लाइव टीवी

JNU हिंसा: पुलिस बोली- वॉट्सऐप ग्रुप से पहचाने गये 37 छात्रों का न लेफ्ट और न ही राइट से संंबंध
Delhi-Ncr News in Hindi

News18Hindi
Updated: January 12, 2020, 9:30 AM IST
JNU हिंसा: पुलिस बोली- वॉट्सऐप ग्रुप से पहचाने गये 37 छात्रों का न लेफ्ट और न ही राइट से संंबंध
JNU हिंसा पर दिल्ली पुलिस ने वॉट्सऐप ग्रुप से 37 छात्रों की पहचान की है. (फाइल फोटो)

दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने शुक्रवार को कहा था कि वॉट्सऐप ग्रुप ‘यूनिटी अगेंस्ट लेफ्ट’ (Unity Against Left) की जांच की जा रही है. ऐसा माना जा रहा है कि जेएनयू परिसर में हिंसा बढ़ने के दौरान इसे क्रिएट किया गया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 12, 2020, 9:30 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने जेएनयू (JNU) कैंपस में 5 जनवरी को हुई हिंसा के दौरान बनाए गए वॉट्सऐप ग्रुप से 37 छात्रों की पहचान करने का दावा किया है. पुलिस अधिकारियों ने बताया कि इनमें से कोई भी छात्र वामपंथी या दक्षिणपंथी संगठनों से जुड़ा नहीं है. वे सेमेस्टर पंजीकरण प्रक्रिया के पक्ष में थे और खुद का पंजीकरण कराना चाहते थे. पुलिस ने शुक्रवार को कहा था कि वॉट्सऐप ग्रुप ‘यूनिटी अगेंस्ट लेफ्ट’ की जांच की जा रही है. ऐसा माना जा रहा है कि जेएनयू परिसर में हिंसा बढ़ने के दौरान इस ग्रुप को बनाया गया था.

हिंसा के लिये 9 लोगों का नाम सामने
एक प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए पुलिस ने दावा किया था कि 5 जनवरी को JNU में हुई हिंसा में 9 छात्रों के नाम सामने आए हैं. इनमें से जेएनयूएसयू (JNUSU) अध्यक्ष आइशी घोष सहित सात लोग वाम विचारधारा वाले छात्र संगठनों से जुड़े हैं. इनमें चुनचुन कुमार, पंकज मिश्रा, योगेंद्र भारद्वाज, प्रिया रंजन, विकास पटेल, डोलन और काम शामिल हैं. वहीं, पुलिस द्वारा नामित शेष दो संदिग्ध विकास पटेल और योगेंद्र भारद्वाज हैं. ये दोनों अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) से जुड़े हैं. पुलिस ने सभी नौ आरोपियों की तस्‍वीरें भी जारी की हैं.

5 जनवरी को हुआ था हमला



पुलिस ने बताया कि 1 से लेकर 5 जनवरी तक JNU में रजिस्ट्रेशन होना था. हालांकि, SFI, AISA, AISF और DSF छात्र संगठनों ने छात्रों को रजिस्ट्रेशन करने से रोका. रजिस्ट्रेशन करने वाले छात्रों को धमकाया जा रहा था. इसके बाद विवाद लगातार बढ़ता गया और 5 जनवरी को पेरियार और साबरमती हॉस्टल के कुछ कमरों में हमला किया गया. दूसरी तरफ, JNU छात्र संघ ने बताया कि दिल्ली पुलिस से उन्हें नोटिस मिला है और कुछ दिनों में पुलिस के साथ उनकी मीटिंग हो सकती है.

ये भी पढ़ें: JNU Violence: आरोपी छात्रों को क्राइम ब्रांच ने किया तलब, पूछताछ के लिए होना होगा पेश

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 12, 2020, 8:45 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर

भारत

  • एक्टिव केस

    5,095

     
  • कुल केस

    5,734

     
  • ठीक हुए

    472

     
  • मृत्यु

    166

     
स्रोत: स्वास्थ्य मंत्रालय, भारत सरकार
अपडेटेड: April 09 (08:00 AM)
हॉस्पिटल & टेस्टिंग सेंटर

दुनिया

  • एक्टिव केस

    1,099,679

     
  • कुल केस

    1,518,773

    +813
  • ठीक हुए

    330,589

     
  • मृत्यु

    88,505

    +50
स्रोत: जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी, U.S. (www.jhu.edu)
हॉस्पिटल & टेस्टिंग सेंटर