Home /News /delhi-ncr /

दिल्ली के मुख्य ‌चौराहों पर अब केजरीवाल सरकार के मंत्री होंगे तैनात! वाहनों का इंजन बंद करने की करेंगे अपील

दिल्ली के मुख्य ‌चौराहों पर अब केजरीवाल सरकार के मंत्री होंगे तैनात! वाहनों का इंजन बंद करने की करेंगे अपील

दिल्ली में प्रदूषण के स्तर को कम करने के लिए केजरीवाल सरकार अब एक नई पहल की शुरुआत करेगी.

दिल्ली में प्रदूषण के स्तर को कम करने के लिए केजरीवाल सरकार अब एक नई पहल की शुरुआत करेगी.

Red Light On Gaadi Off: दिल्ली में प्रदूषण के स्तर (Pollution Level) को कम करने के लिए केजरीवाल सरकार (Kejriwal Government) अब एक नई पहल की शुरुआत करेगी. अब केजरीवाल सरकार के मंत्रियों के नेतृत्व में 'रेड लाईट ऑन गाड़ी ऑफ' अभियान अब और तेज किया जाएगा. इसके अंतगर्त दिल्ली के मुख्य ‌चौराहों पर दिल्ली सरकार के सभी मंत्री लोगों ‌को लाल बत्ती होने पर वाहन का इंजन बंद करने की अपील करेंगे.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. दिल्ली में प्रदूषण के स्तर (Pollution Level) को कम करने के लिए केजरीवाल सरकार (Kejriwal Government) अब एक नई पहल की शुरुआत करेगी. अब केजरीवाल सरकार के मंत्रियों के नेतृत्व में ‘रेड लाईट ऑन गाड़ी ऑफ’ (Red Light On Gaadi Off) अभियान अब और तेज किया जाएगा. इसके अंतगर्त दिल्ली के मुख्य ‌चौराहों पर दिल्ली सरकार के सभी मंत्री लोगों ‌को लाल बत्ती होने पर वाहन का इंजन बंद करने की अपील करेंगे. दिल्ली सरकार का कहना है कि रेड लाइट ऑन, गाड़ी ऑफ कैंपेन का मकसद है कि लाल बत्ती ऑन होने पर लोग अपने वाहन को बंद कर दें, जिससे वायु प्रदूषण कम करने में मदद मिले.

    दिल्ली में केजरीवाल सरकार के मंत्री और दिल्ली विधानसभा की स्पीकर-उपाध्यक्ष लोगों को वाहन प्रदूषण को लेकर संवेदनशील बनाएंगे. जानकारी के मुताबिक 27 अक्टूबर को मंत्री इमरान हुसैन दिल्ली गेट रेड लाईट पर, 29 अक्टूबर को राजेन्द्र पाल गौतम अफ्रीका एवेन्यू, हयात फ्लाईओवर पर, 2 नवम्बर को दिल्ली विधानसभा की उपाध्यक्ष राखी बिरलान करकरी मोड़ पर, 8 नवम्बर को दिल्ली विधानसभा के स्पीकर राम निवास गोयल मंडौली रेड लाइट नंद नगरी पर, 12 नवम्बर को मंत्री सत्येन्द्र जैन मधुबन चौक पर,‌ 15 नवम्बर को मंत्री कैलाश गहलोत द्वारका मोड़ पर और 18 नवम्बर को उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया इंडिया गेट पर लोगों को जागरूक करेंगे.

    ‘रेड लाइट ऑन, गाड़ी ऑफ’ कैंपेन का मकसद रेड लाइट ऑन होने पर लोगों को अपने वाहन चालू रखने से रोका जाना है.

    क्या कहना है दिल्ली के पर्यावरण मंत्री का
    दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने कहा कि दिल्ली के अंदर अपना जो प्रदूषण है, उसको दिल्ली सरकार कम करने की लगातार कोशिश कर रही है. ‘रेड लाइट ऑन, गाड़ी ऑफ’ कैंपेन के जरिए जो वाहनों का प्रदूषण है, उसके खिलाफ लड़ाई लड़ रहे हैं. ‘रेड लाइट ऑन, गाड़ी ऑफ’ कैंपेन का मकसद है कि रेड लाइट ऑन होने पर लोगों को अपने वाहन चालू रखने से रोका जाए. ऐसा करने से रेड लाइट पर वाहनों से प्रदूषण नहीं होगा और इससे निश्चित रूप से प्रदूषण से राहत मिलेगी.

    दिल्ली में प्रदूषण के स्तर को कम करने की कवायद
    राय ने कहा कि पूरी दिल्ली के लोग इस कैंपेन में सहयोग कर रहे हैं. दिल्ली सरकार की भी यही कोशिश है कि दिल्ली के अंदर जो प्रदूषण पैदा होता है, उसको कम किया जाए. इसलिए ‘रेड लाइट ऑन, गाड़ी ऑफ’ कैंपेन पूरे दिल्ली के अंदर चलाया जा रहा है.

    18 नवंबर तक चलेगा ‘रेड लाइट ऑन, गाड़ी ऑफ’ कैंपेन
    केजरीवाल सरकार ने दिल्ली में वाहनों से होने वाले प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिए ‘रेड लाइट ऑन, गाड़ी ऑफ’ कैंपेन शुरू किया है. अधिकारिक तौर पर यह कैंपेन 18 अक्टूबर को शुरू किया गया और 18 नवंबर तक चलेगा. दिल्ली सरकार का कहना है कि अगर हर दिल्लीवासी जिम्मेदारी के साथ अभियान में अपनी सहभागिता कर योगदान देता है तो दिल्ली में वाहन प्रदूषण को 15 से 20 फीसद तक कम किया जा सकता है.

    ये भी पढ़ें: गाजियाबाद: एलिवेटेड रोड पर रातभर घायल पड़े रहे युवक-युवती, किसी ने नहीं ली सुध, सुबह एक की मौत

    ‘आप’ विधायकों ने वाहन चालकों को किया था जागरूक
    इससे पहले 21 अक्टूबर को ‘रेड लाइट ऑन, गाड़ी ऑफ’ कैंपेन में सक्रिय भागीदारी कर आम आदमी पार्टी के विधायकों ने वाहन चालकों को जागरूक किया था. दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय के नेतृत्व में यह जागरूकता कार्यक्रम चंदगी राम अखाड़ा रेड लाइट पर किया गया था.

    Tags: Air pollution delhi, Chief Minister Arvind Kejriwal, Delhi Government, Delhi news, Kejriwal Government

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर