लाइव टीवी

दरियागंज हिंसा मामला: टैगोर की कविता का पाठ कर जज ने भीम आर्मी चीफ को दी जमानत

News18Hindi
Updated: January 15, 2020, 11:15 PM IST
दरियागंज हिंसा मामला: टैगोर की कविता का पाठ कर जज ने भीम आर्मी चीफ को दी जमानत
कोर्ट ने भीम आर्मी चीफ को जमानत दे दी (File Photo)

भीम आर्मी प्रमुख ( Bhim Army chief) चंद्रशेखर को CAA के खिलाफ पुरानी दिल्ली के दरियागंज इलाके में हुई हिंसा के मामले में गिरफ्तार किया गया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 15, 2020, 11:15 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दरियागंज हिंसा मामले में दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट ने बुधवार को रवीन्द्रनाथ टैगोर (Rabindranath Tagore) की प्रसिद्ध कविता 'व्हेयर द माइंड इज विदाउट फियर' (Where the Mind is Without Fear) का पाठ करते हुए भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर (Chandrashekhar) को जमानत दी. कोर्ट ने कहा कि शांतिपूर्ण विरोध-प्रदर्शन करना नागरिकों का मौलिक अधिकार है, जिसमें सरकार कटौती नहीं कर सकती है.

अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश कामिनी लाउ ने कहा कि 1900 की शुरुआत में जब अंग्रेज फूट डालो, राज करो की नीति अपना रहे थे तब टैगोर ने ऐसे राष्ट्र की कल्पना की जहां लोगों के मन में कोई डर न हो, सभी को शिक्षा मिले और भेदभाव की दीवारें ना बनाई जाएं. उन्होंने यह भी कहा कि शांतिपूर्ण विरोध करते हुए यह हमारा कर्तव्य है कि हम यह सुनिश्चित करें कि किसी दूसरे के अधिकार का हनन न हो और किसी को कोई असुविधा न हो. उन्होंने कहा कि टैगोर आज सबसे अधिक प्रासंगिक हैं.

कोर्ट ने चंद्रशेखर को जमानत देने के साथ शर्त भी रखी है. शर्त के मुताबिक,  चंद्रशेखर अगले 4 सप्ताह तक दिल्ली में नहीं रहेंगे. दिल्ली में चुनाव होने वाले है. ऐसे में सुरक्षा की दृष्टि से दिल्ली चुनाव में कोई दखल न हो, इसलिए चंद्रशेखर को सख्त निर्देश दिए गए हैं. कोर्ट ने ये भी कहा कि इस मामले में जबतक चार्जशीट दायर नहीं होती, चंद्रशेखर सहारनपुर में हर शनिवार को एसएचओ के सामने अपनी हाजरी देंगे.

सुनवाई के समय भी लगाई थी फटकार

भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर उर्फ रावण की जमानत पर सुनवाई के दौरान तीस हजारी कोर्ट ने चंद्रशेखर को फटकार लगाई. कोर्ट ने चंद्रशेखर को कहा कि 'आपको इंस्टीट्यूशन और प्रधानमंत्री का सम्मान करना चाहिए' कोर्ट ने ये भी कहा कि जो ग्रुप प्रोटेस्ट करता है उसी पर सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाने का आरोप भी लगता है और इस मामले में पुलिस ने कहा है कि हिंसा हुई है और पुलिस बैरीकेडिंग, दो प्राइवेट गाड़ियों को नुकसान पहुंचा है. इसकी जवाबदेही भी चंद्रशेखर की है.

कोर्ट में चंद्रशेखर के ट्वीट पढ़े
चंद्रशेखर के वकील महमूद प्राचा ने कोर्ट में चंद्रशेखर के ट्वीट पढ़े. रमा प्रसाद बिस्मिलाह के कोट को चंद्रशेखर ने ट्वीट किया. इसे वो रोज गाते हैं. जिस पर कोर्ट ने कहा कि क्या वाकई में रोज गाते है. इस ट्वीट से क्या जनता भड़केगी नहीं? इस पर चद्रशेखर के वकील ने कहा कि आरएसएस का भी ट्वीट है. जिस पर कोर्ट और भड़क गया और कहा कि आप किसी और के ट्वीट का जिक्र यहां मत कीजिए.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए सहारनपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 15, 2020, 11:15 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर