Home /News /delhi-ncr /

'गुड़िया' गैंगरेप केस में दोनों आरोपी दोषी करार, 30 जनवरी को होगी सजा पर बहस

'गुड़िया' गैंगरेप केस में दोनों आरोपी दोषी करार, 30 जनवरी को होगी सजा पर बहस

देश भर को झकझोर कर रख देने वाले निर्भया केस के चार महीने बाद ही मासूम गुड़िया का मामला सामने आया था (प्रतीकात्मक तस्वीर)

देश भर को झकझोर कर रख देने वाले निर्भया केस के चार महीने बाद ही मासूम गुड़िया का मामला सामने आया था (प्रतीकात्मक तस्वीर)

दोषी करार दिए जाने के बाद दोनों को कोर्ट से बाहर ले जाया जा रहा था तो मीडिया ने उनसे सवाल पूछने की कोशिश की. इस पर एक दोषी भड़क गया और उसने मीडियाकर्मियों के मोबाइल फोन को छीनने का प्रयास किया

    नई दिल्ली. राजधानी दिल्ली (Delhi) के चर्चित गुड़िया गैंगरेप केस (Gudia Gang Rape) में कड़कड़डूमा कोर्ट ने दोनों आरोपियों प्रदीप और मनोज कुमार को दोषी करार दिया है. हालांकि कोर्ट ने इनकी सजा का ऐलान नहीं किया है. दोनों दोषियों की सजा पर 30 जनवरी को बहस होगी. कोर्ट ने इस केस में कुल 59 गवाहियों के बाद शनिवार को ये फैसला सुनाया.



    दोषी करार दिए जाने के बाद दोनों को कोर्ट से बाहर ले जाया जा रहा था तो मीडिया ने उनसे सवाल पूछने की कोशिश की. इस पर एक दोषी भड़क गया और उसने मीडियाकर्मियों के मोबाइल फोन को छीनने का प्रयास किया. न्यूज़ एजेंसी एएनआई ने दोषियों की इस हरकत का वीडियो जारी किया है.



    दिल्ली पुलिस ने मामला सामने आने पर आरोपी प्रदीप और मनोज के खिलाफ जान से मारने की कोशिश, गैंगरेप, किडनैपिंग, सबूत मिटाने और पोक्सो एक्ट (POCSO Act) के तहत केस दर्ज किया था.

    गैंगरेप के बाद गुड़िया को जान से मारने की हुई थी कोशिश

    बता दें कि मासूम गुड़िया के साथ जब ये दरिंदगी हुई थी तब उसकी उम्र महज पांच साल थी. गैंगरेप के बाद दोनों दोषियों ने उसे जान से मारने की भी कोशिश की थी. 15 अप्रैल, 2013 की शाम गुड़िया अपने गांधी नगर के घर से लापता हो गई थी. इसके दो दिन बाद 17 अप्रैल की सुबह वो घायल अवस्था में अपने घर के पास मिली थी. गुड़िया को इलाज के लिए एम्स अस्पताल में भर्ती कराया गया था. डॉक्टरों ने यहां उसके शरीर के अंदर से तेल की शीशी और मोमबत्ती निकाली थी. कई दिनों तक गुड़िया की हालत अस्पताल में नाजुक बनी हुई थी.

    निर्भया केस के महज चार माह बाद हुई थी घटना
    इस हादसे के बाद लोगों में काफी रोष देखने को मिला था. दरअसल, गुड़िया रेप केस 16 दिसंबर, 2012 को निर्भया केस के महज चार महीने बाद हुआ था. इसे लेकर दिल्ली पुलिस और प्रशासनिक व्यवस्था पर गंभीर सवाल उठे थे.

    ये भी पढ़ें: निर्भया की मां आशा देवी ने कहा- लड़ना बंद नहीं करूंगी, मरूंगी भी तो लड़ते हुए

    Tags: Crime Against Child, Delhi gangrape, Delhi news, Delhi police, Gang Rape, Police

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर