लाइव टीवी

स्टूडेंट्स के विरोध पर JNU प्रशासन सख्त, कहा- परीक्षा नहीं देने वाले नहीं रहेंगे यहां के छात्र

News18Hindi
Updated: December 4, 2019, 8:38 AM IST
स्टूडेंट्स के विरोध पर JNU प्रशासन सख्त, कहा- परीक्षा नहीं देने वाले नहीं रहेंगे यहां के छात्र
छात्रों ने रात में मशाल जुलूस निकालकर फीस बढ़ोत्तरी का विरोध किया.

जवाहर लाल नेहरू छात्रसंघ 12 दिसंबर से शुरू हो रहे सेमेस्टर परीक्षाओं के बहिष्कार की योजना बना रहा है. इस पर जेएनयू प्रशासन ने कहा है कि परीक्षा नहीं देने वाले आगे यहां के छात्र नहीं रहेंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 4, 2019, 8:38 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) के छात्रों ने मंगलवार रात कैंपस में मशाल जलूस (Torch Rally) निकालकर बढ़ी हुई हॉस्टल फीस (Hostel Fees) और बदले मैन्युअल का विरोध किया. छात्रों ने फीस बढ़ोतरी और हॉस्टल मैन्युअल को वापस लेने की मांग की. छात्रों ने रात साढ़े नौ बजे गंगा ढाबा से एडमिनिस्ट्रेटिव भवन तक मशाल जुलूस निकाली. इस मौके पर छात्रों ने फीस वापसी और नीतिगत बदलाव को लेकर कई तरह के पोस्टर बनाए और स्लोगन लिखकर अपनी बात रखी. छात्रों ने कहा कि वो फीस बढ़ोतरी का बहुत समय से लोकतांत्रिक तरीके से विरोध कर रहे हैं, लेकिन विश्वविद्यालय प्रशासन उनकी बातों को सुन नहीं रहा है.




विश्वविद्यालय प्रशासन ने दी ये निर्देश
विश्वविद्यालय प्रशासन ने मंगलवार को एक नोटिस जारी कर छात्रों को अकादमिक प्रक्रिया को पूरा करने के बाद ही अगले सेमेस्टर में प्रवेश लेने का निर्देश दिया है. विश्वविद्यालय प्रशासन का कहना है कि अगले सेमेस्टर में पंजीकरण कराने के लिए छात्रों को सभी अकादिमक जरूरतों को पूरा करना पड़ेगा. इसमें थीसिस, डेजर्टेशन, फीस जमा कराने संबंधी निर्देश दिए गये हैं. निर्देश में कहा गया है कि जो एम.फिल का स्टूडेंट पहले सेमेस्टर में कोर्स वर्क में फेल हो जाता है तो उसका रजिस्ट्रेशन स्वत: (खुद-ब-खुद) एम.फिल से रद्द हो जाएगा.छात्र संघ परीक्षा के बहिष्कार की तैयारी में
जेएनयू छात्र संघ 12 दिसंबर से शुरू हो रहे सेमेस्टर परीक्षाओं के बहिष्कार की योजना बना रहा है. वहीं जेएनयू प्रशासन ने कहा है कि परीक्षा नहीं देने वाले आगे यहां के छात्र नहीं रहेंगे. विश्वविद्यालय ने एक आदेश जारी कर छात्रों को आगाह किया है कि वो अकादमिक अध्यादेश और नियमों के अनुसार सेमेस्टर की परीक्षा सहित अपने असाइनमेंट और टेस्ट पूरा करें. इसमें कहा गया है कि नियम के मुताबिक परीक्षा नहीं देने वाले यहां के छात्र नहीं रहेंगे.


ये भी पढ़ें- निर्भया गैंगरेप मामला: दिल्ली सरकार ने एक दोषी की दया याचिका खारिज करने की सिफारिश की

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 4, 2019, 3:58 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर