कमलेश तिवारी हत्याकांड में डिलीवरी बॉय अरेस्ट, Zomato ने कहा- दोषियों को मिलनी चाहिए सख्त सजा
Lucknow News in Hindi

कमलेश तिवारी हत्याकांड में डिलीवरी बॉय अरेस्ट, Zomato ने कहा- दोषियों को मिलनी चाहिए सख्त सजा
सोशल मीडिया यूजर्स ने हिंदू समाज पार्टी के नेता की हत्या के मामले में जोमैटो के एक कर्मचारी की भूमिका लेकर उस पर सवाल उठाए.

सोशल मीडिया यूजर्स ने हिंदू समाज पार्टी (Hindu Samaj Party) के नेता की हत्या के मामले में जोमैटो (Zomato) के एक कर्मचारी की भूमिका लेकर उस पर सवाल उठाए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 24, 2019, 7:00 AM IST
  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
नई दिल्ली. हिंदूवादी नेता कमलेश तिवारी (Kamlesh Tiwari) हत्या (Murder) मामले में अपने एक डिलिवरी बॉय की गिरफ्तारी के बाद ऑनलाइन फूड डिलीवरी कंपनी जोमैटो (Zomato) ने बुधवार को कहा कि कानून तोड़ने वालों के लिए उसकी कंपनी में कोई भी जगह नहीं है. दोषी के खिलाफ तेजी से कार्रवाई होनी चाहिए. गुजरात पुलिस के आतंक रोधी दस्ते (ATS) द्वारा राजस्थान के साथ लगे राज्य की सीमा के पास एक स्थान से दो कथित हत्यारे अशफाक हुसैन और मोइनुद्दीन पठान की गिरफ्तारी के बाद सोशल मीडिया पर जोमैटो को काफी ट्रोल किया गया.

सोशल मीडिया यूजर्स ने उठाये सवाल
सोशल मीडिया यूजर्स ने हिंदू समाज पार्टी के नेता की हत्या के मामले में जोमैटो के एक कर्मचारी की भूमिका लेकर उस पर सवाल उठाए. कुछ महीने पहले भी जोमैटो तब चर्चा में आया था एक जब एक ग्राहक ने जोमैटो के डिलिवरी बॉय से सिर्फ इसलिए खाना नहीं लिया था क्योंकि वह मुस्लिम था. इस पर जोमैटो ने खाना लेने से इनकार करने वाले ग्राहक को करारा जवाब दिया था.

आखिरी बार छह अक्टूबर को खाने की डिलीवरी



प्रतिक्रिया के लिए पूछे जाने पर जोमैटो के एक प्रवक्ता ने कहा कि एक स्वतंत्र एजेंसी द्वारा पठान का आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, पैन कार्ड और अतीत के रिकार्ड के साथ साथ उसके बैकग्राउंड की जांच के बाद उसे सूरत में नौकरी पर रखा गया था. उसने आखिरी बार छह अक्टूबर को खाने की डिलीवरी की थी. इसके बाद वह खुद अपनी मर्जी से हमारे प्लेटफॉर्म पर काम से हट गया था.



जल्द से जल्द दोषी को सजा मिले
उन्होंने कहा कि जोमैटो, कानून का पालन करने वाली और जिम्मेदार कंपनी है. हम संबंधित प्राधिकारों को पूरी मदद देते हैं और छानबीन में पूरी मदद करेंगे. जोमैटो ने कहा कि कानून तोड़ने वाले किसी भी शख्स के प्रति हमारी संवेदना नहीं है. हम चाहेंगे कि कानून के तहत जल्द से जल्द दोषी को सजा मिले.

ट्विटर पर यूजर्स बोले
ट्विटर पर जोमैटो की जुलाई की घटना को कमलेश तिवारी हत्या मामले में गिरफ्तार पठान से जोड़ा गया. एक यूजर ने लिखा कि हत्या का कारण धार्मिक नफरत था. कुछ दिन पहले आपने एक ऑर्डर रद्द कर दिया था क्योंकि खाना मंगाने वाला हिंदू लड़के से आपूर्ति चाहता था. क्या आप सुनिश्चित करेंगे कि आपके ग्राहक सुरक्षित हैं? ' वहीं एक अन्य यूजर ने गिरफ्तारी मामले से जोड़कर कंपनी की खिंचाई करते हुए कहा कि यही कारण है कि जोमैटो, स्विगी आदि पर भरोसा नहीं कर सकते.

ये भी पढ़ें: 

NCRB Data 2017: रेप के 93% मामले में जानने वाले ही हैं आरोपी

हत्या में कमी लेकिन हर अपराध में टॉप पर यूपी, NCRB ने जारी किया 2017 का क्राइम डाटा
First published: October 24, 2019, 6:59 AM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading