इस शहर पर बरपने लगा है Corona का कहर, शव दफनाने के लिए कब्रिस्तान भी पड़ने लगे छोटे
Delhi-Ncr News in Hindi

इस शहर पर बरपने लगा है Corona का कहर, शव दफनाने के लिए कब्रिस्तान भी पड़ने लगे छोटे
दिल्ली में कोरोना से लगातार हो रही मौतों के बाद कब्रिस्तानों में भी जगह कम पड़ने लगी है.

दिल्ली में कोरोना महामारी (Coronavirus Pandemic) से लगातार हो रही मौतों के बाद शव (Dead Bodies) को दफनाने के लिए कब्रिस्तानों (Cemetery) में भी जगह कम पड़नी लगी है. आईटीओ स्थित दिल्ली के सबसे बड़े कब्रिस्तान का भी यही हाल है.

  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली के सबसे बड़े कब्रिस्तान (Cemetery) में अब सुपुर्द-ए-खाक के लिए जमीन नहीं बची है. सुनने में थोड़ा अटपटा जरूर लग रहा है कि लेकिन कोरोना काल (Coronavirus) में यह एक हकीकत है. राजधानी दिल्ली में कोरोना से लगातार हो रही मौतों के बाद कब्रिस्तानों में भी जगह कम पड़ने लगी है. आईटीओ स्थित दिल्ली के सबसे बड़े कब्रिस्तान का भी यही हाल है. कोविड-19 की शुरुआत में इस कब्रिस्तान के 5 बीघा जमीन को कोरोना महामारी से मरने वाले लोगों के लिए आरक्षित किया गया था, लेकिन यहां पर पिछले एक-दो महीनों में इतने लोगों का दफनाया गया है कि 5 बीघा जमीन भी कम पड़ गयी है. कब्रिस्तान प्रबंधन ने बाद में इसका दायरा 9 बीघा तक कर दिया. अब कब्रिस्तान प्रबंधन का कहना है कि 9 बीघा जमीन भी भरने वाली है. प्रबंधन के मुताबिक कब्रिस्तान का एक हिस्सा तो पूरी तरह भर गया है, जबकि एक हिस्सा अभी तक नहीं भरा है. अगर यही हाल रहा तो जल्द ही पूरा हिस्सा भर जाएगा. इसके बारे में कब्रिस्तान प्रबंधन ने दिल्ली सरकार को भी पत्र लिखा है.

दिल्ली के सबसे बड़े कब्रिस्तान में शव दफनाने के लिए जगह नहीं
बता दें कि दिल्ली का सबसे बड़ा कब्रिस्तान आईटीओ में है. एक अनुमान के मुताबिक यह कब्रिस्तान 20 से भी ज्यादा एकड़ जमीन में फैला हुआ है. कोरोना काल में यहां पर अब तक हजारों मृतकों को सुपुर्द-ए-खाक किया जा चुका है. कोरोना महामारी शुरू होने के बाद प्रबंधन ने यहां की 5 बीघा जमीन को सिर्फ कोरोना संक्रमितों के लिए आरक्षित किया था. बाद में इसको बढ़ा कर 9 बीघा कर दिया था.अब कब्रिस्तान के 85 फीसदी से भी ज्यादा हिस्सा भर चुका है. कब्रिस्तान प्रबंधन अब इसको लेकर चिंतित नजर आ रहा है.

Coivd 19, coronavirus, kabristan, delhi, delhi coronavirus, delhi covid-19, muslims, graveyards, cemetry, kabristan in delhi, covid 19 garveyard in delhi, coronavirus graveyard delhi, delhi cemetry , muslim corona graveyard delhi, दिल्ली का सबसे बड़ा कब्रिस्तान, सुपुर्द-ए-खाक के लिए जमीन नहीं, कोरोना काल, राजधानी दिल्ली, आईटीओ, कब्रिस्तान, कब्रिस्तान प्रबंधन, दिल्ली सरकार, शव नहीं भेजे जाएं,
प्रबंधन ने दिल्ली सरकार से कहा है कि अब ज्यादा शव न भेजे जाएं.

पिछले ही दिनों प्रबंधन ने दिल्ली सरकार को कहा था कि उनके यहां अब ज्यादा शव नहीं भेजे जाएं. इस कब्रिस्तान में आमतौर पूरे दिल्ली के लोग आते हैं. सेंट्र्ल दिल्ली, साउथ दिल्ली, ईस्ट दिल्ली के साथ-साथ दिल्ली के बड़े-बड़े अस्पतालों से सुपुर्दे-ए-खाक के लिए लाए जाते हैं.



ये भी पढ़ें: केजरीवाल सरकार की सख्ती का असर- अब 'दिल्ली कोरोना' App पर भी दिखेंगे सभी अस्पतालों के हेल्पलाइन नंबर

कब्रिस्तान प्रबंधन का यह कहना है
कब्रिस्तान के सुपरवाइजर मोहम्मद शमीम कहते हैं, 'पहले एक दिन में 4 से 5 बॉडी आती थींं, लेकिन अब शवों की कोई गिनती नहीं है. रोज 15 से ज्यादा शव आ रहे हैं. यहां पर ज्यादातर शव दिल्ली के बड़े-बड़े अस्पतालों एलएनजेपी, राम मनोहर लोहिया, सफदरजंग और एम्स से आते हैं. मैंने अब इन अस्पतालों से आग्रह किया है कि ज्यादा शव यहां न लाएं. एक तो गर्मी बहुत अधिक है इसलिए 15 से ज्यादा शव दफनाने में हमें दिक्कतें आ रही हैं. इसके साथ ही हमने दिल्ली सरकार को भी पत्र के जरिए बताया है कि हमें अतिरिक्त जमीन मुहैया कराई जाए.'

Cemetery in delhi, ito delhi, Coivd 19, coronavirus, kabristan, delhi, delhi coronavirus, delhi covid-19, muslims, graveyards, cemetry, kabristan in delhi, covid 19 garveyard in delhi, coronavirus graveyard delhi, delhi cemetry , muslim corona graveyard delhi, दिल्ली का सबसे बड़ा कब्रिस्तान, सुपुर्द-ए-खाक के लिए जमीन नहीं, कोरोना काल, राजधानी दिल्ली, आईटीओ, कब्रिस्तान, कब्रिस्तान प्रबंधन, दिल्ली सरकार, शव नहीं भेजे जाएं,
देश में कोरोना से संक्रमित मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है.


शमीम कहते हैं, 'अगर दिल्ली सरकार जल्द ही इस पर ध्यान नहीं देती है तो हमें दफनाने की प्रक्रिया कुछ दिनों के लिए रोकनी पड़ेगी. पहले कोरोना से मरने वालों के लिए 5 बीघा जमीन तय की गई थी, लेकिन लगभग 900 शवों के दफनाने के बाद अब 9 बीघा का इलाका भी भर गया है. कब्रिस्तान के बगल में 4 एकड़ की जमीन मिलेनियम पार्क स्थित कब्रिस्तान की है, लेकिन वहां दिल्ली पुलिस दफनाने की अनुमति नहीं दे रही है. अगर दिल्ली सरकार जल्द कुछ नहीं करती है तो यहां पर दफनाना मुश्किल हो जाएगा.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading