श्रमिकों के लिए खुशखबरी, दिल्ली सरकार ने किया महंगाई भत्ते में बड़ा इजाफा

दिल्ली सरकार ने अकुशल, अर्द्धकुशल और अन्य श्रमिकों का महंगाई भत्ता बढ़ाने का आदेश जारी किया है.

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) ने शुक्रवार को अकुशल, अर्द्धकुशल और अन्य श्रमिकों के महंगाई भत्ते (Dearness Allowance) में बढ़ोतरी का आदेश जारी किया है.

  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली सरकार (Delhi Government) ने साल के आखिर में श्रमिकों (Workers) को बड़ी खुशखबरी दी है. दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) ने शुक्रवार को अकुशल, अर्द्धकुशल और अन्य श्रमिकों के महंगाई भत्ते (Dearness Allowance) में बढ़ोतरी का आदेश जारी किया है. सिसोदिया ने कहा है कि अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) के नेतृत्व वाली दिल्ली सरकार ने अपनी मजदूर-परस्त नीतियों के तहत यह कदम उठाया है. सिसोदिया के मुताबिक गरीब और मजदूर वर्ग के हितों को ध्यान में रखते हुए कोरोना महामारी के दौर में यह बड़ा कदम उठाया गया है. इसका लाभ लिपिक और सुपरवाइजर किस्म के कर्मचारियों की भी मिलेगा.

दिल्ली में मजदूरों को मिलेगा अब इतना वेतन
गौरतलब है कि भारत सरकार के वित्त मंत्रालय ने अर्थव्यवस्था पर कोविड-19 के प्रभाव के कारण नियमित सरकारी कर्मचारियों के लिए जनवरी से जून 2020 तक महंगाई भत्ते के अंक जोड़ने पर रोक लगा रखी है, लेकिन सिसोदिया ने कहा असंगठित क्षेत्र के ऐसे श्रमिकों के महंगाई भत्ते पर रोक नहीं लगाई जा सकती. इन लोगों को केवल न्यूनतम मजदूरी मिलती है. खासकर कोरोना संकट के दौरान ऐसा करना मजदूरों के हित में नहीं है. इसीलिए दिल्ली सरकार ने महंगाई भत्ते जोड़कर नया न्यूनतम वेतन की घोषणा की है. यह दरें 01.10.2020 से लागू होगी.

Dearness Allowance, unskilled, semi skilled, skilled, other category workers, Delhi Labour Minister Manish Sisodia, revised minimum wages, workers, Delhi Govt, Corona crisis, Delhi Government, pro labour welfare initiatives, दिल्ली सरकार का बड़ा ऐलान, अकुशल, अर्द्धकुशल, कुशल, अन्य श्रमिकों का महंगाई भत्ता को बढ़ाया. मनीष सिसोदिया, अरविंद केजरीवाल, दिल्ली सरकार, मजदूर-परस्त नीति, मजदूर वर्ग, कोरोना महामारी, लिपिक, सुपरवाइजर, कर्मचारियों की भी मिलेगा, भारत सरकार, वित्त मंत्रालय, कोविड-19
दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने शुक्रवार मजदूरों के डीए को लेकर बड़ा ऐलान किया.


दिल्ली सरकार ने दिए ये निर्देश
सिसोदिया ने बढ़ी हुई दर से सभी श्रमिकों और कर्मचारियों को भुगतान सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है. दिल्ली में अकुशल मजदूरों के लिए मासिक 15,492 रुपये (दैनिक 596 रु.), अर्द्धकुशल श्रमिकों के लिए मासिक 17,069 रुपये (दैनिक 657 रु.) तथा कुशल श्रमिकों के लिए मासिक 18,797 रुपये (दैनिक 723 रु.) तय की गई है. इसके अलावा लिपिक और सुपरवाइजर किस्म के कर्मचारियों की भी न्यूनतम मजदूरी की दरें बढ़ाई गई हैं. इनमें गैरमैट्रिक को मासिक 17,069 रुपये (दैनिक 657 रु.), मैट्रिक से गैर-स्नातक तक को मासिक 18,797 रुपये (दैनिक 723 रु.) तथा स्नातक और उससे अधिक शैक्षणिक योग्यता वाले को मासिक 20,430 रूपये (दैनिक 786 रु.) मिलेंगे.



ये भी पढ़ें: दिल्ली में Corona के मामलों में आने लगी गिरावट, 65% से ज्यादा बेड हैं खाली

सिसोदिया ने कहा कि औसत अखिल भारतीय उपभोक्ता मूल्य सूचकांक संख्या के समायोजन के बाद श्रम विभाग द्वारा महंगाई भत्ता का निर्धारण किया जाता है. इसे हर दो बार अप्रैल और अक्टूबर में संशोधित किया जाता है. सिसोदिया ने कहा कि कोरोना से उत्पन्न आर्थिक मंदी के कारण इस साल अप्रैल में महंगाई भत्ते को संशोधित नहीं किया जा सका, लेकिन उसके बाद महंगाई बढ़ने के कारण दिल्ली सरकार ने गरीबों, मजदूरों और कर्मचारिओं के हित में यह कदम उठाया है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.