Home /News /delhi-ncr /

ग्रेटर नोएडा से जेवर तक का सफर होगा आसान, सोमवार को पेश होगी सबसे लंबे मेट्रो रूट की DPR

ग्रेटर नोएडा से जेवर तक का सफर होगा आसान, सोमवार को पेश होगी सबसे लंबे मेट्रो रूट की DPR

ग्रेटर नोएडा से लेकर जेवर एयरपोर्ट तक सबसे लंबे मेट्रो रूट के लिए डीपीआर सोमवार को रखी जाएगी.

ग्रेटर नोएडा से लेकर जेवर एयरपोर्ट तक सबसे लंबे मेट्रो रूट के लिए डीपीआर सोमवार को रखी जाएगी.

Greater Noida Metro Update: दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (DMRC) ग्रेटर नोएडा से जेवर एयरपोर्ट तक मेट्रो की डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट (DPR) के साथ ग्रेटर नोएडा से नई दिल्ली एयरपोर्ट एक्सप्रेस लाइन तक फिजबिलिटी रिपोर्ट भी बनाएगा. दोनों प्रोजेक्ट की रिपोर्ट में क्या-क्या काम करेंगे, इसके लिए डीएमआरसी ने यमुना प्राधिकरण को टर्म ऑफ रेफरेंस (TRO) सौंप दिया है. ग्रेटर नोएडा के नॉलेज पार्क-2 से जेवर एयरपोर्ट तक मेट्रो चलाई जानी है.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. ग्रेटर नोएडा से जेवर एयरपोर्ट (Jewar Airport) तक जाना अब और आसान हो जाएगा. एयरपोर्ट को मेट्रो रेल से जोड़ने के लिए डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट (DPR) तैयार हो गया है. दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (Delhi Metro Rail Corporation) सोमवार को यमुना विकास प्राधिकरण (Yamuna Development Authority) के अधिकारियों के सामने प्रोजेक्ट को प्रस्तुतीकरण देगा. इस बैठक में आगे की रणनीति पर फैसला लिया जाएगा.

DMRC प्राधिकरण को बताएगी कि कैसे नोएडा एयरपोर्ट को मेट्रो रेल की कनेक्टिविटी दी जाएगी. जानकारी के मुताबिक नोएडा एयरपोर्ट के सितंबर 2024 तक चालू होने से पहले इस रूट पर मेट्रो रेल शुरू करने की तैयारी है.

मेट्रो की स्पीड 120 KM प्रति घंटा होगी 

रिपोर्ट के मुताबिक, ग्रेटर नोएडा के नॉलेज पार्क-2 से नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट तक 7 स्टेशन बनाए जाएंगे. इससे पहले इस रूट पर 25 स्टेशन बनाए जाने का की बात कही जा रही थी, लेकिन अब हाई स्पीड मेट्रो चलाने को लेकर प्रस्ताव रखा गया है. मेट्रो की स्पीड 120 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से चलेगी. इस रूट की लंबाई 35.64 किलोमीटर हो गई. मेट्रो ट्रैक का निर्माण कार्य कब बनकर तैयार होगा और कितनी लागत से बनेगा इसका जिक्र बैठक में किया जाएगा.

 DMRC बना रहा डीपीआर 

दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (DMRC) ग्रेटर नोएडा से जेवर एयरपोर्ट तक मेट्रो की डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट (DPR) के साथ ग्रेटर नोएडा से नई दिल्ली एयरपोर्ट एक्सप्रेस लाइन तक फिजबिलिटी रिपोर्ट भी बनाएगा. दोनों प्रोजेक्ट की रिपोर्ट में क्या-क्या काम करेंगे, इसके लिए डीएमआरसी ने यमुना प्राधिकरण को टर्म ऑफ रेफरेंस (TRO) सौंप दिया है. ग्रेटर नोएडा के नॉलेज पार्क-2 से जेवर एयरपोर्ट तक मेट्रो चलाई जानी है.

इसके लिए पहले सामान्य मेट्रो चलाने की योजना थी. इसकी डीपीआर बन गई थी. लेकिन, एयरपोर्ट के चलते यहां एक्सप्रेस मेट्रो चलाई जाएगी. इसके लिए डीएमआरसी से डीपीआर बनवाने का फैसला लिया गया.

ग्रेटर नोएडा और जेवर के बीच 120 की रफ्तार से दौड़ेगी मेट्रो

DMRC ने अपनी सहमति दे दी थी. कोरोना महामारी के चलते इसमें देरी हुई है। अब कोरोना महामारी कम हुई तो डीएमआरसी ने यमुना प्राधिकरण को टीओआर दे दिया है. टीओआर के मुताबिक, नॉलेज पार्क दो मेट्रो स्टेशन से नोएडा एयरपोर्ट तक 35.6 किमी लंबे मेट्रो कॉरिडोर की डीपीआर तैयार की जाएगी. इसमें मेट्रो स्टेशन की संख्या कम से कम रखी जाएगी. इस रूट पर 120 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से मेट्रो दौड़ाने के लिए स्ट्रक्चर तैयार किया जाएगा. इसके अलावा डीपीआर में मल्टी मॉडल ट्रांसपोर्ट, यात्री, डिपो और स्टेशन की लोकेशन आदि की जानकारी होगी.

ग्रेटर नोएडा का होगा सबसे लंबा ट्रैक 

प्रारंभिक रिपोर्ट के मुताबिक, ग्रेटर नोएडा के नॉलेज पार्क-2 से जेवर एयरपोर्ट तक 35.64 किलोमीटर लंबे ट्रैक पर 7 स्टेशन बनाए जाएंगे. इसकी गति सीमा 120 किलोमीटर प्रति घंटे तक होगी. डीएमआरसी ने जेवर एयरपोर्ट और आईजीआई को मेट्रो से जोड़ने के लिए भी प्रारंभिक रिपोर्ट सौंपी है. यह अभी तक का सबसे लंबा ट्रैक होगा.

ग्रेटर नोएडा से जेवर तक बनेंगे 07 स्टेशन

1- नॉलेज पार्क-2
2- टेकजोन
3- सलारपुर अंडरपास
4- सेक्टर-18
5- सेक्टर-20
6- सेक्टर-28-29

7- जेवर एयरपोर्ट

Tags: Delhi Metro, Greater noida news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर