• Home
  • »
  • News
  • »
  • delhi-ncr
  • »
  • Delhi Violence: हेड कांस्टेबल रतनलाल की हत्या मामले में कोर्ट ने एक और आरोपी को दी जमानत

Delhi Violence: हेड कांस्टेबल रतनलाल की हत्या मामले में कोर्ट ने एक और आरोपी को दी जमानत

मामले की सुनवाई करते हुए कोर्ट ने कहा कि FSL की रिपोर्ट न आने की एक वजह से जमानत अर्जी को सुनने से इंकार नहीं किया जा सकता. (File Photo)

मामले की सुनवाई करते हुए कोर्ट ने कहा कि FSL की रिपोर्ट न आने की एक वजह से जमानत अर्जी को सुनने से इंकार नहीं किया जा सकता. (File Photo)

Delhi Violence News: दरअसल, तीन सितंबर को दिल्ली हाईकोर्ट ने सह आरोपी फुरकान को जमानत दी थी. इसे आधार बनाते हुए आरोपित नासिर की तरफ से कड़कड़डूमा कोर्ट में जमानत अर्जी दायर की गई थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

नई दिल्ली. दिल्ली हिंसा मामले को लेकर एक बड़ी खबर सामने आई है. कड़कड़डूमा कोर्ट (Karkardooma Court) ने हेड कांस्टेबल रतनलाल (Ratan Lal) की हत्यारोपी नासिर को जमानत दे दी है. इस मामले में दिल्ली हाईकोर्ट (Delhi High Court) से सह आरोपी को मिली जमानत के आधार पर कड़कड़डूमा कोर्ट ने उसे 35 हजार रुपये जमानत राशि और इतने के ही निजी मुचलके पर जमानत प्रदान की है. कोर्ट ने आदेश में कहा है कि वह सूचना के बगैर दिल्ली की राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र से बाहर नहीं जा सकता. पिछले साल 24 फरवरी को दयालपुर इलाके में चांद बाग के पास वजीराबाद रोड पर हथियारों से लैस दंगाइयों ने हेड कांस्टेबल रतनलाल की हत्या कर दी थी.

वहीं, इस मामले में तीन सितंबर को हाईकोर्ट ने सह आरोपी फुरकान को जमानत दी थी. इसे आधार बनाते हुए आरोपित नासिर की तरफ से कोर्ट में जमानत अर्जी दायर की गई थी. इस पर सुनवाई के दौरान पुलिस की तरफ से पेश वकील अमित प्रसाद ने दलील पेश की थी. उन्होंने कहा था कि सह आरोपी फुरकान और नासिर की भूमिका में अंतर यह है कि वह नासिर चांद बाग की गली नंबर-दो के सीसीटीवी कैमरे में छड़ी लेकर घटनास्थल की तरफ भागता हुआ नजर आ रहा है. दोनों पक्षों की दलीलें सुनने के बाद कोर्ट ने कहा कि आरोपी नासिर और सह आरोपित फुरकान की भूमिका समान है. कोर्ट ने फुरकान को हाईकोर्ट से मिली जमानत के आधार पर नासिर को भी जमानत दे दी.

कोर्ट ने आरोपी को आत्मसमर्पण करने के साथ दी जमानत
दंगे के दौरान एक व्यक्ति पर जानलेवा हमला करने के आरोपित गुलफाम को कड़कड़डूमा कोर्ट ने आत्मसमर्पण करने के साथ ही जमानत दे दी. मामले की सुनवाई करते हुए कोर्ट ने कहा कि FSL की रिपोर्ट न आने की एक वजह से जमानत अर्जी को सुनने से इंकार नहीं किया जा सकता. आरोपी उस स्थिति में नहीं है कि इस रिपोर्ट से छेड़छाड़ कर सके. कोर्ट ने कहा कि आरोपित ने अंतरिम जमानत की अवधि पूर्ण होने पर आत्मसमर्पण किया है. आपको बता दें कि दयालपुर इलाके में पिछले साल फरवरी में करावल नगर रोड मूंगा नगर गली नंबर-आठ के पास एक शख्स को गोली मार कर घायल कर दिया गया था. उस मामले में गुलफाम आरोपी है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज