• Home
  • »
  • News
  • »
  • delhi-ncr
  • »
  • Women Empowerment: ओलंपिक में सबसे ज्यादा मेडल जीतने वालों में महिलाएं अग्रणी: न्यायाधीश कंवलजीत अरोड़ा

Women Empowerment: ओलंपिक में सबसे ज्यादा मेडल जीतने वालों में महिलाएं अग्रणी: न्यायाधीश कंवलजीत अरोड़ा

सेल्फ डिफेंस की ट्रेनिंग लेने वाली सभी छात्राओं को संबाेधि‍त करते हुये DLSA के मैंबर सेक्रेटरी व न्यायाधीश कंवलजीत अरोड़ा.

सेल्फ डिफेंस की ट्रेनिंग लेने वाली सभी छात्राओं को संबाेधि‍त करते हुये DLSA के मैंबर सेक्रेटरी व न्यायाधीश कंवलजीत अरोड़ा.

Women Empowerment: न्यायाधीश कंवलजीत अरोड़ा ने टोक्यो ओलंपिक में मेडल जीतने वाली महिलाओं का जिक्र करते हुए कहा कि यह हमारे सामने सबसे बड़ा उदाहरण है कि ओलंपिक गेम्स (Olympic Games) में सबसे ज्यादा मेडल हासिल करने वाली देश की महिलाएं ही हैं. इसलिए महिलाओं को अपने आप को कमजोर नहीं समझना चाहिए.

  • Share this:

    नई दिल्ली. दिल्ली राज्य विधिक सेवाएं प्राधिकरण (DLSA) के मैंबर सेक्रेटरी व न्यायाधीश कंवलजीत अरोड़ा ने कहा कि आज महिलाएं किसी भी मायने में पीछे नहीं हैं. वह हर क्षेत्र में अग्रणी भूमिका निभा रही हैं. उन्होंने सेल्फ डिफेंस की ट्रेनिंग लेने वाली सभी छात्राओं को प्रोत्साहित करते हुए यह भी कहा कि वह कमजोर नहीं हैं. वो अपने को कमजोर नहीं माने.

    न्यायाधीश कंवलजीत अरोड़ा ने टोक्यो ओलंपिक (Tokyo Olympic) में मेडल जीतने वाली महिलाओं का जिक्र करते हुए कहा कि यह हमारे सामने सबसे बड़ा उदाहरण है कि ओलंपिक गेम्स (Olympic Games) में सबसे ज्यादा मेडल हासिल करने वाली देश की महिलाएं ही हैं. इसलिए महिलाओं को अपने आप को कमजोर नहीं समझना चाहिए. उन्होंने छात्राओं से अपील भी की कि इस तरह की सेल्फ डिफेंस (Self Defence) की ट्रेनिंग के बारे में वह अपने आसपास की महिलाओं को भी अवगत कराएं और उनको ट्रेनिंग दिलवाने में उनकी मदद करें.

    सेल्‍फ डि‍फेंस की ट्रेनि‍ंग लेने के बाद उसका डेमाे करती छात्राएं. Delhi State Legal Services Authority, DLSA, Self Defence, Tokyo Olympic, Olympic Games, Justice Kamaljeet Aroraदिल्ली राज्य विधिक सेवाएं प्राधिकरण, न्यायाधीश कंवलजीत अरोड़ा, टोक्यो ओलंपिक, ओलंपिक गेम्स, आत्मरक्षा

    सेल्‍फ डि‍फेंस की ट्रेनि‍ंग लेने के बाद उसका डेमाे करती छात्राएं.

    ये भी पढ़ें: विधवा बेटी स्वतंत्रता सैनिक पेंशन योजना के तहत आश्रित पेंशन की हकदार: हाईकोर्ट

    उन्होंने पर्यावरण संरक्षण की आवश्यकता पर बल देते हुये कहा कि पर्यावरण को संतुलित करने में सभी को अपना अहम योगदान देना चाहिये. समय रहते हम पर्यावरण संरक्षण पर ध्यान नहीं देंगे तो हमें आने वाले समय में गंभीर परिणाम भुगतने पड़ेंगे जो हमारी आने वाली पीढ़ी के लिए घातक होगा. उन्होंने परिसर में वृक्षारोपण भी किया. सभी को स्वतंत्रता दिवस (Independence Day) की शुभकामनाएं भी दीं.

    दरअसल, न्यायाधीश कंवलजीत अरोड़ा इकोपोलिस जिंदल ग्रुप एवं डी.ए.वी एजुकेशनल एण्ड वेलफेयर सोसायटी ने दिल्ली राज्य विधिक सेवाएं प्राधिकरण (DLSA) दक्षिण पूर्व जिला के सहयोग से आयोजित 10 दिवसीय आत्मरक्षा शिविर के समापन कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि उपस्थित रहे.

    DLSA के मैंबर सेक्रेटरी व न्यायाधीश कंवलजीत अरोड़ा का स्‍वागत करते हुये संस्‍था अध्‍यक्षा राधा भारद्वाज. Delhi State Legal Services Authority, DLSA, Self Defence, Tokyo Olympic, Olympic Games, Justice Kamaljeet Aroraदिल्ली राज्य विधिक सेवाएं प्राधिकरण, न्यायाधीश कंवलजीत अरोड़ा, टोक्यो ओलंपिक, ओलंपिक गेम्स, आत्मरक्षा

    DLSA के मैंबर सेक्रेटरी व न्यायाधीश कंवलजीत अरोड़ा का स्‍वागत करते हुये संस्‍था अध्‍यक्षा राधा भारद्वाज.

    ये भी पढ़ें: दिल्ली HC में बच्चों को भीख मांगने से रोकने के लिए रिट, कोर्ट ने केंद्र और दिल्ली सरकार से मांगा जवाब

    तिमारपुर-ओखला वेस्ट मैनेजमेंट कंपनी लिमिटेड के वोकेशनल ट्रेनिंग सेंटर में आयोजित इस समापन समारोह में डालसा के मैंबर सेक्रेटरी के अलावा एडिशनल सेक्रेटरी व न्यायाधीश नम्रता अग्रवाल, स्पेशल सेक्रेटरी व न्यायाधीश गौतम मेनन, सचिव दक्षिण पूर्व डालसा व न्यायाधीश आकांक्षा व्यास भी प्रमुख रूप से उपस्थित रहीं.

    परि‍सर में वृक्षाराेपण करते हुये जस्‍टि‍स नम्रता अग्रवाल. Delhi State Legal Services Authority, DLSA, Self Defence, Tokyo Olympic, Olympic Games, Justice Kamaljeet Aroraदिल्ली राज्य विधिक सेवाएं प्राधिकरण, न्यायाधीश कंवलजीत अरोड़ा, टोक्यो ओलंपिक, ओलंपिक गेम्स, आत्मरक्षा

    परि‍सर में वृक्षाराेपण करते हुये DLSA की एडिशनल सेक्रेटरी व न्यायाधीश नम्रता अग्रवाल.

    इस अवसर पर न्यायाधीश नम्रता अग्रवाल ने कहा कि महिलाओं को आत्मरक्षा के साथ-साथ महिला के अधिकार एवं कानूनी जानकारी होना भी जरूरी है. उन्होंने इस अवसर पर बताया कि डालसा महिलाओं को नि:शुल्क कानूनी सहायता प्रदान करती है.

    उन्होंने कहा कि हमारा एवं संस्था का प्रयास तभी सफल होगा जब प्रत्येक महिला आत्मरक्षा ट्रेनिंग सीखने के बाद अपने क्षेत्र की 5 महिलाओं को ट्रेनिंग देकर आत्मनिर्भर बनाएगी जिससे वह भी अप्रिय परिस्थितियों का सामना कर सके.

    ये भी पढ़ें: ज्योतिरादित्य सिंधिया को चाहिए ‘पिताजी’ वाला बंगला, पूर्व मंत्री निःशंक नहीं हैं राजी

    इस अवसर पर विशेष सचिव व न्यायाधीश गौतम मेनन, सचिव दक्षिण पूर्व डालसा न्यायाधीश आकांक्षा व्यास ने लड़कियों को प्रोत्साहित किया. कार्यक्रम में  इकोपोलिस के ‌महाप्रबंधक संदीप दत्त, प्रबंधक अमुझ चतुर्वेदी, वर्ल्ड ह्यूमन राइट्स ऑर्गेनाइजेशन के अध्यक्ष योगराज शर्मा, संस्था की अध्यक्षा राधा भारद्वाज आदि प्रमुख रूप से उपस्थित रहे. वर्ल्ड ह्यूमन राइट्स ऑर्गेनाइजेशन के अध्यक्ष योगराज शर्मा ने डालसा के न्याय क्षेत्र में किये जा रहे सराहनीय कार्यों पर मंचासीन न्यायाधीशों का प्रतीक चिन्ह देकर‌ अभिनंदन भी किया.

    परि‍सर में वृक्षाराेपण करते हुये विशेष सचिव व न्यायाधीश गौतम मेनन. Delhi State Legal Services Authority, DLSA, Self Defence, Tokyo Olympic, Olympic Games, Justice Kamaljeet Aroraदिल्ली राज्य विधिक सेवाएं प्राधिकरण, न्यायाधीश कंवलजीत अरोड़ा, टोक्यो ओलंपिक, ओलंपिक गेम्स, आत्मरक्षा

    परि‍सर में वृक्षाराेपण करते हुये DLSA के विशेष सचिव व न्यायाधीश गौतम मेनन.

    ये भी पढ़ें: दिल्ली हाईकोर्ट ने पशु कल्याण बोर्ड से पूछा, बंद हुए सर्कसों के जानवरों का क्या हुआ?

    अब तक 26 हजार महिलाओं को दी जा चुकी सेल्फ डिफेंस ट्रेनिंगइस अवसर पर महिलाओं को सैनिटाइजर एवं नैपकिन भी वितरित किए गए. शिविर का आयोजन दिल्ली पुलिस की स्पेशल यूनिट महिला एवं बाल इकाई द्वारा नानकपुरा के सहयोग से किया गया.

    इस शिविर में प्रशिक्षक अंजू और सुमन ने प्रशिक्षण देकर उन्हें अप्रिय स्थिति में सामना करना सिखाया. महिलाओं और लड़कियाें को कलम, पेन्सिल, किताब, हाथ का इस्तेमाल कर आत्मरक्षा की ट्रेनिंग दी गई. संस्था की ओर से अब तक 26 हजार महिलाओं को आत्मरक्षा का परीक्षण दिया जा चुका है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज