• Home
  • »
  • News
  • »
  • delhi-ncr
  • »
  • UP की कामाक्षी तोड़ रहीं हैकर्स के जाल, 50 हजार पुलिसकर्मियों को दी साइबर क्राइम की ट्रेनिंग

UP की कामाक्षी तोड़ रहीं हैकर्स के जाल, 50 हजार पुलिसकर्मियों को दी साइबर क्राइम की ट्रेनिंग

हैकिंग की शौकीन कामाक्षी ने बढ़ाया यूपी का मान, बनाए कई रिकॉर्ड, अब पुलिस को दे रहीं साइबर क्राइम की ट्रेनिंग .

हैकिंग की शौकीन कामाक्षी ने बढ़ाया यूपी का मान, बनाए कई रिकॉर्ड, अब पुलिस को दे रहीं साइबर क्राइम की ट्रेनिंग .

कामाक्षी को कॉलेज के दिनों से ही हैकिंग का शौक था और धीरे-धीरे यह शौक उनके प्रोफेशन में बदल गया. अब वह लोगों को साइबर क्राइम की ट्रेनिंग दे रही हैं. साइबर क्राइम की रोकथाम के लिए लोगों को जागरूक करने और 50 हजार पुलिस कर्मियों को प्रशिक्षण देने वाली कामाक्षी का नाम "वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड" में दर्ज किया गया है.

  • Share this:
गाजियाबाद. यूपी के गाजियाबाद (Ghaziabad) की बेटी कामाक्षी शर्मा (Kamakshi Sharma) दुनियाभर में छाई हुई हैं. वह मूल रूप से मेरठ की रहने वाली हैं और पिछले कई सालों से गाजियाबाद के पंचवटी में रहती हैं. कामाक्षी ने बताया कि कॉलेज के दिनों में उन्हें हैकिंग (hacking) का शौक था और धीरे-धीरे यह शौक उनके प्रोफेशन में बदल गया. अब वह लोगों को साइबर क्राइम की ट्रेनिंग दे रही हैं. साइबर क्राइम की रोकथाम के लिए लोगों को जागरूक करने और 50 हजार पुलिस कर्मियों को प्रशिक्षण देने वाली कामाक्षी का नाम "वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड" में दर्ज किया गया है.

उन्होंने वर्ष 2019 में जम्मू से कन्याकुमारी तक एक माह अभियान चलाकर आईपीएस समेत कई पुलिस कर्मियों को प्रशिक्षण दिया था. इससे पहले उनका नाम इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड और एशिया बुक ऑफ रिकॉर्ड में दर्ज किया जा चुका है. 2017 में कंप्यूटर साइंस से बीटेक किया. वह साइबर क्राइम के विषय में एक्सपर्ट हैं. उन्होंने पढ़ाई पूरी होने के बाद नौकरी की तलाश न करके साइबर ठगी से बचाने के लिए देशभर में लोगों को जागरूक करने के लिए अभियान चलाया. फिलहाल वो किसी संस्था से नहीं जुड़ी हैं. उनके पास जॉब के कई ऑफर हैं, लेकिन अभी तक स्वीकार नहीं किए हैं.



कामाक्षी ने 2019 में नौ सितंबर से अक्टूबर तक जम्मू से यात्रा आरंभ की. यात्रा जम्मू से पंजाब, चंडीगढ़ हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, दिल्ली, हरियाणा, राजस्थान, मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र होते हुए 13 अक्तूबर को कन्याकुमारी में खत्म हुई. कामाक्षी ने 50 हजार पुलिस कर्मियों को साइबर अपराध की जानकारी दी. कामाक्षी ने बताया कि कुछ माह पहले श्रीलंका में ट्रेनिंग दी थी. कामाक्षी ने बताया कि भविष्य में उनका सपना है कि वह ऐसा प्लेटफार्म बनाए जहां पर देशभर नहीं बल्कि विदेश की भी पुलिस जुड़ी हुई हो और साइबर क्राइम को रोकने के लिए हर चीज उस प्लेटफार्म पर अवेलेबल हो. उन्होंने बताया कि जिस तरीके से साइबरक्राइम इस वक्त बढ़ता जा रहा है ऐसे में हैकिंग Cyber bulling जैसे मामले बढ़ रहे हैं, लेकिन थोड़ी सी सावधानी से इन सब चीजों से बचा जा सकता है. उन्होंने यह भी बताया कि जिस तरीके से कोविड-19 का दौर चल रहा है. लोग work-from-home कर रहे हैं. ऐसे में भी साइबर क्राइम तेजी से बढ़ा है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज