• Home
  • »
  • News
  • »
  • delhi-ncr
  • »
  • गैंगस्टर विकास दुबे के दिल्ली-एनसीआर में छिपे होने की संभावना, सरेंडर करने की है प्‍लानिंग

गैंगस्टर विकास दुबे के दिल्ली-एनसीआर में छिपे होने की संभावना, सरेंडर करने की है प्‍लानिंग

विकास दुबे के दिल्‍ली-एनसीआर में छुपे होने की संभावना जताई जा रही है. (न्‍यूज 18 ग्राफिक्‍स)

विकास दुबे के दिल्‍ली-एनसीआर में छुपे होने की संभावना जताई जा रही है. (न्‍यूज 18 ग्राफिक्‍स)

गैंगस्टर विकास दुबे (Vikas Dubey) को लेकर दिल्ली में सतर्कता बढ़ा दी गई है. यूपी पुलिस (UP Police) की एटीएस सहित कई दूसरे ब्रांच की टीम दिल्ली पुलिस के संपर्क में है.

  • Share this:
नई दिल्ली. यूपी का कुख्‍यात गैंगस्टर विकास दुबे (Vikas Dubey) दिल्ली-एनसीआर (Delhi-NCR) में छुपा हो सकता है. लिहाजा, यूपी एटीएस (ATS) सहित अन्य दूसरी ब्रांच के कुछ पुलिस अधिकारी और जवान इस मसले पर दिल्ली पुलिस (Delhi Police) के संपर्क में हैं. दिल्ली पुलिस के सूत्रों के मुताबिक, गैंगस्टर विकास दुबे को डर है की यूपी में उसका एनकाउंटर हो सकता है या उसके साथ पुलिस की टीम बहुत गलत कर सकती है. इसी डर के चलते वो दिल्ली स्थित अदालत में आत्मसमर्पण कर सकता है.

यूपी के एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने भी अपना नाम न बताने की शर्त पर इस मामले में जानकारी दी है की व‍ह दिल्ली पुलिस के संपर्क में लगातार बने हुए हैं. अगर दिल्ली एनसीआर में उससे जुड़ी हुई कोई जानकारी मिलती है तो यूपी पुलिस की टीम दिल्ली पुलिस की मदद से उसे पकड़ने का प्रयास करेगी. दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल और क्राइम ब्रांच की टीम के साथ लगातार यूपी पुलिस की टीम संपर्क में बनी हुई है. दिल्ली पुलिस की टीम भी यह प्रयास कर रही है की अगर विकास दुबे दिल्ली में कहीं छुपा है तो उसे गिरफ्तार करके तत्काल यूपी पुलिस को सौंप दे .

ये भी पढ़ें:-
कानपुर शूटआउट: विकास दुबे अब भी गिरफ्त से दूर, इन 4 एनकाउंटर स्पेशलिस्ट की ली जा सकती है मदद
इस एनकाउंटर में बदमाश ने पहली बार AK-47 और पुलिस ने मोबाइल सर्विलांस का किया था इस्तेमाल, बन चुकी है फिल्‍म

कौन है विकास दुबे?
अब तक यूपी में करीब 42 मामलों का आरोपी विकास दुबे कानपुर शूटआउट मामले का आरोपी है. इस मुठभेड़ में सीओ देवेंद्र मिश्रा सहित 8 पुलिसवाले शहीद हो गए थे. हत्या करने के बाद आरोपी विकास दुबे फरार है, उसको ढूंढने के लिए यूपी पुलिस की कई टीमें जुटी हैं. इस मामले में अगर कोई महत्वपूर्ण जानकारी या दस्तावेज अगर प्राप्त होते हैं तो यूपी पुलिस सहित दूसरी जांच एजेंसी या केंद्रीय एजेंसी भी इस मामले में दूसरा अन्य एफआईआर दर्ज कर सकती है.

बड़े वकीलों से संपर्क साधने की जुगत में गैंगस्‍टर
यूपी पुलिस के विशेष सूत्रों के मुताबिक, विकास दुबे बेहद करीबी में से तीन-चार लोग दिल्ली पुहुंच चुके हैं. बताया जाता है कि दिल्ली में पहुंचने के बाद वे लोग कुछ बड़े स्तर के वकीलों से संपर्क साधने की जुगत में हैं. प्‍लानिंग यह है कि विकास दुबे को राजधानी दिल्ली में सरेंडर करवाकर उसको यूपी पुलिस के चंगुल से थोड़ा वक्त के लिए बचाया जा सके.

इस ऑपरेशन को अंजाम देने के लिए विकास दुबे के उन करीबी सहयोगी इस मसले से जुड़े तमाम मुद्दों को काफी गुप्त तरीके से अंजाम देने की फिराक में हैं. विकास के गुर्गों की योजना है कि इस जानकारी को लीक न होने पाए और आसानी से दिल्ली के किसी कोर्ट में उसका सरेंडर करवाया जा सके. वहीं, यूपी पुलिस की टीम भी लगातार इस मामले पर कार्रवाई करने के लिए दिल्ली पुलिस के कुछ अधिकारियों के संपर्क में हैं. अब देखना यह है की विकास दुबे को कब तक यूपी पुलिस ढूंढ़ पाती है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज