मा की रिहाई के बाद जेसिका के परिवार को मीडिया और पब्लिक का सपोर्ट मिलने लगा और देखते ही देखते इस मामले ने काफी तूल पकड़ लिया था. कोर्ट में इस मामले की दोबारा से सुनवाई शुरू हुई. दिसंबर 2006 में दिल्ली हाईकोर्ट ने मनु शर्मा को दोषी करार देते हुए आजीवन कारावास की सजा सुनाई. मनु शर्मा ने बाद में सुप्रीम कोर्ट में भी अपील की लेकिन वहां भी हाईकोर्ट के फैसले को बरकरार रखा गया.

दिल्ली पुलिस की जांच में निचली अदालत ने मनु शर्मा को बरी कर दिया था
दिल्ली पुलिस की जांच में निचली अदालत ने मनु शर्मा को बरी कर दिया था


बता दें कि दिल्ली सरकार (Delhi Government) के सजा समीक्षा बोर्ड (एसआरबी) ने तिहाड़ जेल में बंद जेसिका लाल हत्याकांड के दोषी मनु शर्मा की रिहाई पर फैसला पिछले साल टाल दिया गया था. उस समय अधिकारियों ने बताया था बोर्ड ने रिहाई से जुड़ी कई अन्य अर्जियों पर भी फैसला नहीं लिया गया है. दिल्ली के गृह मंत्री की अध्यक्षता वाली समिति में प्रमुख सचिव (गृह), प्रमुख सचिव (विधि), महानिदेशक (जेल), संयुक्त पुलिस आयुक्त (अपराध), मुख्य परिवीक्षा अधिकारी और एक जिला सदस्य, सदस्य के तौर पर शामिल होते हैं.

ये भी पढ़ें: 

क्या दिल्ली में केजरीवाल की राजनीतिक चतुराई नहीं भांप पा रहीं विपक्षी पार्टियां?

प्याज की बढ़ती कीमतों पर मोदी सरकार के मंत्री ने दिया यह बयान

 

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज